Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सीकर में पनप रहे भू-माफिया गिरोह ने कर दी युवक की हत्या

Patrika news network Posted: 2017-06-15 12:51:25 IST Updated: 2017-06-15 12:51:25 IST
सीकर में पनप रहे भू-माफिया गिरोह ने कर दी युवक की हत्या
  • सीकर में जमीनी विवाद को लेकर एक युवक की भू-माफियाओं ने गोली मारकर हत्या कर दी। मरने वाला युवक भढाडर गांव का है। बताते हैं कि कई दिनों से उसका जमीन को लेकर हमलावरों से विवाद चल रहा था। मृतक के भाई ने पुलिस अधीक्षक से आरोपितों को पकडऩे की मांग की है।

सीकर

जमीनी विवाद को लेकर भढ़ाडर में एक युवक की हत्या कर दी गई। इससे पहले गाड़ी में सवार युवक व उसके चार साथी जान बचाने के लिए इधर-उधर बचते रहे। लेकिन, ढाणी में गाड़ी फंस जाने के कारण हमलावरों ने परडौली बड़ी के सुरजाराम को पकड़ लिया। लाठी व सरियों से मारपीट कर उसकी जान ले ली। इधर, सुरजाराम के परिजनों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव लेने से मना कर दिया गया। समझाइश के बाद शाम को पांच बजे वे शव लेकर एसके अस्पताल से रवाना हुए। जानकारी के अनुसार भढ़ाडर में भागीरथ व उसके चचेरे भाई छोटूराम के बीच पिछले कई दिनों से जमीनी विवाद चल रहा है। हाइवे के पास करोड़ों रुपए की बेशकीमती जमीन पर दोनों अपना मालिकाना हक जता रहे हैं। जिसके लिए कुछ महीनों पहले दोनों पक्षों के बीच झगड़ा भी हो गया था। तब से दोनों पक्षों के साथ दो अलग-अलग भूमाफिया गुट और जुड़ गए थे। दोनों के बीच खींचतान भी जारी थी। मंगलवार रात जब एक गुट का बजरंगलाल अपने रिश्तेदार भागीरथ को समझाने के लिए उसके गांव भढ़ाडर गया तो कैंपर में उसके साथ सुरजाराम, सांवरमल, सुभाष व विजेंद्र भी साथ था। भागीरथ के घर से जब ये लोग वापस बजरंग के गांव की तरफ रवाना हुए तो पीछे से सात-आठ गाडि़यों में सवार होकर आए दूसरे गुट के लोगों ने इनकी गाड़ी का पीछा करते हुए फायरिंग शुरू कर दी। गाड़ी के पीछे अपनी गाडि़यों से टक्कर मारने लगे। जान बचाने के लिए पांचों लोग नेमीचंद पुत्र सूरजमल खीचड़ भढ़ाडर के खेत में बनी ढाणी में छुप गए। लेकिन, हमलावरों ने उनका पीछा नहीं छोड़ा। ढाणी में आकर तोडफ़ोड़ करने लगे। बचने के लिए पांचों भागने लगे तो हमलावरों ने सुरजाराम पुत्र किशनराम को पकड़ लिया और लाठी सरियों से उसे पीटने लगे। जिससे सुरजाराम की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और सुरजाराम का शव लेकर एसके अस्पताल पहुंची।


Read:

Video : रींगस के खाटूश्यामजी मोड़ पर मिला युवक का शव, हत्या का अंदेशा



रिपोर्ट में 25 को किया नामजद

सुरजाराम के बडे़ भाई सांवरमल ने बताया कि छह भाइयों में सुरजाराम सबसे छोटा था और अविवाहित था। जो कि, नवलगढ़ रोड होटल पर काम करता था। सदरथाने में दी गई रिपोर्ट में सांवरमल ने आरोप लगाया है कि वे लोग जब भागीरथ को समझाकर वापस आ रहे थे तो नेमीचंद खीचड़, विजयपाल बिजारणियां, राजु सुंडा, विद्याधर, भागीरथ सरपंच, राजेश, राकेश, रामेश्वर, महेश, सांवरमल, गोपाल रणवां, रबूड़ा, हरिसिंह पिलानिया, शंकर, रिछपाल बुरड़क, दिलसुख, राजु, कुलदीप सुंडा, नेमीचंद निठारवाल, बिरजू राणौली, मूलचंद, मुकेश बाजिया, बिरजु, अजयपाल, लीलू सहित आदि के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दी है।


Read:

पलसाना लाठी-सरियों से दो पक्षों ने किय एक-दूसरे पर हमला, आधा दर्जन लोग घायल



आधे घंटे तक अटकी रही सांसे


बजरंग व उसके साथी जब कैंपर में रवाना हुए तो सड़क किनारे खड़ी गाडि़या एक-एक करके उनके पीछे होती चली गई। बजरंग व विजेंद्र ने बताया कि शक हुआ तो ये रसीदपुरा टोल के पास ठहर गए। इतने में ही पीछे से दनदनाती गाडि़यां आई और इनकी गाड़ी पर फायरिंग शुरू करी दी। कई किलोमीटर तक हमलावर पीछा करते रहे। गाड़ी को टक्कर मारने और फायरिंग के बीच इनकी खुद की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई। नेमीचंद की ढाणी में गाड़ी से हमलावरों ने उसके घर की दीवार तोड़ दी। इनका आरोप है कि सूचना के बावजूद पुलिस देरी से आई। जल्दी आ जाती तो शायद सुरजाराम की जान बच जाती। इधर, पुलिस का कहना है कि बचाव में इन लोगों ने भी पीछे आ रही गाडि़यों पर फायरिंग की है। बरामद गाड़ी से लाठियां व सरिए भी जब्त किए गए हैं।


Read:

Video : सीकर में 17 दिन की बेटी की निर्मम हत्या, होद में पड़ी मिली बच्ची




सीसीटीवी में कैद हुई घटना

सीओ सीटी हवा सिंह का कहना है कि टोल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में साफ दिख रहा है कि ये लोग आ रहे हैं और इनके पीछे गाडि़यां दौड़ रही हैं। फुटेज और दर्ज रिपोर्ट के आधार पर हमलावरों की तलाश की जा रही है। टीम उनके ठिकानों पर दबिश दे रही हैं।

Read:

...तो इसलिए की गई सीकर में इस हिस्ट्रीशीटर की हत्या, कार में मिला था शव



पुलिस हटते ही चली गई जान


दोनों पक्षों के बीच पहले विवाद होने पर भढ़ाडर में अस्थाई तौर पर पुलिस का जाब्ता लगा दिया गया था। करीब ढ़ाई से तीन महीने तक पुलिस रोज इन पर नजर रखती थी। लेकिन, इसके बाद पुलिस जाब्ता हटा लिया गया। जिसका नतीजा निकला कि झगड़े में एक की जान चली गई।



Read:

Video : #सीकर में इस युवक को भारी पड़ गई इस लड़की से नजदीकी, टुकड़ों में पीटा और फिर कर दी हत्या



सुरजाराम पर थे कई मुकदमे

सदर थाने के एसएचओ मुस्ताक खां ने बताया कि मृतक सुरजाराम पर भी मर्डर सहित आबकारी थाने में कई मुकदमे दर्ज थे। दोनों चचेरे भाइयों की जमीन को लेकर कोर्ट ने भी एक पक्ष में फैसला कर दिया था। लेकिन, काबिज ने कब्जा नहीं छोड़ दूसरी कोर्ट से स्टे ले आया था। अपने हिस्से की जमीन हथियाने के लिए दोनों ने भूमाफिया से जुडे़ लोगों को अपने-अपने पक्ष में कर रखा था। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood