गेहूं-चना की होगी सरकारी खरीद

Patrika news network Posted: 2017-03-19 21:17:14 IST Updated: 2017-03-19 21:17:14 IST
गेहूं-चना की होगी सरकारी खरीद
  • क्षेत्र के किसान अब अपनी उपज को सरकारी समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। इसके लिए केन्द्र सरकार की ओर से भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) द्वारा शहर की नई अनाज मंडी में शीघ्र ही खरीद केन्द्र स्थापित किया जाएगा।

गंगापुरसिटी

क्षेत्र के किसान अब अपनी उपज को सरकारी समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे। इसके लिए केन्द्र सरकार की ओर से भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) द्वारा शहर की नई अनाज मंडी में शीघ्र ही खरीद केन्द्र स्थापित किया जाएगा। 


एफसीआई ने शनिवार से खरीद केन्द्र स्थापित करने की तैयारी शुरू कर दी। एफसीआई ने कोटा से दो अधिकारियों को खरीद केन्द्र की व्यवस्था के लिए यहां लगाया है। इनमें एक भुगतान अधिकारी जेपी. मीना व दूसरे किस्म निरीक्षक (क्यूआई) केशव गुप्ता हैं। 


एफसीआई अधिकारियों ने शनिवार को मंडी में नीलामी एरिया क्षेत्र में सफाई कार्य शुरू कराया। हैण्डलिंग व ट्रांसपोर्ट एजेन्ट (एचटीए) नियुक्त होने पर संभवत:  दो से तीन दिन में खरीद केन्द्र काम करना शुरू कर देगा।


गेहूं  की अधिक, चने की कम आवक

मंडी में इन दिनों गेहूं की अधिक और चना की कम आवक हो रही है। गत तीन दिन दिन से मंडी में प्रतिदिन एक हजार से अधिक बोरी गेहूं आ रहा है। गेहूं का न्यूनतम मूल्य 1500 और अधिकतम 1620 रुपए तक चल रहा है। खरीद केन्द्र शुरू होने पर किसान को 1625 रुपए प्रति क्विंटल के दाम मिलने लगेंगे। फिलहाल मंडी में चना की कम आवक हो रही है।  चना का भाव 4 हजार रुपए से अधिक चल रहा है। एक सप्ताह बाद चने की आवक बढऩे के साथ ही भावों में गिरावट की उम्मीद की जा रही है। 

यह है मानक

समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए एफसीआई ने मानक निर्धारित किया है। गुणवत्ता निरीक्षक केशव गुप्ता ने बताया कि गेंहू में विजातिय तत्व 0.75 प्रतिशत, अन्य खाद्य योग्य दाना व क्षतिग्रस्त दाना 2-2 प्रतिशत, आंशिक क्षतिग्रस्त 4 प्रतिशत व नमी 12 प्रतिशत मान्य है। इसी प्रकार चना में विजातिय तत्व व अन्य खाद्य योग्य दाना 2-2 प्रतिशत, क्षतिग्रस्त व आंशिक क्षतिग्रस्त 3 प्रतिशत, अधपका, सिकुडा, टूटा दाना 5 प्रतिशत व नमी 12 प्रतिशत मान्य है।

ऑनलाइन होगा भुगतान

किसान को केन्द्र पर गेहूं व चना बेचने के लिए गिरदावरी रिपोर्ट, परिचय पत्र व बैंक पास बुक की छाया प्रति (आईएफएससी कोड सहित) लानी होगी। बैंक खाता जनधन से अलग  होना चाहिए। उपज बेचने वाले किसान को राशि का ऑनलाइन भुगतान किया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार उपज बेचने के 48 घंटे में  किसानों के खाते में राशि ट्रांसफर हो जाएगी।

गेहूं पर नहीं चना पर मिलेगा बोनस

एफसीआई की ओर से केन्द्र सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर गेहूं - चना की खरीद की जाएगी। सरकार ने गेहूं का समर्थन मूल्य 1625 रुपए निर्धारित किया है। चने का समर्थन मूल्य 3800 रुपए घोषित हुआ है। गेहूं पर किसानों को बोनस नहीं मिलेगा जबकि चना पर 200 रुपए बोनस दिया जाएगा। यानि किसान को एक क्विंटल चने की कीमत चार हजार रुपए मिलेगी।

rajasthanpatrika.com

Bollywood