अभी भी सीकर के इन लोगों को नहीं मिल सकेगा पानी, जानें क्या है मामला

Patrika news network Posted: 2017-05-19 15:47:49 IST Updated: 2017-05-19 15:47:49 IST
अभी भी सीकर के इन लोगों को नहीं मिल सकेगा पानी, जानें क्या है मामला
  • शहरवासियों की पेयजल समस्या का समाधान अभी कागजों में उलझा हुआ है। क्योकि पहले दस करोड़ की लागत से बने पेयजल प्रोजेक्ट को सौपने से आरयूआईडीपी मना करती रही। लेकिन मुख्यालय की फटकार के बाद आरयूआईडीपी बिना परीक्षण के इन प्रोजेक्टों को सौपने की तैयारी कर रहा है।

सीकर

शहरवासियों की पेयजल समस्या का समाधान अभी कागजों में उलझा हुआ है। क्योकि पहले दस करोड़ की लागत से बने पेयजल प्रोजेक्ट को सौपने से आरयूआईडीपी मना करती रही। लेकिन मुख्यालय की फटकार के बाद आरयूआईडीपी बिना परीक्षण के इन प्रोजेक्टों को सौपने की तैयारी कर रहा है। लेकिन जलदाय विभाग ने हाथ वापस ले लिए है। प्रोजेक्ट की स्थिति यह है कि शहर में सात पेयजल टंकियां व एक सौ किलोमीटर की पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है, लेकिन लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। ऐसे में करोड़ों रुपए की लागत से बने इस प्रोजेक्ट का पूरा फायदा लोगों को नहीं मिल पाएगा। इसे देखते हुए जलदाय विभाग ने भी प्रोजेक्ट को लेने से प्रारंभिक तौर पर मना कर दिया है।




Read:

गर्मियों में आपको प्यासा रखने वाला है जलदाय विभाग, हकीकत कर देगी परेशान



पाइप खत्म हो गए

आरयूआईडीपी को वाटर प्रोजेक्ट तक शहर में हाल में बनी कॉलोनियों व पानी की किल्लत से जूझ रही कॉलोनी तक 100 किलोमीटर तक पाइप लाइन डालनी थी। पाइप लाइन तो बिछा दी गई लेकिन कई जगह टी व ज्वाइंट नहीं लग पाए। हाथी टीबा टंकी से पाइप लाइन में कई जगह पाइप ही नहीं बिछाई गई। हाथी टीबा, तेजा कॉलोनी की टंकी से जुड़ी कई कॉलोनी में  कइ्र जगह पाइप से जोडऩे की कवायद चल रही है। कई जगह पुरानी लाइन बंद करनी थी, जिन्हें नहंी जोड़ा जा सका है।





Read:

Video : इधर गिर रहा जलस्तर और उधर सूख रहे हलक, कैसे बचेगा धरती पर जीवन



यह है स्थिति


आरयूआईडीपी की लेट लतीफी के कारण जुलाई 2014 में पूरा होने वाला वाटर प्रोजेक्ट दो वर्ष बाद भी पूरा नहीं हो सका है। प्रोजेक्ट के तहत शहर में 4900 किलोलीटर पानी की क्षमता की सात टंकिया बनाई गई है। इन टंकियों को पाइप लाइन के जरिए ट्यूबवैल से तो जोड़ दिया, लेकिन प्रोजेक्ट के नक्शे के अनुसार पाइप लाइन नहीं बिछाई जा सकी है। ऐसे में लोगों के घरों तक पानी नहीं पहुंच रहा है।

आरयूआईडीपी प्रोजेक्ट को हैंडओवर करने के लिए कह रही है,लेकिन प्रोजेक्ट के तहत पेयजल टंकी से घरों तक पाइप लाइन से पानी पहुंचने के बाद ही प्रोजेक्ट लिया जाएगा। हाथी टीबा बगीची क्षेत्र में आरयूआईडी की ओर से परीक्षण किया जा रहा है।

बीएम पिलानियां, सहायक अभियंता सीकर 

rajasthanpatrika.com

Bollywood