Video : इधर गिर रहा जलस्तर और उधर सूख रहे हलक, कैसे बचेगा धरती पर जीवन

Patrika news network Posted: 2017-04-21 18:23:05 IST Updated: 2017-04-22 11:14:02 IST
  • पूरे देश में कुछ जगहों पर इन दिनों पानी की किल्लत एक बार फिर से उत्पन्न हो गई है। गांव हो या शहर लोगों के हलख सूखने लगे हैं। इसकी वजह है गिरता हुआ जलस्तर। ऐसे ही कुछ जगहों के हालत जानने के लिए हमारे संवाददाता पहुंचे तो हालात भयावह मिले।

नीमकाथाना/खाटूश्यामजी

पूरे देश में कुछ जगहों पर इन दिनों पानी की किल्लत एक बार फिर से उत्पन्न हो गई है। गांव हो या शहर लोगों के हलख सूखने लगे हैं। इसकी वजह है गिरता हुआ जलस्तर। ऐसे ही कुछ जगहों के हालत जानने के लिए हमारे संवाददाता पहुंचे तो हालात भयावह मिले। यहां आसपास के ग्रामीणों से जब संवाददाता ने बढ़ती पानी की समस्या के बारे में बात करनी चाही तो ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों और जलदाय विभाग पर गंभीर आरोप लगाने शुरू कर दिए। फिर क्या था संवाददाता बढ़ते गए और पानी को लेकर गांवों में जो स्थिति दिखी वह चौंकाने वाली थी।


Read:

यहां होने वाला है कुछ ऐसा, जिससे लोगों का जीना हो जाएगा और भी मुश्किल



दांतारामगढ़ पंचायत समिति डार्क जोन होने के कारण अधिकतर गांवों में पानी की यहां ज्यादा समस्या है। खोरा, बाज्यावास, हीरवास, कांटिया जालुण्ड, कैलाश, बल्लूपुरा, चेनपुरा मगनपुरा, नाडा,भगवानपुरा समेत ऐसे अनेक गांव और ढाणियां है, जहां भीषण गर्मी के अलावा आए दिनों में भी पानी का गहरा संकट छाया हुआ है। पत्रिका ने जब इन गांवो में जाकर इसकी सच्चाई जानी तो पीड़ा दुखदाई थी। पानी को लेकर ग्रामीणों में हाहाकार था। हालात यह है कि कुछ जगहों पर हैण्डपंप भी बंद थे। पत्रिका के सामने सरकार के पीने के पानी के पुख्ता इंतजामात के दावों की पोल भी ग्रामीणों ने खोल कर रख दी। उन्होंने बताया कि पानी की इस समस्या को लेकर सभी गांवो में जनप्रतिनिधि, विभाग और प्रशासन के अधिकारियों पर भारी आक्रोश व्याप्त है। उनका कहना है कि कभी-कभार तो पानी को लेकर आपस में झगड़ा भी हो जाता है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में दो दर्ज हैण्डपम्प हैं लेकिन सभी खराब हैं।


Read:

शुरू हुआ आफत का खेल, इन पर किया भरोसा तो सूख जाएगा गला



नीमकाथाना के अभय कॉलोनी के बालाजी नगर के वाशिंदे पिछले सात वर्ष से पानी के लिए मोहताज हैं। ये कॉलानी शहर से कहीं दूर नहीं बल्कि विधायक प्रेम सिंह बाजोर के निवास व जलदाय विभाग के पीछे चंद कदमों पर ही स्थापित है। कॉलोनी वासियों की ना तो अधिकारी सुन रहे हैं और न ही जनप्रतिनिधि। कॉलानी में पानी की समस्या तो दूर की बात है, जब कोई भी व्यक्ति कार्यालय में जाता है तो उन्हें वहां से दो टूक कहकर टरका दिया जाता है। महिला पुष्पा देवी, गिना देवी, सरोज जांगिड़, ममता, कौशल्या देवी, सुमन, मिश्री, विमला आदि महिलाओं ने प्रशासन से पानी की व्यवस्था को सुचारू कराने की मांग की है।

पानी की समस्या को लेकर जलदाय विभाग के अधिकारियों की बैठक ली गई थी। जिसमें बंद ट्यूबवेल एवं हैण्डपंप को सुधरवाने के आदेश दिए गए थे। एक मई से पानी के टैंकर पहुंचना शुरू हो जाएंगे। 

सत्यवीर यादव (एसडीएम, दांतारामगढ़)

rajasthanpatrika.com

Bollywood