Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

कैसे होगी पढ़ाई, जब सरकार ही करने लगी ये काम

Patrika news network Posted: 2017-03-17 16:19:30 IST Updated: 2017-03-17 16:19:30 IST
कैसे होगी पढ़ाई, जब सरकार ही करने लगी ये काम
  • जिले में सरकारी स्कूलों पर ताला लगाने का सिलसिला थम नहीं रहा। ताले अभिभावक या विद्यार्थी नहीं खुद सरकार लगवा रही है। तीन साल में यह आंकड़ा 900 के पार तो पहुंच चुका।

सीकर

जिले में सरकारी स्कूलों पर ताला लगाने का सिलसिला थम नहीं रहा। ताले अभिभावक या विद्यार्थी नहीं खुद सरकार लगवा रही है। तीन साल में यह आंकड़ा 900 के पार तो पहुंच चुका। अब इसे एक हजार के पार करने की पूरी तैयारी कर ली गई है। अगले सत्र तक साठ से अधिक स्कूलों पर और ताले लग सकते हैं। ताले लगने की प्रक्रिया को समन्वित नाम दिया जा रहा है।



Read:

सरकार का फरमान : अब ये काम नहीं कर सकतीं महिलाएं, जानें क्यों



पांच दिन पहले फिर पांच स्कूल बंद


इसी वर्ष मार्च माह में ही करीब पांच दिन पहले पांच स्कूलों को और बंद कर दिया गया है। बंद का कारण शून्य नामांकन बताया गया है। राजकीय प्राथमिक विद्यालय मंगलपुरा, जिजवाडिय़ा, कुडियान, राजनपुरा व जाखड़ों की ढाणी को बंद कर दिया गया है। इनको रामावि बानूड़ा, लानिया, मेई व सेवा में समन्वित किया गया है।

Read:

Video : ट्रक के पीछे थी आरटीओ की गाड़ी, तभी कुछ ऐसा कि चली एक की जान


63 की और तैयारी...


सरकार अब कम नामांकन वाले 63 प्राथमिक विद्यालयों को और बंद करने की तैयारी कर रही है। इसके प्रस्ताव भी उच्च स्तर पर पहुंच चुके हैं। जल्द ही इन पर भी निर्णय होने वाला है। 

Read:

Video : छह बच्चों पर ऐसा टूटा पहाड़ कि...


डिग्रीधारी युवाओं को भी परेशानी


प्राथमिक स्कूल बंद होने से एसटीसी व बीएड करने वाले युवाओं को भी परेशानी हो सकती है। युवाओं का कहना है कि स्कूल बंद होने से नए शिक्षकों की नियुक्ति की संभावना कम हो जाएगी। स्कूलों को बंद करने की बजाय उनमें नामांकन बढ़ाया जाना चाहिए जो एक सार्थक कदम साबित होगा।

Read:

नोटबंदी से कम हो गए इसके शौकीन, पहले की तुलना में गिर गई इनकी कमाई


युवाओं को नहीं मिलेगा रोजगार...


सरकार प्राथमिक विद्यालयों को बंद कर रही है। साथ ही शिक्षकों को पद समाप्त कर रही है। इससे युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा। सरकार निजीकरण को बढ़ावा देना चाहती है। हम इसका विरोध कर रहे हैं। -उपेन्द्र शर्मा, जिलाध्यक्ष,राजस्थान शिक्षक संघ

rajasthanpatrika.com

Bollywood