Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

छात्रों और अभिभावकों को मिला मार्गदर्शन, जानें करियर में सफल होने के बेशकिमती टिप्स

Patrika news network Posted: 2017-06-18 17:29:53 IST Updated: 2017-06-18 17:29:53 IST
छात्रों और अभिभावकों को मिला मार्गदर्शन, जानें करियर में सफल होने के बेशकिमती टिप्स
  • एमके जैन क्लासेज प्रा. लि. की ओर से रविवार सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक आरएनटी मेडिकल कॉलेज सभागार में अभिभावकों व विद्यार्थियों के लिए नि:शुल्क कॅरियर प्लानिंग सेमिनार आयोजित हुई।

उदयपुर.

 एमके जैन क्लासेज प्रा. लि. की ओर से रविवार सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक आरएनटी मेडिकल कॉलेज सभागार में अभिभावकों व विद्यार्थियों के लिए नि:शुल्क कॅरियर प्लानिंग सेमिनार आयोजित हुई। इसमें कॅरियर काउंसलर डॉ. एम के जैन ने 8वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों सहित अध्यापकों, अभिभावकों को आईआईटी, मेडिकल तथा कॉमर्स की प्रतियोगी परीक्षा की तैयार के सूत्र बताए। 




READ MORE: चीरवा-अम्बेरी मार्ग से गुजरते वक्त अब नहीं होगी परेशानी, अंधेरे से निजात दिलाएगी 98 लाख रुपए लागत से लगी एलईडी लाइटें




गौरतलब है कि डॉ. जैन अब तक 500 से अधिक सेमिनार में एेसे विद्यार्थियों का मार्गदर्शन कर चुके हैं जो अपना भविष्य आई.आई.टी., मेडिकल अथवा कॉमर्स में देखना चाहते थे। सेमिनार में उन्होंने बताया कि मेडिकल, इंजीनियरिंग व सीए की तैयारी के लिए धैर्य और आत्मविश्वास कारगर रहते हैं। योग्य नाविकों का साथ देते हैं तूफान भी, उन्होंने प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए समय प्रबंधन, योजनाबद्ध तैयारी जैसे बिन्दुओं पर चर्चा करते अच्छे अंकों के लिए कुछ सुझाव भी दिए 1. रुचि के साथ पढें, लीडर की तरह सोचें। 2. बहाने और असफलता के भय को छोड़ दें। । 3. लिखने का सतत अभ्यास करें। 4. लक्ष्य प्राप्तकरने के लिये विस्तृत योजना बनाएं। 5. समय सबके लिए बराबर है, उसका समुचित उपयोग करें तथा 6. अपने आप पर विश्वास बनाए रखें। 




READ MORE: जन संघर्ष का ब्योरा सुन मेहरबान हुए विदेश राज्यमंत्री, उदयपुर संभाग के तीन और जिलों को मिला पीओपीएसके का तौहफा




इसके अलावा डॉ जैन ने तनावमुक्त रहकर बेहतर परिणाम पाने के लिए लक्ष्य आधारित शिक्षण प्रणाली (एसआईपी) पद्धति के बारे में भी बताया। सेमिनार में कई पॉपुलर वीडियो की सहायता से भी विद्यार्थियों को एेसे टिप्स दिए गए जिन पर अमल करके वे भविष्य की नींव मजबूत कर सकते हैं। जिनमें विषय के चयन, आठवीं से बारहवीं कक्षा के साथ समानान्तर लक्ष्य का चयन, नियमित पढ़ाई के अलावा कलेक्टिव कोचिंग पर जोर दिया गया। 


इसी तरह, जैन ने अभिभावकों तथा अध्यापकों को भी बच्चों को गाइड करने के कई रोचक तथा व्यावहारिक सुझाव देते कहा कि 11वीं तथा 12वीं कक्षा की परीक्षा तैयारी के साथ ही लक्ष्य निर्धारण किया जाना आवश्यक है। सेमिनार में भाग लेने वाले विद्यार्थियों और अभिभावकों की जिज्ञासा का समाधान किया गया व सेमिनार के अन्त में विद्यार्थियों को नि:शुल्क 'कॅरियर काउन्सलिंग कार्ड' दिए गए।

rajasthanpatrika.com

Bollywood