Breaking News
  • जयपुर: राजस्थान सरकार मंत्रिमंडल का तीसरी बार हुआ विस्तार और फेरबदल, दो राज्य मंत्रियों को प्रमोट कर बनाया केबिनेट मंत्री, दो वरिष्ठ विधायकों को केबिनेट और चार विधायकों को राज्यमंत्री की शपथ दिलाई गई।
  • जयपुर: बहरोड़ (अलवर) विधायक डॉ. जसवंत यादव और निंबाहेडा (चित्तौडग़ढ़) विधायक श्रीचंद कृपलानी को बनाया गया कैबिनेट मंत्री।
  • जयपुर: बंसीधर बाजिया, कमसा मेघवाल, धनसिंह रावत, सुशील कटारा बने राज्य मंत्री।
  • जयपुर: शत्रुघ्न गौतम, नरेन्द्र नागर, ओमप्रकाश हुड़ला, भीमा भाई और कैलाश वर्मा बनाये गए नए संसदीय सचिव।
  • जयपुर: राज्यपाल कल्याण सिंह ने मुख्यमंत्री की सिफारिश पर विधि राज्य मंत्री अर्जुन लाल गर्ग और प्रशासनिक एवं मोटर गैराज राज्य मंत्री जीत मल खांट का इस्तीफा किया मंजूर।
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

RBI ने उदयपुर भेजे 500 करोड़ रुपए, लेकिन डिमांड ढाई हजार करोड़ की

Patrika news network Posted: 2016-11-29 18:56:56 IST Updated: 2016-11-29 18:56:56 IST
  • आरबीआई ने उदयपुर को नोटबंदी के बाद दो चरणों में करीब 500 करोड़ रुपए भेजे लेकिन उदयपुर की डिमाण्ड ढाई हजार करोड़ रुपए की है। ऐसे में हालात बिगड़े हुए हैं।

उदयपुर.

नोटबंदी के बाद नोटों का टोटा ऐसा हुआ है कि आम आदमी को अपनी ही जमा पूंजी बैंक से नहीं मिल पा रही है। आरबीआई ने उदयपुर को नोटबंदी के बाद दो चरणों में करीब 500 करोड़ रुपए भेजे लेकिन उदयपुर की डिमाण्ड ढाई हजार करोड़ रुपए की है। ऐसे में हालात बिगड़े हुए हैं। अब तक 1200 करोड़ के पुराने नोट जमा हो चुके हैं जो नया पैसा आया वह भी लोगों ने बैंकों से निकालकर घरों मे रख लिया। ऐसे में मार्केट में पैसा चलन में नहीं आया और स्थिति खराब होती जा रही है। 

लीड बैंक  अधिकारी मुकुंद भट्ट ने भी माना कि जहां ढाई हजार करोड़ की डिमाण्ड है वहां केवल 500 करोड़ की राशि पहुंचना करेंसी की शॉर्टेज है। हालात अब यह हो गए हैं कि जहां पर पीएनबी बैंक को 450 करोड़ चाहिए वहां उसे 37 करोड़ दिए हैं। ऐसे में यह बैंक अपने ग्राहकों को पैसा कहां से दे। चेस्ट ब्रांचों में जो 1200 करोड़ के पुराने नोट आए उन्हें रखने की जगह तक नहीं है। इन नोटों की सुरक्षा भी बड़ा काम हो गया है। इसके अलावा जिले के 361 एटीएम में भी नोट डालने हैं। एटीएम में पैसा डालते ही खाली हो रहे हंै ऐसा इसलिए माना जा रहा है कि लोगों में यह चिंता घर कर गई है कि एक बार पैसे निकल जाए तो सुरक्षित घर में रख लो पता नहीं फि र कब निकले। ऐसे में नोट मार्केट में सर्कुलेट नहीं हो रहे हैं। 

READ MORE: नोटबंदी: दो दिन के अवकाश के बाद खुले बैंकों में उमड़ी भीड़, एटीएम पर भी लगी रहीं कतारें, लोगों को नहीं मिल रही राहत


उदयपुर शहर में 150 एटीएम हैं जिनका दम नोटों की कमी से फूल गया है। ऐसे में हालात सुधरने में समय लगेगा। आरबीआई से लीड बैंक ने एक बार एक हजार करोड़ की राशि जल्द भेजने की डिमाण्ड की गई है। उदयपुर में नोटों की मारामारी शहर में कम गांवों में ज्यादा नजर आ रही है। 

Latest Videos from Rajasthan Patrika

rajasthanpatrika.com

Bollywood