Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

डॉगी से भी तेज नाक! ये महिला सूंघकर ही बता सकती हैं किसी व्यक्ति को कैंसर है या नहीं

Patrika news network Posted: 2017-03-18 12:06:01 IST Updated: 2017-03-18 12:07:30 IST
डॉगी से भी तेज नाक! ये महिला सूंघकर ही बता सकती हैं किसी व्यक्ति को कैंसर है या नहीं
  • इस महिला की नाक कुत्तों से भी तेज हैं। किसी के भी शरीर में होने वाले रासायनिक परिवर्तन का पता करके बता सकती हैं कि उसे कैंसर है या नहीं...

लंदन।

अभी तक तो आपने कुत्तों की सुंघने की क्षमता को ही जाना था, लेकिन जो मैलोन नाम की इस महिला की नाक कुत्तों से भी तेज हैं। सेंट का विशाल कारोबार करने वाली मैलोन करोड़पति बिजनेसवुमन हैं। सेंट के इस काम के लिए महक की अच्छी जानकारी होना बेहद जरूरी है। ऐसे में मैलोन के पास एक गजब की खासियत है, जिसके चलते वे इस बिजनेस पर अपना दबदबा बनाए हुए हैं।


मैलोन के पास सूंघने की जबरदस्त शक्ति है और वह सूंघकर ही बता सकती हैं कि किसी व्यक्ति को कैंसर है या नहीं। वह खुद भी साल 2003 से ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं। इसके बावजूद वह किसी के भी शरीर में होने वाले रासायनिक परिवर्तन का पता करके बता सकती हैं कि उसे कैंसर है या नहीं।


मैलोन के इस अविश्वसनीय शक्ति का पता करने के लिए मिल्टन केन्स में मेडिकल डिटेक्शन डॉग सेंटर में परीक्षण के बाद उन्हें अपनी इस काबिलियत के बारे में पता चला। वह तेल में मिले अमील एसीटेट की पहचान भी कर सकती, जबकि वह दस लाख में एक हिस्से के बराबर मात्रा में मिला हुआ था। अधिकांश इंसान इसे तब भी नहीं पहचान पाते हैं, जबकि यह तेल में 1,000 भाग में मौजूद हो। 


मैलोन की सफलता इस तथ्य के लिए काफी मायने रखती है कि वह सिनास्टेसिया से ग्रस्त हैं। यह एक न्यूरोलॉजिकल स्थिति है, जिसमें इंद्रियां ओवरलैप होती हैं। यानी वह ध्वनि और रंग की व्याख्या गंध की तरह करती हैं।

rajasthanpatrika.com

Bollywood