Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

हिंदुस्तान के इस निशानेबाज़ ने फिर करवाया गर्व करने का अहसास, वर्ल्ड कप में मैडल पर लगाया 'निशाना'

Patrika news network Posted: 2017-02-28 18:29:05 IST Updated: 2017-02-28 18:29:05 IST
हिंदुस्तान के इस निशानेबाज़ ने फिर करवाया गर्व करने का अहसास, वर्ल्ड कप में मैडल पर लगाया 'निशाना'
  • जीतू के लिये यह तीन वर्षों में विश्वकप में सातवां पदक है। इस स्पर्धा में पूर्व ओलंपिक चैंपियन वियतनाम के शुआन विन्ह होआंग ने रजत पदक और पूर्व विश्व चैंपियन जापान के तोमोयूकी मत्सूदा ने स्वर्ण अपने नाम किया।

नई दिल्ली।

भारतीय निशानेबाज और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता जीतू राय ने यहां डा. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में चल रहे आईएसएसएफ विश्वकप (राइफल-पिस्टल-शाटगन) में मंगलवार को 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में कांस्य पदक जीत लिया। लेकिन अनुभवी ओलंपियन निशानेबाज गगन नारंग ने निराश किया और वह 50 मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा के फाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर सके। 


जीतू के लिये यह तीन वर्षों में विश्वकप में सातवां पदक है। इस स्पर्धा में पूर्व ओलंपिक चैंपियन वियतनाम के शुआन विन्ह होआंग ने रजत पदक और पूर्व विश्व चैंपियन जापान के तोमोयूकी मत्सूदा ने स्वर्ण अपने नाम किया। 


भारत की मेजबानी में पहली बार हो रहे विश्वकप के पांचवें दिन भारत को उसका तीसरा पदक हासिल हुआ। भारत एक रजत और दो कांस्य पदकों के साथ तालिका में पांचवें स्थान पर है जबकि चीन, इटली, आस्ट्रेलिया और जापान स्वर्ण पदक जीतकर उससे आगे हैं। 


महिला निशानेबाज हीना सिद्धू के साथ मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण जीतने वाले जीतू ने कांस्य जीतकर भारत को तीसरा पदक दिलाया। जीतू ने पिछले तीन वर्षों में ओलंपिक जैसे मेगा टूर्नामेंट को छोड़कर लगभग हर बड़े टूर्नामेंट में पदक हासिल किये हैं। उन्होंने इस दौरान एशियाई खेलों में स्वर्ण, विश्व चैंपियनशिप में रजत तथा विश्वकप फाइनल्स में रजत अलावा विश्व कप में दो स्वर्ण जीते हैं। 


जीतू ने 577 के स्कोर के साथ छठे स्थान पर रहते हुए आठ खिलाड़यिों के फाइनल में स्थान बनाया। फाइनल में उनकी शुरूआत कमजोर रही और पहली पांच शाट की सीरीज में वह दो निशानों से नौ तथा 8.8 अंक ही जुटा पाये। वह पदक दौड़ से बाहर होने के निकट ही थे कि उन्होंने जोरदार वापसी करते हुए पांच शाट 10 से ऊपर के लगाये। वह 21 शाट के बाद रजत जीतने के करीब थे लेकिन 22 वें शाट में 8.6 अंक ने उन्हें कांस्य पदक से ही संतोष करने पर मजबूर कर दिया। 


तोमोयूकी ने स्पर्धा का स्वर्ण 240.1 अंक के साथ जीता जबकि युआन विन्ह होआंग ने 236.6 अंक के साथ रजत तथा जीतू ने 216.7 के स्कोर के साथ कांस्य पर कब्जा जमाया। जीतू ने मैच के बाद कहा, 'फाइनल में मेरी शुरुआत कमजोर रही थी लेकिन बाद में वापसी की और मुझे खुशी है कि मैं घरेलू दर्शकों के बीच पदक जीतने में सफल रहा। मैं अपने इस पदक को सेना को समर्पित करता हूं जिसके कारण मैं आज यहां तक पहुंचा हूं।'


दिन के एक अन्य फाइनल में 50 मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा में चैन सिंह ने फाइनल में तो जगह बनाई लेकिन वह पदक जीतने में कामयाब नहीं हुए। पदक के अन्य दावेदारों में पूर्व ओलंपिक पदक विजेता गगन नारंग तथा सुशील घाले का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा और वे फाइनल में भी स्थान नहीं बना सके। 


गगन तथा सुशील क्रमश:15 वें तथा 12 वें स्थान पर रहे। दूसरी तरफ फाइनल सातवें स्थान में रहते हुये फाइनल में जगह बनाने वाले चैन सिंह अपनी पोजीशन में सुधार नहीं कर सके और उनका स्कोर 141.9 रहा। स्पर्धा का स्वर्ण जापान के तोशीकाजू यामाशीता ने तथा रजत चीन के युकुन लियू ने जीता।

rajasthanpatrika.com

Bollywood