Breaking News
  • जैसलमेर:रामदेवरा मेले में भिक्षावृत्ति कर रही 14 महिलाओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • जयपुर:झोटवाड़ा में आंध्रा बैंक एटीएम में तोड़फोड़, कैमरे खंगाल रही पुलिस
  • बीकानेर:वाणिज्य कर विभाग ने कर चोरी की आशंका से जब्त किए माल सहित पांच ट्रक जब्त
  • जयपुर: क्राइम ब्रांच ने ऑनलाइन ठगी मामले में पुणे और मुंबई से 6 लोगों को किया गिरफ़्तार
  • दौसा:सिकंदरा के बावनपाडा गांव में छप्परपोश घर में लगी आग, आधा दर्जन मवेशी जले
  • रैणी: दहेज प्रताड़ना के मामले में एक जना गिरफ्तार, एक बाईक व एक लाख रूपए की थी मांग
  • साँचोर: आयकर विभाग की कार्रवाई, ढाई लाख रुपए टैक्स वसूला
  • कोटा: पीजी करने के नए नियमों का विरोध, 31 को सरकारी डॉक्टर करेंगे कार्य बहिष्कार
  • पाली:दुजाना गांव में तखतगढ के समीप जोगाराम चतराजी के खेत में आग, गेहूं की फसल जली
  • भीलवाड़ा:सिंहपुरा गांव में कुएं से पानी भरने गई महिला की गिरने मौत
  • भीलवाड़ा: नाला का माताजी क्षेत्र में 30 किलो डोडा पोस्‍त के साथ एक जना गिरफ्तार
  • जैसलमेर: राजस्व विभाग ने डांगरी क्षेत्र में पवन ऊर्जा संयत्र का कंट्रोल रूम किया कुर्क
  • जैसलमेर: फतेहगढ़ के भीमसर में मकान में लगी आग, घरेलू सामान, नगदी और आभूषण स्वाह
  • भीलवाड़ा: सिगपुरा गांव में कुएं मे गिरने से महिला की मौत
  • चूरू: सुजानगढ़ में शांति भंग के आरोप में दो युवक गिरफ्तार
  • प्रतापगढ़ : कुमारवाडा से आठ साल का मासूम लापता, मामला दर्ज
  • भीलवाड़ा: अरवड़- कनेच्छनकला गांव में खेत में आग लगने से तीन बीघा की फसल खाक
  • अजमेर:डिस्कॉम ने तीन दिनों में उपभोक्ताओं से वसूले साढ़े 4 करोड़ रुपए, सौ कनेक्शन काटे
  • अजमेर: रजब के चांद का एलान, ख्वाजा साहब का 805वां उर्स शुरू
  • जयपुर के रामगंज में पुलिस की कार्रवाई, 30 बालश्रमिकों को छुड़ाया, आरोपी मोहम्मद अयूब गिरफ्तार
  • बांसवाड़ा: शहर के हाउसिंग बोर्ड चौराहे पर हुई चेन स्नेचिंग
  • जोधपुर: नागौर रोड पर दो कारों की भिड़ंत, एक घायल
  • पाली: चार ट्रांसपोर्ट फर्मों के दस्तावेज नगर परिषद में जब्त
  • प्रतापगढ़: पीपलखूंट के जंगल में लगी आग
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

अब देश की सबसे बड़ी टेली कंपनियां होगी 'वोडाफोन इंडिया' और आईडिया'

Patrika news network Posted: 2017-03-20 11:28:19 IST Updated: 2017-03-20 11:28:51 IST
अब देश की सबसे बड़ी टेली कंपनियां होगी 'वोडाफोन इंडिया' और आईडिया'
  • कुमार मंगलम बिड़ला के स्वामित्व वाली देश की तीसरे नंबर की टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेल्युलर ने वोडाफोन इंडिया के साथ विलय का ऐलान कर दिया है।

नई दिल्ली

कुमार मंगलम बिड़ला के स्वामित्व वाली देश की तीसरे नंबर की टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेल्युलर ने वोडाफोन इंडिया के साथ विलय का ऐलान कर दिया है। कंपनी ने सोमवार को बताया कि उसके बोर्ड ने इस विलय-प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। 





  1. इसके तहत वोडाफोन इंडिया और इसके पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड और आदित्य बिड़ला ग्रुप के आइडिया सेल्युलर का विलय हो जाएगा और नई कंपनी भारती एयरटेल को पछाड़कर देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन जाएगी। आज के ऐलान के मुताबिक, आइडिया और वोडाफोन की विलय प्रक्रिया अगले साल पूरी हो जाएगी। 





नई कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 45 प्रतिशत जबकि आइडिया की हिस्सेदारी 26 प्रतिशत होगी। आगे जाकर आदित्य बिड़ला ग्रुप और वोडाफोन का हिस्सा बराबर हो जाएगा। आइडिया का वैल्युएशन 72,2000 करोड़ रुपया आंका गया है। 




फाइलिंग के मुताबिक, एबी ग्रुप के पास 130 रुपये प्रति शेयर की दर से नई कंपनी के 9.5 प्रतिशत खरीदने का अधिकार होगा। इस ऐलान के बाद आइडिया के शेयरों में 2.5% की उछाल आ गई। 

क्या होंगे फायदे 

ब्रोकरेज कंपनी सीएलएसए की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नई कंपनी का रेवेन्यू 80,000 करोड़ से भी ज्यादा का होगा जो देश की टेलिकॉम इंडस्ट्री के कुल रेवेन्यू का 43 प्रतिशत होगा। इसके साथ ही, नई कंपनी के पास भारतीय बाजार के कुल 40 प्रतिशत मोबाइल सब्सक्राइबर्स होंगे। 




इतना ही नहीं, कुल आवंटित स्पेक्ट्रम का 25 प्रतिशत हिस्सा अकेले इसी कंपनी के पास होगा। ऐसे में इसे 1 प्रतिशत स्पेक्ट्रम बेचना होगा ताकि इसकी सीमा से जुड़े नियम का पालन हो सके।

विलय में वोडाफोन और आइडिया के सभी शेयरों का विलय होगा, सिर्फ इंडस टावर्स में वोडाफोन के 42 प्रतिशत शेयरों को छोड़कर। आइडिया के नए शेयरों को वोडाफोन में जारी करने के साथ विलय लागू हो जाएगा और वोडाफोन इंडिया अपनी पैरंट कंपनी से अलग हो जाएगा। 




देश के टेलिकॉम मार्केट में पिछले साल आई कंपनी रिलायंस जियो बड़ी तेजी से पांव जमा रही है। कंपनी ने पहले वेलकम ऑफर और फिर हैपी न्यू इयर ऑफर के तहत फ्री वॉइस और डेटा सर्विसेज देकर बड़े पैमाने पर ग्राहकों को जोड़ने में कामयाब रही है। 

अन्य टेलीकॉम कंपनियां भी कर रही है कमाल 

पिछले महीने भारती एयरटेल ने भी शेयर बाजार को सूचित किया था कि वह टेलिनॉर इंडिया के ऐसेट्स खरीदेगा। नॉर्वे की कंपनी टेलिनॉर ने तब भारतीय बाजार से अपना कारोबार समेटने जा रही है जब रिलायंस जियो ने 10 करोड़ ग्राहकों को अपने साथ जोड़ने में कामयाब हो गया है।




वोडाफोन और आइडिया के विलय से बनी नई कंपनी भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी हो जाएगी। अभी भारती एयरटेल देश की सबसे बड़ी कंपनी है। सूत्रों के मुताबिक, वोडाफोन मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी में सीईओ और सीएफओ दोनों पद मांग रहा है। उसे नई कंपनी का चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला को घोषित करने से कोई ऐतराज नहीं होगा।




इस कंपनी का सीईओ वोडाफोन पीएलसी के किसी ग्लोबल एग्जिक्युटिव को बनाया जा सकता है, यह जानकारी दो सूत्रों ने दे ही। एक तीसरे सूत्र ने बताया कि टॉप लेवल रिक्रूट की तलाश शुरू भी हो गई है। वोडाफोन पीएलसी और आइडिया सेल्युलर पर मालिकाना हक रखने वाले आदित्य बिड़ला ग्रुप ने इस मामले में इकनॉमिक टाइम्स के सवालों के जवाब नहीं दिए।

पहले एक रिपोर्ट में इकनॉमिक टाइम्स ने अनुमान लगाया था कि कंसॉलिडेशन की वजह से टेलिकॉम इंडस्ट्री में 1,00,000 रोजगार कम हो सकते है। ये नौकरियां कई टेलिकॉम ऑपरेटर और इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनियों में खत्म हो सकती है।





इस बीच, वोडाफोन ने ऐनुअल ऑफसाइट को टाल दिया है, जिसे मार्च महीने की शुरुआत में फाइन किया जाता है और यह अप्रैल के आखिर में होता है। कुछ ब्रैंड और मार्केटिंग खर्चों को भी रोक दिया गया है।

फायदे के लिए किया था बदलाव 

इसी साल वोडाफोन इंडिया ने सीनियर मैनेजमेंट के रिपोर्टिंग स्ट्रक्चर में बदलाव किया था। कंपनी ने चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर बालेश शर्मा को रिपोर्टिंग अथॉरिटी बनाया था। पहले कंपनी के सीनियर एग्जिक्युटिव्स वोडाफोन इंडिया के सीईओ को रिपोर्ट करते थे। 




अभी दोनों कंपनियों ने ऐक्टिव इन्फ्रास्ट्रक्चर को शेयर करने का फैसला किया है। इसमें वायरलेस इक्विपमेंट भी शामिल हैं। इसका मतलब यह है कि कोई मर्जर होता है तो उसमें बहुत दिक्कत नहीं होगी।

वोडाफोन और आदित्य बिड़ला ग्रुप ने जनवरी में कहा था कि वे इंडस टावर में वोडाफोन के 42% हिस्सेदारी को छोड़कर दोनों कंपनियों के सभी ऐसेट्स को मर्ज करने की संभावना पर काम कर रहे हैं। 




अगर मर्जर के बाद दोनों कंपनियों को बराबर के राइट्स दिए जाते हैं तो उसके लिए आइडिया के नए शेयर वोडाफोन को इशू करने होंगे, जिससे ब्रिटिश वोडाफोन पीएलसी खुद को वोडाफोन इंडिया से अलग कर लेगी।

rajasthanpatrika.com

Bollywood