Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

अब मोबाइल पर सुनो लैंडलाइन टेलीफोन की कॉल, फिलहाल कुछ देशों में ही ये तकनीक

Patrika news network Posted: 2017-03-18 10:12:36 IST Updated: 2017-03-18 10:12:36 IST
अब मोबाइल पर सुनो लैंडलाइन टेलीफोन की कॉल, फिलहाल कुछ देशों में ही ये तकनीक
  • बीएसएनएल लैंडलाइन टेलीफोन उपभोक्ताओं को भी स्मार्ट बना रहा है। इसके तहत कॉल तो मोबाइल से होगी लेकिन बिल लैंडलाइन-ब्रॉडबैंड में जुड़ेगा।

जयपुर

बीएसएनएल लैंडलाइन टेलीफोन उपभोक्ताओं को भी स्मार्ट बना रहा है। इसके तहत कॉल तो मोबाइल से होगी लेकिन बिल लैंडलाइन-ब्रॉडबैंड में जुड़ेगा। इसके तहत घर में रहने पर मोबाइल की कॉल लैंडलाइन पर तथा घर से बाहर रहने पर लैंडलाइन की कॉल मोबाइल पर स्वत: कनेक्ट हो जाएगी। लैंडलाइन पर इंटरनेट की तेज स्पीड, वीडियो कॉल, मल्टी वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग मिलेगी।


इसके लिए बीएसएनएल जयपुर समेत प्रदेश में नेक्स्ट जेनरेशन नेटवर्क (एनजीएन) एक्सचेंज शुरू कर रहा है। जयपुर में एनजीएन एक्सचेंज का शुक्रवार को बीएसएनएल राजस्थान के मुख्य महाप्रबंधक रमेशचंद आर्य ने उद्घाटन किया। यह तकनीक एक्सचेंज इंटरनेट प्रोटोकॉल पर आधारित है, जो फिलहाल कुछ देशों में ही है।


इंटरनेट कनेक्टिविटी होने के चलते लोकल कॉल वाट्सएप कॉल की तरह होगी।   देश के ए श्रेणी के शहरों में पुराने एक्सचेंज को एनजीएन में तब्दील करने का काम पूरा होने वाला है। अब बी श्रेणी के शहरों में इस कार्य को गति दी गई है। इनमे जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, भीलवाड़ा, कोटा और अजमेर भी शामिल है। ऑल इंडिया सेनट्रेक्स, मल्टी वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग आदि सुविधाएं मिलेंगी। आठ तरह की सेवाएं संचालित होंगी, जिनमें वॉयस कॉल, ब्रॉडबैंड, फैक्स, वीडियो कॉल, टेक्स्ट मैसेज, वीडियो कॉल रिकॉर्डिग शामिल हैं।


यह मिलेगी सुविधा

एनजीएन एक्सचेंज के जरिए वीडियो कॉलिंग, कॉल ट्रांसफर जैसी सेवाएं भी बेहतर होंगी। 256 केबीपीएस स्पीड की इंटरनेट सेवा पर अभी उपभोक्ताओं को 150 से 170 के बीपीएस की स्पीड मिलती है। एनजीएन एक्सचेंज लगने के बाद 256 में 250 केबीपीएस की स्पीड मिल सकेगी।


आइपी सेंट्रेक्स स्कीम

यह एक सीयूजी सेवा है। इसमें उपभोक्ता या कोई संस्था अपने टेलीफोन से पूरे देश में रहने वाले परिजन, कार्यालयों के लैंडलाइन नंबर को आपस में जोड़ सकेंगे। उपभोक्ताओं की लोकेशन पर सिस्टम लगाए बिना ही पूरे ग्रुप को पीबीएक्स की सुविधा मिलेगी। एक सेंट्रेक्स ग्रुप में अधिकतम 10 हजार नंबरों को लिया जा सकेगा। ग्रुप के लोग अनलिमिटेड बातें कर सकेंगे। भुगतान ग्रुप बनाने वाले उपभोक्ता को करना होगा।

rajasthanpatrika.com

Bollywood