video: झीलों में गिर रहे सीवरेज की करें शिकायत और पाएं ईनाम...उदयपुर जिला प्रशासन की पहल

Patrika news network Posted: 2017-04-18 17:01:55 IST Updated: 2017-04-18 18:33:38 IST
  • शहर की झीलों में सीवरेज को प्रभावी ढंग से रोकने के लिए आम जनता की मदद ली जाएगी। इसके लिए एक्शन उदयपुर के तहत आम नागरिक इसकी शिकायत कर सकेंगे।

उदयपुर.

झीलों को प्रदूषणमुक्त रखने की दिशा में झील विकास प्राधिकरण होटल्स, रेस्टोरेन्ट्स एवं व्यावसायिक गतिविधियां चला रहे प्रतिष्ठानों पर कड़ी निगरानी रखते हुए प्रभावी कार्रवाई करेगा। जिला कलक्टर रोहित गुप्ता की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित झील विकास प्राधिकरण की बैठक में झीलों को स्वच्छ एवं प्रदूषणमुक्त रखने को लेकर संबंधित विभागों की भागीदारी पर गहन चर्चा हुई।  



READ MORE:  घर मालिक को अचानक क्या सूझी कि अपने ही घर में लगा दी आग..पड़ोसियों ने बुलाई फायरब्रिगेड


कलक्टर ने कहा कि किसी भी तरह से कचरा, गंदे पानी अथवा प्रदूषण पैदा करने वाले अपशिष्ट को रोकने के लिए हर स्तर पर प्रभावी कार्रवाई हो। होटल्स, रेस्तरां एवं झीलों के बारे में संचालित व्यावसायिक गतिविधियों पर कड़ी नजर रखते हुए दोषी के विरूद्ध सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे झील किनारे होटल्स के ठोस कचरे का सुव्यवस्थित निस्तारण करें। इसकी सतत् मॉनिटरिंग भी सुनिश्चित हो। कलक्टर ने कहा कि झीलों में संचालित बोट्स से प्रदूषण न फैले। इसके लिए इन्हें सोलर, एलपीजी या सीएनजी आधारित किया जाएगा। 



READ MORE:  Video: बस में बच्चों के साथ करता था अश्लील हरकतें, पकड़ा गया चालक, उदयपुर में बच्चों के यौन शोषण का मामला आया सामने


इसके अलावा शहर की झीलों में सीवरेज को प्रभावी ढंग से रोकने के लिए आम जनता की मदद ली जाएगी। इसके लिए एक्शन उदयपुर के तहत आम नागरिक इसकी शिकायत कर सकेंगे। ऐसे जागरूक जन को 100 रुपए बतौर पारितोषिक दिए जाएंगे। बैठक में मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर, नगर निगम के आयुक्त सिद्धार्थ सिहागए, नगर विकास प्रन्यास की विशेषाधिकारी कीर्ति राठौड़, गिर्वा उपखण्ड अधिकारी कमर चौधरी,  उप वन संरक्षक ओपी शर्मा, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी एमएल रावत, पर्यटन उपनिदेशक सुमिता सरोच सहित कई अधिकारी मौजूद थे। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood