गोरखपुरः राज्यपाल की माफी पर ''जेल से र‍िहा हुआ 107 साल का कैदी''

Patrika news network Posted: 2017-04-14 18:21:21 IST Updated: 2017-04-14 18:21:21 IST
गोरखपुरः राज्यपाल की माफी पर ''जेल से र‍िहा हुआ 107 साल का कैदी''
  • चौथी यादव के भतीजे गौतम यादव ने राष्‍ट्रपति, राज्‍यपाल और कारागार मंत्री को पत्र लिखा था। इनकी रिहाई के लिए प्रदेश के राज्यपाल ने 12 जनवरी 2017 को आदेश दे दिया था।

गोरखपुर।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में गुरुवार को हत्या के आरोप में सजा काट रहे यूपी के सबसे उम्रदराज कैदी को रिहा कर दिया गया। 14 साल जेल काटने के बाद महामहिम राज्यपाल राम नाईक के दया याचिका पर इस कैदी की रिहाई की गई। 



चौथी यादव 2 माह बाद 108 साल के हो जाएंगे...

गोरखपुर के बेलीपार थानाक्षेत्र के मलाव गांव निवासी 107 साल के चौथी यादव  1979 के हत्या के एक मामले में सेशन कोर्ट ने उन्हें 2003 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। उस वक्‍त उनकी उम्र 90 साल थी। चौथी यादव ने बताया कि वो 107 साल के हैं और दो माह बाद 108 साल के हो जाएंगे। 


इनकी रिहाई के लिए भतीजे गौतम ने इन्हे पत्र लिखा था...

चौथी यादव के भतीजे गौतम यादव ने राष्‍ट्रपति, राज्‍यपाल और कारागार मंत्री को पत्र लिखा था। इनकी रिहाई के लिए प्रदेश के राज्यपाल ने 12 जनवरी 2017 को आदेश दे दिया था। लेकिन आचार सहिंता लगने की वजह से इनकी रिहाई रोक दी गई और अब इन्हें रिहा किया गया। 


चौथी यादव को जेल इस वजह से हुई थी...

1979 में गोरखपुर के उरुवां थानाक्षेत्र के पचऊंहां गांव के रहने वाले श्‍याम नारायण तिवारी की जमीनी विवाद में हत्‍या कर दी गई थी। उसी घटना में चौथी यादव को भी नामजद किया गया था। 2003 में सेशन कोर्ट ने इसका फैसला सुनाते हुए उनको आजीवन कारावास की सजा सुना दी। राज्यपाल ने उनके स्वास्थ्य और उम्र को देखते हुए उनकी रिहाई का फैसला लिया है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood