Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

OMG!...तो साइकिल से करेंगे फ्रांस की 3500 किमी की यात्रा, हैरान कर देनी वाली है इनकी कहानी, गिनिज बुक में भी दर्ज करा चुके हैं अपना नाम

Patrika news network Posted: 2017-05-19 12:09:03 IST Updated: 2017-05-19 12:09:03 IST
OMG!...तो साइकिल से करेंगे फ्रांस की 3500 किमी की यात्रा, हैरान कर देनी वाली है इनकी कहानी, गिनिज बुक में भी दर्ज करा चुके हैं अपना नाम
  • सोलर साइकिल से देशभर की यात्रा कर गिनिज बुक ऑफ द वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा चुके सीकर के राजेंद्र भास्कर अब फ्रांस और स्विट्जरलैण्ड में साइकिल चलाएंगे। यही नहीं वह वहां के विश्वविद्यालयो में सोलर एनर्जी पर व्याख्यान भी देंगे।

डॉ. सचिन माथुर, सीकर

सोलर साइकिल से देशभर की यात्रा कर गिनिज बुक ऑफ द वल्र्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करा चुके सीकर के राजेंद्र भास्कर अब फ्रांस और स्विट्जरलैण्ड में साइकिल चलाएंगे। यही नहीं वह वहां के विश्वविद्यालयो में सोलर एनर्जी पर व्याख्यान भी देंगे। इसके लिए राजेन्द्र का फ्रांस में 35 दिन का टूर तय हुआ है। जिसके लिए वे 27 मई को उड़ान भरेंगे। राजेन्द्र को अपने सब्जेक्ट से जितना लगाव है उतनी ही साइकिल राइडिंग से है। पढ़ाई और साइकिलिंग का शौक दोनों साथ- साथ चल रहे थे। फिर एक दिन उसने अपने सब्जेक्ट और साइकिलिंग को केंद्र सरकार की जवाहरलाल नेहरु नेशनल सोलर मिशन योजना से जोडऩे की युक्ति बिठाई और सोलर साइकिल से देशभर में सोलर एनर्जी का संदेश देने की ठान ली। जिसका नतीजा हुआ कि पिछले साल देशभर में 7 हजार 424 किलोमीटर की साइकिल यात्रा कर उसने गिनिज बुक ऑफ द वल्र्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया।






Read:

राजस्थान की यह बेटी थाईलैण्ड से क्या ले आई कि हर जगह होने लगी तारीफ



इसलिए छेड़ा अभियान


सोलर एनर्जी के लिए अभियान छेडऩे की वहज राजेन्द्र अपने देश के लिए कुछ कर गुजरने के जज्बे को बताते हैं। बतौर राजेन्द्र, जवाहरलाल नेहरु नेशनल सोलर मिशन के तहत केंद्र सरकार ने 2022 तक एक लाख मेगावाट सोलर एनर्जी उत्पादन का लक्ष्य रखा है। जिसके लिए देश में करीब सात गुना ज्यादा सोलर टेक्निशियन्स की जरूरत होगी। इसको लेकर लोगों में जागरुकता के लिए उन्हें सोलर बाइक राइडिंग सबसे बेहतर जरिया लगा।




Read:

पैर से नहीं ये हाथों से चलाते हैं फर्राटेदार जिप्सी, जानिए कैसे चलाते हैं इसे



3500 किमी राइड


राजेन्द्र भास्कर अपने आईआईटीएन साथी सुशील रेड्डी के साथ 27 मई से 14 जुलाई तक फ्रांस और स्विट्जरलैण्ड की यात्रा पर रहेंगे। यहां द सनट्रिप इवेंट के लिए इन्हें आमंत्रण मिला है। यहां वह 35 दिन में 3500 किलोमीटर की सोलर साइकिल यात्रा करेंगे। वहीं, 12 विश्वविद्यालय और कॉलेजों में सेमिनार में हिस्सा लेंगे। बतौर राजेन्द्र, उनका उद्देश्य 70 फीसदी सोलर एनर्जी का उपयोग कर रहे फ्रांस की सोलर तकनीक का भारत में उपयोग की संभावनाएं तलाशना है।





Read:

इस रिटायर्ड अफसर ने साइकिल पर ही कर डाली 13 हजार किमी की यात्रा, जानें क्यों किया ऐसा



ईको फ्रेंडली और जीरो पॉल्यूशन सिटी बनाने का है सपना


राजेन्द्र सपना एक ईको फ्रेंडली और जीरो पॉल्यूशन सिटी तैयार करने का है। वह और उनकी टीम राजस्थान में ही एक ऐसी सिटी बनाना चाहती है जो ई-बाइक शेयरिंग सिस्टम पर आधारित हो। जिसमें केवल ऐसी बाइक हो, जो सोलर एनर्जी से चलती हो। इसके लिए उन्होंने केंद्र सरकार से भी बात की है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood