Breaking News
  • उदयपुर : सेना के कैम्पस एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग, दमकल पहुंचीं
  • जोधपुर : पांच दिन से नहीं चल रही बस, फिर भी दिया एडवांस टिकट, रोडवेज की कारगुजारी
  • उदयपुर:सेना की एकलिंगगढ़ छावनी के पास भीषण आग,एसपी-कलक्टर मौके पर
  • सीकर : देह व्यापार में शामिल नेपाल की कॉल गर्ल, दलाल एवं होटल मैनेजर को जेल
  • किशनगढ़ : 50 लाख की अवैध शराब जब्त, चालक-खलासी हिरासत में
  • करौली : कई स्थानों पर आयकर की कार्रवाई, हिंडौन सिटी में भी छापे
  • नागौर : पैदल सड़क पार कर रहे पंजाब निवासी ट्रक चालक को बोलेरो ने मारी टक्कर, मौके पर ही मौत
  • जोधपुर:पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण
  • बांसवाड़ा : गर्मी ने किया हाल बेहाल, मार्च में ही पारा 44 के पार
  • अलवर : ज्वैलरी खुर्द-बुर्द करने वाली मां गिरफ्तार, रेलवे में है कर्मचारी, मोहम्मद नूर हत्याकांड मामला
  • बांसवाड़ा : कार की चपेट में आने से बालिका घायल, उदयपुर लिंक रोड पर कर रही थी सड़क पार
  • उदयपुर : मसाज पार्लर संचालक के खिलाफ 20 घंटे में चालान पेश, ऑस्ट्रिया की महिला से छेड़छाड़ का मामला
  • भीलवाड़ा : सवा किलो अफीम के साथ गिरफ्तार किए गए तीन जनों को किया कोर्ट में पेश, लिया रिमांड पर
  • दौसा : राजस्थान स्थापना दिवस को लेकर कलक्ट्रेट से गेटोलाव तक निकाली साइकिल रैली
  • जोधपुर : पावटा चौराहे के पास सड़क किनारे मिला बालिका का भ्रूण, फैली दहशत
  • जयपुर : विधानसभा ने बनाया इतिहास, 2010 के बाद चला सबसे लंबा सदन, 16 घंटे 27 मिनट चला
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

विकीलीक्स के दावे ने मचाया तहलका- 'आपके WhatsApp मैसेज पढ़ रही है सीआईए'

Patrika news network Posted: 2017-03-08 09:39:57 IST Updated: 2017-03-08 09:43:23 IST
विकीलीक्स के दावे ने मचाया तहलका- 'आपके WhatsApp मैसेज पढ़ रही है सीआईए'
  • इन दस्तावेजों के प्रमाणिक होने की अभी तक पुष्टि भी नहीं की जा सकी है, लेकिन इनका अध्ययन कर रहे विशेषज्ञों का कहना है कि जारी किए गए दस्तावेजों से सीआईए हिल जाएगी।

पेरिस

अपने खुलासों के लिए मशहूर वेबसाइट विकीलीक्स ने एक बार फिर ऐसा धमाका किया है जिससे दुनिया के तकनीकी जगत में भूचाल आ सकता है। वेबसाइट ने हजारों दस्तावेज सार्वजनिक किए हैं। 



साथ ही उसने अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के हैकिंग में शामिल होने का दावा किया है। साइबर इंटेलिजेंस से जुड़ी ये जानकारियां अमेरिका के साइबर जगत में तहलका मचा सकती हैं। 



इन दस्तावेजों के प्रमाणिक होने की अभी तक पुष्टि भी नहीं की जा सकी है, लेकिन इनका अध्ययन कर रहे विशेषज्ञों का कहना है कि जारी किए गए दस्तावेजों से सीआईए हिल जाएगी। 



दस्तावेज और दावा

दस्तावेजों में कहा गया है है कि सीआईए आपके व्हाट्सएप संदेशों को पढ़ सकती है। साथ ही वेबसाइट ने कथित साइबर हथियारों का जिक्र किया है। उसका दावा है कि इनमें ऐसे वायरस हैं जो विंडोज, एंड्रॉयड और आईओएस, ओएसएक्स और लाइनक्स कंप्यूटरों में सेंध लगा सकते हैं। 



इतना ही नहीं, विकीलीक्स ने यह भी कहा है कि इस कार्य में इस्तेमाल होने वाले कुछ सॉफ्टवेयर खुद सीआईए ने तैयार किए हैं ताकि नेटवर्क में घुसपैठ आसान हो जाए।



क्या कहती है सीआईए

विकीलीक्स ने जो दस्तावेज सार्वजनिक किए हैं, उनकी तादाद हजारों में है। जानकारी के अनुसार वेबसाइट ने 8,761 दस्तावेज पेश किए हैं। 



इनके आधार पर इसका कहना है कि सीआईए ने खास किस्म के सॉफ्टवेयर और वायरस तैयार करने में महारत हासिल कर ली है, जिनकी मदद से वह स्मार्टफोन में झांक सकती है।



वहीं सीआईए के प्रवक्ता ने विकीलीक्स के दावों की पुष्टि नहीं की है। एक बयान में उन्होंने कहा, हम तथाकथित खुफिया दस्तावेजों की सत्यता पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देंगे। गौरतलब है कि इससे पहले भी विकीलीक्स अपने दस्तावेजों और खुलासों से सनसनी मचा चुकी है।




rajasthanpatrika.com

Bollywood