वन बेल्ट वन रोड फोरम: सभी देश एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करें : चीन

Patrika news network Posted: 2017-05-15 09:25:14 IST Updated: 2017-05-15 09:25:14 IST
वन बेल्ट वन रोड फोरम: सभी देश एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करें : चीन
  • वन बेल्ट वन रोड फोरम समिट का श्रीगणेश करते हुए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने रविवार को कहा कि सभी देशों को एक-दूसरे की संप्रभुता और भू-भागीय एकता का सम्मान करना चाहिए।

बीजिंग।

वन बेल्ट वन रोड फोरम समिट का श्रीगणेश करते हुए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग  ने रविवार को कहा कि सभी देशों को एक-दूसरे की संप्रभुता और भू-भागीय एकता का सम्मान करना चाहिए। भारत ने पाक अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरने वाले विवादित आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) को लेकर इस फोरम का बहिष्कार किया है। बीजिंग में हो रहे इस सम्मेलन में 29 देशों के नेता शामिल हुए। दो दिवसीय इस सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में कुछ भारतीय विद्वानों ने हिस्सा लिया है। 


भारत ने करीब 50 अरब डालर से अधिक की लागत वाले सीपीईसी को लेकर अपनी संप्रभुता संबंधी चिंताओं के चलते सम्मेलन में हिस्सा नहीं लिया है। यह सीपीईसी पाक अधिकृत कश्मीर से होकर गुजरेगा। 


जिनपिंग ने कहा कि 'बेल्ट एंड रोड' पहल सदी की परियोजना है जिससे पूरी दुनिया के लोगों को लाभ होगा। जिनपिंग ने कहा कि हम ऐसा मार्ग बनाना चाहते हैं जो  एशिया, यूरोप तथा अफ्रीका के ज्यादातर हिस्सों से उनके देश को जोड़े।  इस फोरम में 29 देशों और सरकारों के प्रमुखों तथा 100 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।


दिग्गज हुए शामिल

फोरम में पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे, रूसी राष्ट्रपति  पुतिन और तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगन सहित अन्य शामिल हुए।


 अमरीका ने राष्ट्रपति के विशेष सहायक एवं राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में एशिया के लिए वरिष्ठ निदेशक मैट पॉटिंगर की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल भेजा है। इनके अलावा संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेज, विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम तथा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के निदेशक सहित विभिन्न प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी फोरम में हिस्सा लिया।


ओबीओआर

वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) चीनी की परियोजना है। इस परियोजना से सड़कों, रेल मार्गाों और जलमार्गों  द्वारा एशिया, यूरोप और अफ्रीका को जोडऩे की परिकल्पना की गई है। 


सीपीईसी 

 सीपीईसी चीन की बेल्ट एंड रोड परियोजना का प्रमुख हिस्सा है, जो पाकिस्तान के बलूचिस्तान में स्थित ग्वादर बंदरगाह को शिंजियांग के काशगर से जोड़ता है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood