Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

video: श्रीगंगानगर में पहली बार बनाया कैटल कॉरिडोर

Patrika news network Posted: 2017-07-15 06:33:29 IST Updated: 2017-07-15 07:39:17 IST
  • अक्सर गंभीर मरीजों के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाकर शिफ्ट किया जाता रहा है लेकिन श्रीगंगानगर के इतिहास में आवारा सांडों को गोशाला में शिफ्ट करने के लिए पहली बार कैटल कॉरिडोर बनाया गया। जिसकी शहर में देर रात्रि तक खूब चर्चा हुई।

श्रीगंगानगर.

अक्सर गंभीर मरीजों के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाकर शिफ्ट किया जाता रहा है लेकिन श्रीगंगानगर के इतिहास में आवारा सांडों को गोशाला में शिफ्ट करने के लिए पहली बार कैटल कॉरिडोर बनाया गया। जिसकी शहर में देर रात्रि तक खूब चर्चा हुई। नगर परिषद की टीम ने गुरुवार रात 10.07 बजे 20-25 आवारा सांडों का पहला झुंड रामलीला मैदान से बाहर निकाला और इन्हें सूरतगढ़ रोड स्थित आईएमए भवन के पास गोशाला में शिफ्ट किया। विरोध के स्वर उठने पर नगर परिषद ने आखिर आठ दिन बाद यह निर्णय लिया। 



Video: धोरो में लहलहाएगी हरियाळी,किसान जुटे बिजान में


सांडों के झुंड को शिव चौक से आगे तक पहुंचाने के बाद 10.22 बजे दूसरा झुंड निकाला गया। इस प्रकार रामलीला मैदान से एक-एक कर झुंडों के रूप में 350 आवारा सांडों को सूरतगढ़ रोड स्थित गोशाला में पहुंचाया गया। आठ दिन से आवारा सांड रामलीला मैदान में थे। अधिकांश सांड तो आराम से गोशाला में चले गए और कुछ बीच में बिदक गए जिन्होंने कार्मिकों को खूब छकाया। यही नहीं कुछ सांड सड़क से बाहर निकल गए। देखते ही देखते तीन घंटे में रामलीला मैदान को खाली कर दिया गया। परिषद की टीम व पुलिस ने संभाली व्यवस्था- नगर परिषद आयुक्त सुनीता चौधरी ने गुरुवार रात्रि नौ बजे गोशाला व आवारा पशुओं को शिफ्ट करने की व्यवस्था का निरीक्षण किया और निकल गई। नगर परिषद के एचओ नरेश झोरड, पेरोकार प्रेम चुघ, नगर परिषद उप सभापति अजय दावड़ा, पार्षद संजय बिश्नोई सहित नगर परिषद के ढाई सौ कार्मिक व सौ पुलिस कर्मियों की टीम ने व्यवस्था संभाल रखी थी। 

वन-वे किया ट्रैफिक

आवारा सांडों को शिफ्ट करने से पहले यातायात पुलिस ने सुखाडि़या सर्किल पर ट्रैफिक वन कर मीरा चौक की तरफ से वाहनों को निकाला। शिव चौक की साइड को बंद कर रखा था। शिव चौक व बिहाणी पेट्रोल पंप पर पुलिस ने नाका लगाकर आगे किसी को नहीं जाने दिया। इस प्रकार नाका लगाकर रास्ते को वन-वे कर दिया गया। वन वे सुखाडि़या सर्किल से लेकर आईएमए भवन से आगे तक किया गया।


Video: जिला कलेक्टर के आदेश के बावजूद तहसीलदार ग्रामीणों की मांग को अनसुना कर रहे हैं


हर जगह लगाया नाका

सुखाडि़या सर्किल से लेकर आईएमए भवन तक बीच-बीच में हर चौराहे व डिवाइडर पर कार्मिकों की ड्यूटी लगाई गई। इस पूरी सड़क पर लाठियां लेकर नगर परिषद के कार्मिक हर जगह खड़े नजर आए। पुलिस की दो गाडि़यां गश्त कर रही थी। भारी भीड़ लिए सड़क पर खड़े लोगों को देखकर इस कार्य से अनजान व्यक्ति एक बार हैरान हो गया। बाद में उसे पूरे मामले का पता चला। 

एक बार अस्थाई कार्मिकों की ड्यूटी

नगर परिषद स्वास्थ्य अधिकारी नरेश झोरड ने बताया कि सूरतगढ़ रोड़ स्थित गोशाला में एक बार अस्थाई रूप से तीन पारियों में पांच-पांच कार्मिकों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके बाद इस गोशाला का संचालन करने के लिए तीन पारियों में कार्मिकों की ड्यूटी लगाई जाएगी, जो इस गोशाला में आवारा पशुओं की देखरेख करेंगे। इस गोशाला में रामलीला मैदान के सभी पशुओं को रखा जाएगा। इनके लिए हरा-चारा आदि की व्यवस्था जनसहयोग से की जाएगी। 

फैक्ट फाइल - रामलीला मैदान में आवारा सांड- 350 

नगर परिषद ने शिफ्ट किए पशु-350

नगर परिषद ने कार्मिक लगाए-250 

नगर परिषद के सफाई कार्मिक-16

व्यवस्था में सहयोगी डेरा प्रेमी-20 

सीविल डिफेंश कार्मिक-10 

पुलिस व ट्रैफिक पुलिस- 100 

रामलीला मैदान से पहला झुंढ निकाला-10.07 बजे

rajasthanpatrika.com

Bollywood