VIDEO: हो गई, होलिका दहन की तैयारी, बाजारों में रही भीड़

Patrika news network Posted: 2017-03-11 19:42:06 IST Updated: 2017-03-11 19:42:06 IST
  • होली के पर्व पर होलिका दहन में काम आने वाली लकड़ी सेमल बाजार में शनिवार को बड़ी मात्रा में बिकने को आई है।

उदयपुर.

होली के पर्व पर होलिका दहन में काम आने वाली लकड़ी सेमल बाजार में शनिवार को बड़ी मात्रा में बिकने को आई है। खास बात यह है कि बदलते समय के साथ अब होली रोपण भी एक माह पहले बहुत कम जगह पर होता है। इतना ही नहीं अब अधिकांश जगहों पर होली का रोपण एक या दो दिन पहले होता है और सेमल लकड़ी घने जगलों में ही मिलती है जिसके चलते यह सभी की पहुंच में नहीं है। ऐसे में अब उदयपुर के आसपास के जगलों के समीप रहने वाले लोग वहां से सेमल की लकड़ी को काटकर लाते हैं और बाजार में अलग-अलग भाव में बेच देते हैं। 

READ MORE: Video: HOLI 2017 : स्किन बचाने के लिए खरीद रहे हर्बल गुलाल, अन्य रंगों से अधिक हो रही बिक्री


इससे लोगों को आमदनी भी हो जाती है और शहर के लोगों को आसानी से सेमल की लकड़ी मिल जाती है। इस लकड़ी का भी अधिक महत्व होने से सभी लोग इसी का उपयोग करते हैं और इस लकड़ी को होली के रूप में लगाकर उसका दहन करते हैं।  सेमल को खरीदने आए खरीददारों को भी मानना है कि सदियों से इसका उपयोग किया जा रहा है और मान्यता भी इसी लकड़ी की है। सेमल की लकड़ी बेचने आए व्यापारियों का कहना है कि 500 रुपए से लेकर करीब  5000 रुपए तक होली की लकड़ी बेची जा रही है। इसके साथ ही सूखा चारा और ढूंढ की लकड़ी की भी ब्रिकी हो रही है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood