Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सीकर: आनंदपाल के अंतिम संस्कार के बावजूद भी पुलिस प्रशासन को लग रहा है इस बात का डर, 24 घंटे और बढ़ी नेटबंदी...

Patrika news network Posted: 2017-07-14 10:45:05 IST Updated: 2017-07-14 10:45:05 IST
सीकर: आनंदपाल के अंतिम संस्कार के बावजूद भी पुलिस प्रशासन को लग रहा है इस बात का डर, 24 घंटे और बढ़ी नेटबंदी...
  • सांवराद में में आनंदपाल का अंतिम संस्कार गुरुवार को हो गया। इसके बाद भी सीकर में पुलिस व प्रशासन के अधिकारी इंटरनेट सेवा शुरू कराने का निर्णय नहीं ले पा रहे है।

सीकर

सांवराद में में आनंदपाल का अंतिम संस्कार गुरुवार को हो गया। इसके बाद भी सीकर में पुलिस व प्रशासन के अधिकारी इंटरनेट सेवा शुरू कराने का निर्णय नहीं ले पा रहे है। जबकि जिले में पूरी तरह शांति है। प्रशासन ने पहले गुरुवार रात बारह बजे तक इंटरनेट सेवा बंद करने पर रोक लगाई थी। इसके बाद गुरुवार शाम को जिला मजिस्ट्रेट व कलक्टर नरेश कुमार ठकराल ने इंटरनेट पर लगी पाबंदी की सीमा को 24 घंटे और बढ़ा दिया है। इस कारण आमजन को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


सोशल मीडिया का भय


पुलिस व प्रशासन को आनंदपाल एनकाउंटर के बाद से सबसे ज्यादा भय सोशल मीडिया से है। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों का तर्क है कि लोग सोशल मीडिया पर झूठी पोस्ट वायरल कर रहे है। इस कारण कानून व्यवस्था व सद्भाव बिगड़ सकता है। इस तरह की पोस्ट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय पुलिस ने इंटरनेट सेवा ही बंद कर दी। ऐसे में जिलेवासियों को परेशान होना पड़ रहा है।






Read also:

आनंदपाल एनकाउंटर: आज रात ग्यारह बजे तक यहां बंद रहेगी इंटरनेट सेवा





आज शाम फिर होगी बैठक


इंटरनेट सेवा को चालू करने को लेकर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक शुक्रवार शाम को होगी। जिला मजिस्ट्रेट व कलक्टर नरेश कुमार ठकराल ने बताया कि यदि स्थिति सामान्य नजर आई तो इंटरनेट सेवा को शुक्रवार रात बारह बजे से बहाल किया जा सकता है।


अब तक सात दिन इंटरनेट बंद रह चुका है। इस समय स्कूल व कॉलेजों में दाखिले की दौड़ चल रही है। ज्यादातर स्कूल व कॉलेज में ऑनलाइन फार्म है। इंटरनेट बंद होने के कारण विद्यार्थी ऑनलाइन फार्म नहीं भर पा रहे है। वहीं स्कूल व कॉलेज संचालक विभिन्न तरह की सूचना मुख्यालय को नहीं भेज पा रहे है। इंटरनेट सेवा बंद होने के कारण आमजन के साथ व्यापारियों को भी काफी परेशानी हो रही है। व्यापारियों का कहना है कि इंटरनेट बंद होने के कारण जीएसटी का पंजीयन नहीं हो रहा है। वहीं आमजन को ऑनलाइन टिकट व पॉश मशीन से लेनदेन नहीं होने के कारण परेशानी बढ़ रही है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood