Breaking News
  • श्रीगंगानगर : बीरमाना में चली धूल भरी आंधी, जनजीवन प्रभावित
  • भरतपुर- सीकरी के छज्जुखेड़ा गांव में दो पक्षों में जमकर पथराव
  • उदयपुर- दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राजस्थान के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष शांति लाल चपलोत से की मुलाकात
  • श्रीगंगानगर : बिजली पानी की समस्याओं को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता मंगलवार को करेंगे राजियासर उपतहसील कार्यालय का घेराव
  • जोधपुर- उपखंड स्तरीय जाट समाज की बैठक नई कार्याकरिणी का गठन, पूर्व सरपंच देवीलाल को चुना गया अध्यक्ष
  • जैसलमेर: बांधेवा इलाके में बसों में तोड़-फोड़ की सूचना, मौके पर पुलिस
  • जयपुर: चन्दवाजी बस स्टैंड के पास मिनी बस—ट्रैक्टर में भिड़ंत,एक की मौत व 6 घायल
  • अजमेर- मिसिंग लिंक योजना के अंतर्गत पौने दो करोड़ की लागत से होगा सड़कों के नवीनीकरण का कार्य
  • चूरू: सरदारशहर में भारतीय किसान संघ की बैठक में कई मुद्दों पर हुई चर्चा
  • चूरू- फोगां गांव में पाइप लाइन से निकाली गई 23 फीट की जड़, पानी की समस्या हुई खत्म
  • हनुमानगढ़- शेरगढ़ चौकी के पास बस यात्रियों से 30 किलोग्राम पोस्त जब्त, एक महिला सहित 3 गिरफ्तार
  • राजस्थान में 110 करोड़ की लागत से बनेगा इंस्टीट्यूट आॅफ न्यूरो हेल्थ साइंसेज, राज्य सरकार ने तैयार किया प्रस्ताव
  • गंगापुर सिटी: जीवद गांव में ट्रैक्टर की टक्कर से बाइक सवार की मौत
  • उदयपुर: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा- राजस्थान में 200 सीटों पर चुनाव लड़ेगी आप
  • सिरोही - वृंदावन कॉलोनी से कार चोरी, मालकिन ने चालक के खिलाफ दर्ज करवाया मामला
  • जोधपुर- कई इलाकों में आधी रात को उत्पात मचाने वाले 4 युवक गिरफ्तार
  • भीलवाड़़ा: दो बाइक भिड़़ी, मासूम की मौत, पांच घ्‍ाायल
  • करौली: हत्या के मामले में दो सगे भाइयों को किया गिरफ्तार
  • बांसवाड़ा:डंपर की टक्कर से बाइक सवार की मौत, दो घायल
  • जैसलमेर- पोकरण में 2 बाइक की भिड़ंत, एक की मौत, 3 घायल
  • जयपुर- नांगललाडी गांव के पास कार और बाइक की भिड़ंत, 3 घायल
  • बूंदी- केशवरायपाटन में कोटा-मुंबई रेल लाइन पर ट्रेन की चपेट में आने से बुजुर्ग की मौत
  • सीकर- हाई वोल्टेज बिजली से जले लाखों रुपए के उपकरण
  • बांसवाड़ा: स्कूटी सवार बुजुर्ग से लूट का प्रयास
  • जोधपुर- लोहावट में मुख्य पाइपलाइन के मरम्मत को चलते कल बंद रहेगी जलापूर्ति व्यवस्था
  • राजस्थान में 108 सेवा बहाल, काम पर लौटे कर्मचारी
  • श्रीगंगानगर- रायसिंहनगर में सड़क हादसा अधेड़ की मौत
  • सीकर : एसके अस्पताल में डॉक्टरों ने लिया शालीन व्यवहार के साथ मरीजों को बेहतर उपचार देने का संकल्प
  • धौलपुर : राजाखेड़ा में कॉस्मेटिक और परचून की दुकान में आग, सामान जलकर खाक
  • करौली : सड़क हादसे में करौली निवासी चालक की मौत, तीन जने घायल
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

विद्वान हमेशा अक्ल की बात करें, जरूरी नहीं: हरदीप सिंह पुरी

Patrika news network Posted: 2016-12-01 15:52:43 IST Updated: 2016-12-01 15:52:43 IST
विद्वान हमेशा अक्ल की बात करें, जरूरी नहीं: हरदीप सिंह पुरी
  • प्रभा खेतान फाउंडेशन और द लिटरेरी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कलाम शृंखला के तहत बुधवार को देश के पूर्व राजदूत हरदीपसिंह पुरी श्रोताओं से रूबरू हुए।

उदयपुर.

 देश के पढ़े-लिखे विद्वान हमेशा अक्ल की बात करें, ये जरूरी नहीं। वह इसलिए कि नोटबंदी के मुद्दे पर बीते दिनों भारत रत्न अमत्र्य सेन और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जिस तरह के बचकाने बयान दिए, उसे जान-सुनकर तो यही लगता है।

दोनों अर्थशास्त्रियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस फैसले को देश की अर्थव्यवस्था से खिलवाड़ और संगठित लूट बताया। जबकि, इन विद्वानों को सोचना चाहिए कि देशहित में जो निर्णय किया गया है, उसका समर्थन करें।     प्रभा खेतान फाउंडेशन और द लिटरेरी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कलाम शृंखला के तहत बुधवार को देश के पूर्व राजदूत हरदीपसिंह पुरी श्रोताओं से रूबरू हुए। फतहसागर किनारे स्थित निजी होटल में हुए संवाद कार्यक्रम में पुरी ने श्रोताओं के सवालों के बेबाकी से जवाब दिए। चर्चा के दौरान उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ के बतौर स्थायी प्रतिनिधि रहने और कई देशों में काम करने के अनुभवों को साझा किया। कलाम शृंखला का मुख्य उद्देश्य सम्मानित व प्रतिष्ठित लेखकों के साथ समान विचारधाराओं वाले व्यक्तियों से बातचीत कर उदयपुर में साहित्य और कला संस्कृति को बढ़ावा देना है। संवाद कार्यक्रम की पहली कड़ी में अभिनेता आशीष विद्यार्थी शहर के संजीदा लोगों से चर्चा करने आए थे।

READ MORE: उदयपुर में रॉयल वेडिंग, सिटी-पैलेस और जगमंदिर में रौनक, आए देश-विदेश से मेहमान


पाकिस्तान को करारा जवाब देना सही 

पूर्व राजदूत पुरी ने कहा कि सीमा पर जो तल्ख हालात अभी हैं और भारत के जवान पाकिस्तान को जिस कड़े तेवरों के साथ जवाब दे रहे हैं, वह बिल्कुल सही निर्णय है। क्योंकि संबंध में आपसी तालमेल जरूरी होता है, फिर चाहे वह दो लोगों के बीच हो या दो देशों के। यदि एक पक्ष घाव देने लगे और दूसरा उसका जवाब नहीं दे तो कहां तक उचित है। पाकिस्तान ने बीते वर्षों में आतंक की जिस फसल को बोया, उसे तो काटना ही होगा। अभी तो उसकी अक्ल को ठिकाने लगाने के लिए कई सर्जिकल स्ट्राइक और करने होंगे। 

कालेधन और भ्रष्टाचार पर लगेगा अंकुश

नोटबंदी के निर्णय का समर्थन कर उन्होंने कहा कि कालेधन और भ्रष्टाचार जैसी बड़ी समस्याओं के लिए एेसे साहसिक कदम उठाने की जरूरत है। देश ने इसको समझा है, तभी तो इतने कष्ट झेलने के बाद भी देश के नागरिक खुश हैं। उनको पता है कि इस फैसले के भावी परिणाम सुखद होंगे। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood