इनसे सीखें जिंदादिली, हर गम भुलाकर मनाया 117वां जन्मदिन, सोशल मीडिया कर रहा इन दादी अम्मा को सलाम

Patrika news network Posted: 2016-11-30 12:11:33 IST Updated: 2016-11-30 12:21:47 IST
इनसे सीखें जिंदादिली, हर गम भुलाकर मनाया 117वां जन्मदिन, सोशल मीडिया कर रहा इन दादी अम्मा को सलाम
  • एमा मारोनो वह बहादुर महिला हैं जिन्होंने जिंदगी के तमाम दुखों को हराकर यह साबित कर दिया कि जिंदादिली उम्र की मोहताज नहीं होती। उन्होंने अपना 117वां जन्मदिन मनाया है जो सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है।

रोम

सोशल मीडिया पर दुनिया की सबसे उम्रदराज शख्स एमा मोरानो का 117वां जन्मदिन ट्रेंड कर रहा है। मोरोनो 18वीं शताब्दी में पैदा होने वाली दुनिया की आखिरी इंसान हैं। उनका जन्म साल 1899 में हुआ था। 



अच्छी लाइफ स्टाइल आैर बढ़िया खाना खाने काे हम अच्छे स्वास्थ्य आैर लंबी उम्र होने का कारण समझते हैं लेकिन अाप यह जानकर चौंक जाएंगे कि हाल ही में अपना 117वां जन्मदिन मनाने वाली दुनिया की सबसे उम्रदराज शख्स एमा मोरानो की जिंदगी में एेसा कुछ मौजूद नहीं रहा। 



मोरानो के मुताबिक उनका जीवन ज्यादा अच्छा नहीं रहा। उनका मंगेतर शादी से पहले ही विश्वयुद्ध में मारा गया। इसके बाद 26 वर्ष की उम्र में उनका एक अन्य व्यक्ति ने उनसे जबरदस्ती धमकाकर विवाह कर लिया लेकिन यह विवाह ज्यादा नहीं चल सका आैर कुछ समय बाद उन्होंने खुद अपने पति को तलाक दे दिया। 




मोरानो के मुताबिक इटली में वे तलाक देने वाली पहली महिला थीं। उनको 65 साल की उम्र तक एक फैक्टरी में मजदूरी करनी पड़ी। इटली में रहने वाली मोरानो दो कच्चे अंडों की दैनिक खुराक को अपनी लंबी उम्र का राज मानती हैं। हालांकि इसका कारण जेनेटिक भी हो सकता है क्योंकि उनके परिवार के अन्य सदस्यों की भी उम्र लंबी थी। 



मोरानो ने अपने जीवन में कभी भी बैलेंस्ड डाइट को फाॅलो नहीं किया आैर हमेशा गैर परंपरागत भोजन ही लिया लेकिन इसके बावजूद वे इतनी लंबी उम्र तक जीने में सफल रहीं। मोरानो अब अकेली रहती हैं आैर उनके सभी आठ भार्इ-बहन अब इस दुनिया में नहीं हैं।


rajasthanpatrika.com

Bollywood