अधिवक्ता संशोधन अधिनियम को लागू करने के विरोध में अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार, की नारेबाजी

Patrika news network Posted: 2017-04-21 13:47:34 IST Updated: 2017-04-21 13:47:34 IST
अधिवक्ता संशोधन अधिनियम को लागू करने के विरोध में अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार, की नारेबाजी
  • उदयपुर में बार एसोसिएशन के सभी अधिवक्ताओं ने एक साथ कार्यों का बहिष्कार करते हुए जिला एवं सेशन न्यायालय के मुख्य द्वार पर जोरदार नारेबाजी की।

उदयपुर.

अधिवक्ताओं के बने एक्ट में अधिवक्ता संशोधन अधिनियम को लागू करने के विरोध में शुक्रवार को उदयपुर में बार एसोसिएशन के सभी अधिवक्ताओं ने एक साथ कार्यों का बहिष्कार करते हुए जिला एवं सेशन न्यायालय के मुख्य द्वार पर जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान कई वरिष्ठ अधिवक्ता भी मौजूद रहे। इसके बाद सभी अधिवक्ता एक साथ जिला कलेक्ट्री पर पहुंचे ओर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। 



READ MORE: ये क्या!!! यहां सभी पार्षदों ने क्यूं दे दिए इस्तीफे?? अब क्या होगा फैसला, पढ़ें पूरी खबर


अधिवक्ताओं ने मांग उठाई कि लॉ कमीशन की ओर से जो अधिवक्ता संशोधन अधिनियम बनाया गया है वह अधिवक्ताओं के हितों पर कुठाराघात करने वाला है इसलिए इस अधिनियम  को खारिज किया जाए। ज्ञापन सौंपने के बाद बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महेन्द्र नागदा ने बताया कि 1961 में जो अधिवक्ता एक्ट बना था अब उसमेंं छेड़छाड़ कर अधिवक्ताओं के हितों को ठेस पहुंचाने की कोशिश की जा रही है, ऐसे में पूरे देश का अधिवक्ता समूह एक जुट है अपने हितों के लिए अधिवक्ता लगातार लड़ाई लडऩे को तैयार है। वहीं, बार कौंसिल ऑफ  राजस्थान के एडॉग कमेटी के सदस्य अधिवक्ता रतन सिंह राव ने बताया कि लॉ कमीशन जो संशोधन करने जा रही है उसके अनुसार अधिवक्ताओं के मामले में निर्णय एक कमेटी करेगी जिसमें एक रिटायर्ड जज इंजीनियर ओर डॉक्टर शामिल हैं ऐसे में अधिवक्ताओं के हितों पर आघात होगा। उन्होंने यह भी कहा कि अधिवक्ताओं के हितों के लिए आर-पार की लड़ाई लडऩी पड़ेगी तो भी पूरा अधिवक्ता समूह तैयार है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood