Breaking News
  • सीकर- खाटूश्यामजी का लक्खी मेला शुरू, उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब
  • पूर्व चिकित्सा मंत्री डॉ. राजकुमार शर्मा ने कहा, भामाशह योजना में लुट रहे हैं मरीज
  • स्टंट की कम कीमत के नाम पर निजी अस्पताल लूट रहे मरीजों को
  • शेरगढ़ (जोधपुर)- हिम्मतपुरा के पास निजी बस पलटी, 35 यात्री घायल
  • सीकरः बाबा श्याम का फाल्गुनी लक्खी मेला आज से, श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू
  • जयपुर- बरकत नगर में तेज रफ्तार कार ने छात्र को कुचला
  • भीलवाड़ा- 6 वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म, बागोर के पास गूंदली गांव का मामला
  • मुरादाबाद के पास रानीखेत एक्सप्रेस का ब्रेक फेल, 10 यात्री घायल
  • अलवर- राजगढ के टहला मार्ग पर कुण्डरोली गांव के जंगल में बघेरा ने बकरी का किया शिकार
  • जैसलमेर- कोल्ड ड्रिंक पीने से तीन लोगों की तबियत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती
  • विधानसभा में युनूस खान और राजकुमार शर्मा उलझे, स्वीकृत सड़कों को निरस्त करने का मामला
  • हिंडौन सिटी-  सड़क हादसे में दो किशोर घायल, जयपुर रेफर, बरगमा के पास हादसा
  • अलवर- एनएच 8 पर शेरपुर के पास कंटेनर पलटा, जनहानि की सूचना नहीं
  • सीकर- रींगस में आरटीओ ऑफिस के सामने खड़ी कार में लगी आग, जनहानि की सूचना नहीं
  • सिरोहीः जिला स्तरीय विज्ञान मेला सेंट पाल स्कूल में शुरू, बाल वैज्ञानिको ने प्रदर्शित किए आकर्षक मॉडल
  • सीकरः एडीजी हेमंत प्रियदर्शी ने किया रींगस में पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय का निरीक्षण
  • सोना देवी ने कहा रायसिहनगर में आरयूबी न बनने से आक्रोश।
  • सीकरः नीमकाथाना में लोक परिवहन सेवा बस ने बाइक सवार को कुचला, बाइक सवार ने तोड़ा अस्पताल में दम
  • बूंदीः डाबी क्षेत्र के पराना गांव में सूखी खान में कूद कर मध्यप्रदेश निवासी युवक ने की आत्महत्या
  • दौसाः सर्व समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन में सात जोड़े बंधे परिणय सूत्र में
  • टोंक- नगरफोर्ट के पास कार पलटी, दो की मौत, तीन घायल, मृतक सतवाड़ा गांव के रहने वाले थे
  • गोविन्द सिंह डोटासरा ने उठाया विद्यार्थी मित्रों की नियुक्ति का मामला
  • मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री पर लगाया विद्यार्थी मित्रों को बरगलाने का आरोप
  • डोटासरा ने कहा, सरकार नहीं देना चा​हती विद्यार्थी मित्रों को नियुक्ति
  • दौसा-स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल में विज्ञान प्रदर्शनी ​का आयोजन
  • विधानसभा में किरोड़ी लाल मीणा ने बघेरे से हुई मौत पर सरकार को घेरा
  • मीणा बोले, बिना डीएनए जांच के कैसे छोड़ दिया बघेरा
  • जवाब में मंत्री खींवसर ने कहा कि बघेरा आदमखोर है या नहीं, अभी पुष्टि नहीं
  • भीलवाड़ा- मांडल पंचायत समिति क्षेत्र के 42 ग्राम पदेन सचिवों को चार्जशीट, काम में लापरवाही बरतने का मामला
  • अलवर- अवैध खनन रोकने की मांग, मुंडली के ग्रामीणों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

VIDEO: टोल प्लाज़ा पर सेना की तैनातगी पर भड़कीं ममता, बोलीं- 'स्थिति बेहद गंभीर, आपातकाल से भी खराब'

Patrika news network Posted: 2016-12-02 09:23:34 IST Updated: 2016-12-02 09:23:34 IST
  • मुख्यमंत्री ने कहा, ''सेना हमारी संपत्ति है। हमें उनपर गर्व है। हमें बड़ी अपदाओं और सांप्रदायिक तनाव के दौरान सेना की जरुरत होती है।ज् उन्होंने कहा था च्मैं नहीं जानती कि क्या हुआ है। यदि छद्म अभ्यास है, तब भी राज्य सरकार को सूचित किया जाता है।''

कोलकाता।

   

पश्चिम बंगाल और सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक बार फिर सुर्ख़ियों में है। मामला ममता और केंद्र सरकार के आमने-सामने होने से जुड़ा है।  अभी ममता बनर्जी के विमान की आपात लैंडिंग से जुड़ा मामला सियासी गलियारों में गरमाना शुरू ही हुआ था कि पश्चिम बंगाल में एक और घटनाक्रम ने आग में घी डालने का काम कर दिया। 



ये नया विवाद उस समय उठ खड़ा हुआ जब बंगाल के ज़्यादातर टोल प्लाज़ा में अचानक से सेना की तैनातगी कर दी गई।  टोल प्लाजाओं पर सेना की इस तरह की तैनातगी से सीएम ममता बेहद नाराज़ हो गई हैं, लिहाज़ा अब प्लेन लैंडिंग के साथ ही इस मामले को जोड़ते हुए वे सरकार को घेरने की तैयारी में हैं।    


दरअसल, गुरुवार को बंगाल में टोल प्लाज़ा समेत विभिन्न हिस्सों में आर्मी नजर आई। कई जगहों पर सेना ने डेरा जमाया हुआ था। ममता इसे केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश सरकार को डराने का मामला बताने लगी हैं। जबकि सेना ने इसे अपना अभ्यास मात्र करार दिया है।  



ममता बनर्जी का आरोप है प्रदेश सरकार को सूचित किए बगैर गुरुवार को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो पर पलसित और दनकुनी के दो टोल प्लाजा पर सेना तैनात की गई जो अपने आप में बेहद गंभीर मुद्दा है। उन्होंने इसके विरोध करते हुए राज्य सचिवालय में ही डेरा डाल लिया।




सीएम का कहना है कि जब तक इसके सामने स्थित टोल प्लाजा से सेना नहीं हटाई जाती, वह तब तक वहां से नहीं हटेंगी। ममता ने कहा, च्राज्य सरकार को सूचित किए बगैर दो टोल प्लाजा पर सेना तैनात की गई। यह बहुत गंभीर स्थिति है, आपातकाल से भी खराब।ज् इस पर गुरुवार रात तक सेना टोल प्लाजा से हटा ली गई। इसके बाद पश्चिम बंगाल पुलिस ने भी दो ट्वीट करके दावा किया कि राज्य सरकार के सहमति लिए बिना पश्चिम बंगाल के करीब-करीब सभी इलाकों में सेना तैनात कर दी गई है।



सेना ने ये रखा पक्ष 

सेना ने इस पूरे मसले पर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इस तरह का अभ्यास पूरे देश में आर्मी सालाना तौर पर करती रहती है। इस तीन दिवसीय अभ्यास का शुक्रवार को आखिरी दिन था। इसका मकसद यह होता है कि सेना को किसी आपात स्थिति में कितने वाहन उपलब्ध हो सकते हैं। 



रक्षा मंत्रालय के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) ने बताया कि कुछ जगहों से जरूरी आंकड़े जुटा लिए गए हैं और आर्मी को वहां से हटने को कहा गया है। 



एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि सेना साल में दो बार देशभर में ऐसा अभ्यास करती है जिसका लक्ष्य सड़कों के भारवहन संबंधी आंकड़े जुटाना होता है। इससे मुश्किल घड़ी में सेना को उपलब्ध कराया जा सके। विंग कमांडर एस. एस. बिर्दी ने कहा, ''चौंकाने वाला कुछ भी नहीं है, क्योंकि यह सरकारी आदेश के अनुसार होता है।''



सेना का कहना है कि इस कवायद से डरने की कोई बात नहीं है और यह सरकार के आदेश के अनुसार ही होता है। वहीं ममता इस मुद्दे पर नरम पड़ती नहीं दिख रही है। उन्होंने कहा है कि अवसर मिलने पर इस मुद्दे को लेकर मैं राष्ट्रपति से बात करेंगी। 



मुख्यमंत्री ने कहा, ''सेना हमारी संपत्ति है। हमें उनपर गर्व है। हमें बड़ी अपदाओं और सांप्रदायिक तनाव के दौरान सेना की जरुरत होती है।ज् उन्होंने कहा था च्मैं नहीं जानती कि क्या हुआ है। यदि छद्म अभ्यास है, तब भी राज्य सरकार को सूचित किया जाता है।''

rajasthanpatrika.com

Bollywood