भाजपा के इस सांसद ने क्यूं पूछा सबसे कि, 'कभी पत्नी से कहा, आज रोटी मैं बना देता हूं', जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

Patrika news network Posted: 2017-04-17 09:27:38 IST Updated: 2017-04-17 09:28:17 IST
भाजपा के इस सांसद ने क्यूं पूछा सबसे कि, 'कभी पत्नी से कहा, आज रोटी मैं बना देता हूं', जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर
  • केंद्र सरकार की 'बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओÓ योजना का जिक्र करते हुए सांसद हरीश मीणा ने भाजपा जिला शहर के कार्यकर्ताओं से एक सवाल 'कभी अपनी पत्नी से कहा कि लाओ आज तुम आराम करो, रोटी मैं बना देता हूंÓ पूछकर उनके मन में महिलाओं के प्रति जवाबदेही टटोली।

उदयपुर .

केंद्र सरकार की 'बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओÓ योजना का जिक्र करते हुए सांसद हरीश मीणा ने भाजपा जिला शहर के कार्यकर्ताओं से एक सवाल 'कभी अपनी पत्नी से कहा कि लाओ आज तुम आराम करो, रोटी मैं बना देता हूंÓ पूछकर उनके मन में महिलाओं के प्रति जवाबदेही टटोली। वे बोले कि उनकी पत्नी  भी किसी के घर की बेटी है और आदमी को उसके सुख-दुख की चिंता होनी चाहिए। 

वे रविवार रात को अंबेडकर जयंती सप्ताह के तहत भाजपा कार्यालय में शहर भाजपा कार्यालय की बैठक को संबोधित कर रहे थे। सांसद मीणा ने उदाहरण के माध्यम से कार्यकर्ताओं को सरकारी योजनाओं का उद्देश्य समझाने का प्रयास किया। उन्होंने कार्यकर्ताओं को पार्टी की रीढ़ बताते हुए कहा कि हर कार्यकर्ता उनके नेता से प्रस्तावित कामों की प्रगति पूछ सकता है। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत को उन्होंने भाजपा की नीति 'सबका साथ, सबका विकासÓ का हिस्सा बताया। 


READ MORE: Video: जीएसटी पर हुई कार्यशाला, 500 व्यापारियों ने लिया भाग, बताएं जीएसटी के फायदे


अब वरिष्ठ नेता, फिर बच्चियां

सांसद अर्जुनलाल मीणा ने कहा कि पार्षदों के बाद अगले संसद सत्र में वह पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों को संसद की यात्रा कराएंगे, लेकिन टिकट फ्लाइट का नहीं होकर रेल का होगा। इसके बाद राजकीय विद्यालयों की 10वीं और 12वीं कक्षाओं में 80 फीसदी से अधिक अंक लाने वाली बालिकाओं को संसद की कार्यप्रणाली से रूबरू कराने के प्रयास करेंगे। 

रिपोर्ट लेने नहीं आया

कार्यक्रम की शुरुआत में सांसद सीपी जोशी ने सांसद मीणा के समक्ष उनका रिपोर्ट कार्ड पेश करने की दलील देते हुए कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र का कुछ हिस्सा उदयपुर जिले में आता है, लेकिन उन पर कोई ध्यान नहीं देता। जवाब में सांसद मीणा ने कहा कि वह किसी प्रकार का रिपोर्ट कार्ड लेने नहीं आए हैं। मेरा क्या साहस कि मैं उदयपुर की कार्ड रिपोर्ट आगे भेजूं। सांसद मीणा ने अधिकांश उदाहरण सांसद जोशी पर निशाना साधते हुए पेश किए। 


READ MORE: उदयपुर: ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, अब तक 3 करोड़ की ठगी, 5 गिरफ्तार, देखें वीडियो


पहले बोले, फिर पलटे

जीएसटी पर बोलते समय सांसद मीणा की जुबान एकबारगी फिसल गई। वह बोल पड़े कि होली-दिवाली पर सेल टैक्स और इनकम टैक्स के लोग व्यापारियों से कुछ मांगने चले जाते हैं। उनका ध्यान नहीं रखो तो भला-बुरा होने का डर बना रहता है। फिर अगले ही पल बोले कि मैंने अधिकारियों को मांगते हुए नहीं देखा। एेसा होता है केवल सुन रखा है।


ये भी रहे मौजूद 

कार्यक्रम में पार्टी जिलाध्यक्ष दिनेश भट्ट, विधायक फू लसिंह मीणा, महापौर चंद्रसिंह कोठारी, यूआईटी चेयरमैन रवींद्र श्रीमाली, महिला मोर्चा प्रदेश मंत्री अलका मूंदड़ा, पूर्व विधायक वंदना मीणा, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चुन्नीलाल मीणा सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। संचालन जिला महामंत्री प्रेमसिंह शक्तावत ने किया। 


आरक्षण के प्रति सोच बदलने की जरूरत

सांसद मीणा ने कार्यकर्ताओं के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उस सोच का भी खुलासा किया, जिसमें पारदर्शिता के साथ आरक्षण की रणनीति को महत्व दिया गया। उन्होंने कहा कि संविधान के तहत देश में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए आरक्षण तय है। ओबीसी का आरक्षण सरकारें उनके हिसाब से तय करती हैं। इसके लिए संविधान में अब तक कोई व्यवस्था नहीं है। उन्होंने आरक्षण के प्रति सोच बदलने की सीख दी। बताया कि प्रदेश में अब भी 14 प्रतिशत सामान्य वर्ग आरक्षण की मांग पर डटा है, जबकि पहले से करीब 80 फीसदी आरक्षण तय है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood