Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

शर्मनाक! खिलाडिय़ों के प्रति इस सरकार का ऐसा रवैया

Patrika news network Posted: 2017-03-20 11:49:57 IST Updated: 2017-03-20 11:51:37 IST
शर्मनाक! खिलाडिय़ों के प्रति इस सरकार का ऐसा रवैया
  • राजस्थान दिवस के उपलक्ष में रविवार को भी जिला स्टेडियम में विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। लेकिन, दूर-दराज से खेलने आए खिलाडि़यों के लिए व्यवस्थाएं माकुल नहीं थी।

सीकर

राजस्थान दिवस के उपलक्ष में रविवार को भी जिला स्टेडियम में विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। लेकिन, दूर-दराज से खेलने आए खिलाडि़यों के लिए व्यवस्थाएं माकुल नहीं थी। जिम्मेदार बजट कम होने का रोना रो रहे थे। इधर, खिलाड़ी कम सुविधाओं के बीच भी बेहतर प्रदर्शन कर अपनी प्रतिभा का जलवा बिखेरने में लगे थे। तेज धूप के बावजूद खिलाड़ी और खेल प्रेमी घंटों मैदान में डटे रहे। जानकारी के अनुसार पर्यटन विभाग और राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद की ओर से स्टेडियम में परंपरागत खेल प्रतियोगिताएं आयोजित हुई। इस दौरान कबड्डी और रस्साकसी के खेल हुए। खिलाडि़यों ने अपने स्तर पर खेल मैदान तैयार किए। 



Read:

तो हाईकोर्ट की भी नहीं सुनता ये विभाग, 21 साल में तीन बार आया फैसला, फिर भी कान में जूं तक नहीं रेंगी 



देरी से आने वाले कई खिलाडि़यों को प्रतियोगिता में शामिल भी नहीं किया गया। कईयों को स्पोट्स किट के अभाव में खेल मैदान पर उतरना पड़ा। जिला खेल अधिकारी उदयभान सिंह रावत ने बताया कि प्रतियोगिता में विजेता खिलाड़ी 21 व 22 मार्च को  जयपुर में होने वाली संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में जिले का प्रतिनिधित्व करेंगे। यहां चयन होने पर राज्य स्तर पर खेलेंगे। 23 मार्च को सीकर में मैराथन के साथ मशाल दौड़ होगी। विजेता खिलाडि़यों के सम्मान समारोह में एडीएम डा. नरेंद्र थौरी ने कहा कि हारने वाले खिलाड़ी  निराश नहीं हो। जीत के लिए खेल का नियमिति और आगामी अभ्यास करें। इस मौके पर जिला जनसंपर्क अधिकारी संपतराम चान्दोलिया, बास्केटबॉल प्रशिक्षक अशोक कुमार, जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष जगदीश फौजी, चन्दगीराम सामोता, दुर्जन सिंह शेखावत, महेंद्र सिंह, सरिता सैनी, मंगेजराम, शारीरिक शिक्षक लखन कुमार आदि मौजूद थे। संचालन राजवीर सिंह शेखावत ने किया।

Read:

अब नौनिहालों की नींव होगी मजबूत, जानें कैसे



खेलों के लिए 30 हजार 

दो दिवसीय खेल प्रतियोगिताओं के लिए महज 30 हजार रुपए का बजट ही दिया गया। इसमें दर्जनों खिलाडि़यों का टीए डीए, उनके प्राइज व अल्पहार सहित कई सुविधाएं शामिल थी। हालांकि आयोजन के अनुसार व्यवस्था पर दोगुना खर्चा हुआ बताया। जिसको वहन करने के लिए दान दाताओं का सहयोग लिया जाएगा। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood