Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सपना हुआ पूरा तो बिन पंख उड़े अरमान, दिल्ली यात्रा कर लौटे बच्चे

Patrika news network Posted: 2016-11-30 15:55:08 IST Updated: 2016-11-30 18:53:42 IST
  • दिल्ली घूमने के बाद बच्चे बुधवार को उदयपुर लौट आए।

उदयपुर.

अब तक आसमान में उड़ते हवाई जहाज को देखकर उसमें सवार होने के सपने संजोने वाले 31 मेधावी बच्चों के अरमान आखिर पूरे हो गए। उन्होंने बिना पंखों के भी आसमां में उड़ान भरी। दिल्ली  घूमने के बाद बच्चे बुधवार को उदयपुर लौट आए। जरूरतमंद परिवार के प्रतिभाशाली बच्चों के सपनों को साकार करने की यह अनूठी पहल की राजस्थान पत्रिका और राउंड टेबल इंडिया के उदयपुर चैप्टर ने। 'फ्लाइट ऑफ फैन्टेंसी' कार्यक्रम के तहत दिल्ली से सुबह फ्लाइट में बैठकर बच्चे डबोक एयरपोर्ट पहुंचे।  दिल्ली में कोहरा होने के कारण फ्लाइट अपने नियत समय से देरी से उदयपुर पहुंची।

जाना मेवाड़ का इतिहास भी 

दिल्ली में सैर-सपाटा करने के बाद उदयपुर लौटे बच्चों को सिटी पैलेस ले जाया गया। यहां  दरबार हॉल में बच्चों का स्वागत किया गया। यहां आयोजित कार्यक्रम में न केवल उनके अनुभवों को साझा किया गया, बल्कि महाराणा मेवाड़ चेरिटेबल फाउंडेशन की ओर से सबको मेवाड़ के गौरवशाली इतिहास से भी रूबरू कराया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एचआरएच होटल समूह के कार्यकारी निदेशक लक्ष्यराजसिंह मेवाड़ थे।



READ MORE: Flight Of Fantasy: बच्चों के सपनों को मिले पंख, उत्साह सातवें आसमान पर, हर पल बना यादगार



सुरेश ने पहली बार देखा उदयपुर

राजस्थान वनवासी कल्याण परिषद की पिण्डवाड़ा शाखा से आए सुरेश ने बताया कि  पहली बार ही उसने उदयपुर देखा। उसके लिए हवाई जहाज किसी सपने से कम नहीं था। एक बार मुख्यमंत्री को पिण्डवाड़ा में हैलीकॉप्टर  से आते देखा था, तब उसकी भी इसमें उडऩे की इच्छा हुई थी। एेसे ही अनुभव कई बच्चों के रहे जिन्होंने पहली बार देश के बड़े शहरों को देखा।

बच्चों ने दिल्ली के ऐसे बांटे अनुभव

- इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर बहुत सारे हवाई जहाज खड़े देखकर बच्चे रोमांचित हो गए।

- दिल्ली के जाम में फंसे तो कहा कि इतनी गाडि़यां पहली बार देखीं।

- कनाट पैलेस पर बच्चों ने करीब डेढ़ किमी की वॉक की, जो उनके लिए यादगार रही।

- कनाट पैलेस पर लहराते विशालकाय ध्वज को देखकर वे खुश हुए और तिरंगे को सैल्यूट किया। 

- दिल्ली के उद्योगपति राज कपूर ने यादगार उपहार भी दिए।

rajasthanpatrika.com

Bollywood