Breaking News
  • जोधपुर: बीआरटीएस बसों के लिए बनेंगे १० नए बस शेल्टर
  • जयपुर: एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने पकड़ा 90 किलो चंदन, एक ​महिला सहित 3 गिरफ्तार
  • जोधपुर: यूडी टैक्स जमा करने के विशेष अभियान में निगम को 76 लाख की आय
  • झुंझुनूं: चूड़ीना(पचेरी)मेले में हुई मारपीट के मामले में दो गिरफ्तार
  • बीकानेर: एसपी मेडिकल काॅलेज में पीजी की 14 सीटें और बढ़ी
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • धौलपुर: जारोली गांव में जमीन विवाद के मामले में फायरिंग, 2 लोग घायल
  • डूंगरपुर: हाइवे पर कार गड्ढे में गिरी, 4 लोग घायल
  • करौली: कुड़गांव के सेमरदा गांव के घर में आग लगने से 92 हजार रुपए नकद जले
  • करौली: मासलपुर कस ताली गांव में 11 केवी की लाइन टूटने से लगी आग, 3 खेतों में गेहूं की फसल जली
  • जोधपुर: ट्रेनों में अतिरिक्त कोच की अवधि 30 अप्रेल तक बढ़ाई
  • जोधपुर: मेडिकल कॉलेज में हुआ 87वां देहदान, सरस्वती नगर निवासी मूलचंद भट्टी का आज किया देहदान
  • बांसवाड़ा: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को दस साल कठोर कारावास की सजा
  • चूरू: सुजानगढ़ में रेलवे गेट के बीच फंसा ट्रक, ट्रक चालक गिरफ्तार और ट्रक जब्त
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • टूटा दस साल का रिकॉर्ड, जयपुर का तापमान 41.4 डिग्री पर
  • हनुमानगढ़: टिब्बी तहसील में करीब दो साल पहले हुए दोहरे हत्याकांड के आरोपी विजय पूनिया को जेल, मुख्य आरोपी विनोद पूनिया अभी तक फरार
  • जैसलमेर: सदर पुलिस थाना ने कई साल से फरार स्थाई वारंटी को किया गिरफ्तार
  • सादुलपुर: गणगौर मेले में उमड़ी भीड़, तीन महिलाओ की अज्ञात चोरों ने तोड़ी सोने की चेन
  • BS-3 वाहनों पर बैन से खरीददारों की मौज, बाइक-स्कूटी पर 22 हजार तक की छूट
  • देशभर में गर्मी ने किया लोगों का बुरा हाल, मार्च में ही बरसने लगी आसमान से आग
  • पाली और जोधपुर में केंद्रीय विद्यालय को स्वीकृति,केंद्रीय विद्यालय संगठन ने जारी की
  • पाली और जोधपुर जिले में केंद्रीय विद्यालय को मिली स्वीकृति
  • मेडिकल कॉलेज के लिए सीकर में एमसीआई की टीम, भवन व एसके अस्पताल का निरीक्षण
  • जयपुर: दौलतपुरा टोल प्लाजा पर 2 लाख 16 हजार रुपए के पुराने नोट पकड़े, 3 गिरफ्तार, कार जब्त
  • सवाईमाधोपुर:सिलेण्डर चोर गिरोह से 21 सिलेण्डर, 3-4 लाख का इलेक्ट्रॉनिक सामान बरामद
  • बांसवाडा: तलवार दिखाकर मोबाइल व पर्स लूटने के मामले में मुख्य आरो​पी सहित दो गिरफ्तार
  • बांसवाडा:बिल्डर ने वृद्धा का हाथ तोड़ा, बेटे का सिर फोड़ा, फ्लेट के कब्जे का मामला
  • भीलवाडा : सुभाषनगर थाना क्षेत्र में चेन लूट की दो वारदात
  • अजमेर: स्मेक के साथ तस्कर मोहम्मद अली गिफ्तार, 600 ग्राम स्मेक की बरामद
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सावधानः 10 लाख से ज्यादा गूगल अकाउंट हैक, जानिए कैसे चेक करें

Patrika news network Posted: 2016-12-01 15:26:41 IST Updated: 2016-12-01 15:26:41 IST
सावधानः 10 लाख से ज्यादा गूगल अकाउंट हैक, जानिए कैसे चेक करें
  • एंड्रॉयड स्मार्टफोन की बढ़ती प्रसिद्धि के चलते दुनिया भर में जीमेल यूजर्स की संख्या भी काफी तेजी से बढ़ी। लेकिन गूगल यूजर्स को अब सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 10 लाख से ज्यादा गूगल अकाउंट हैक हो चुके हैं।

एंड्रॉयड स्मार्टफोन की बढ़ती प्रसिद्धि के चलते दुनिया भर में जीमेल यूजर्स की संख्या भी काफी तेजी से बढ़ी। लेकिन गूगल यूजर्स को अब सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 10 लाख से ज्यादा गूगल अकाउंट हैक हो चुके हैं।सिक्योरिटी फर्म चेक प्वाइंट सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजीज के मुताबिक माना जा रहा है कि एक नए एंड्रॉयड मैलवेयर 'गूलीगन (gooligan)' ने गूगल के 10 लाख से ज्यादा अकाउंट्स में सेंध लगा दी है। 


यह मैलवेयर एंड्रॉयड डिवाइसों को रूट कर देता है और फिर इन फोन में सुरक्षित ईमेल एड्रेस और पहचान चुरा लेता है। इससे हैकर्स को इन एंड्रॉयड डिवाइस यूजर्स के जीमेल, गूगल फोटोज, गूगल डॉक्स, गूगल प्ले, गूगल ड्राइव और जी सूट जैसे संवेदनशील डाटा को एक्सेस करने का मौका मिल जाता है।


चेक प्वाइंट में मोबाइल प्रोडक्ट के प्रमुख माइकल शौलोव ने कहा, "10 लाख (वन मिलियन) से ज्यादा गूगल अकाउंट डिटेल्स की चोरी बड़े खतरे की घंटी है और यह अगले चरण के साइबर-अटैक्स की ओर ईशारा करती  है। अब हम हैकर्स की रणनीति में बदलाव देख रहे हैं, यह अब मोबाइल डिवाइसों को निशाना बना रहे हैं ताकि उनमें मौजूद संवेदनशील जानकारी को हासिल किया जा सके।"


हालांकि गूगल द्वारा इस बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। रिपोर्ट बताती है कि इस मैलवेयर ने हर दिन 13,000 डिवाइसों को प्रभावित किया और गूलीगलन ने एंड्रॉयड के जेलीबीन, किटकैट और लॉलीपॉप वर्जन को निशाना बनाया। एंड्रायड डिवाइसों में इन वर्जन की हिस्सेदारी करीब 74 फीसदी है। इनमें से 40 फीसदी डिवाइसें एशियाई मुल्कों जबकि 12 फीसदी यूरोपीय देशों में हैं।


एक बार डिवाइस पर कब्जा होने के बाद यह हैकर्स फर्जी तरह से गूगल प्ले स्टोर से अनचाहे ऐप्स इंस्टॉल कर देते हैं और पीड़ित के खाते से उन्हें रेटिंग देकर मुनाफा कमाते थे।रिपोर्ट में बताया गया, "हैक की गई डिवाइसों पर रोजाना गूलीगन ने कम से कम 30 हजार ऐप्स इंस्टॉल किए या फिर जब से इसकी शुरुआत हुई इसमें 20 लाख से ज्यादा ऐप्स इंस्टॉल किए।"

rajasthanpatrika.com

Bollywood