Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

VIDEIO: आखिर...क्यो दिया प्रेमी ने अपनी प्रेमिका को जहर

Patrika news network Posted: 2017-07-16 20:39:39 IST Updated: 2017-07-16 20:39:39 IST
  • चौथ का बरवाड़ा. तीन दिन पहले धर्मशाला के कमरे में मृत मिली युवती माया मीणा की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। मामले में पुलिस ने उसके प्रेमी विनोद रावल (3५) को कोटा से गिरफ्तार किया।

poisoned his girlfriend

चौथ का बरवाड़ा. तीन दिन पहले धर्मशाला के कमरे में मृत मिली युवती माया मीणा की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। मामले में पुलिस ने उसके प्रेमी विनोद रावल (3५) को कोटा से गिरफ्तार किया। आरोपित की शिनाख्ती के बाद उसे सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

पुलिस अधीक्षक मामन सिंह ने बताया कि तीन दिन पहले कस्बे के मीन मंदिर धर्मशाला में एक अज्ञात युवक माया नामक युवती के साथ आया व अपना गलत नाम पता बता कर कमरा लिया। इस दौरान उसने युवती को जहरीला पदार्थ खिला दिया। युवती की मौत के बाद वह चुपचाप वहां से फरार हो गया। प्रकरण में युवती की शिनाख्त के बाद पुलिस की एक विशेष टीम गठित की गई। जिसने युवती के परिजनों से मिले महत्वपूर्ण सूत्रों के आधार पर आरोपित को कोटा से दबोच लिया।

इसलिए रची साजिश

एसपी सिंह ने बताया कि युवक से प्रारंभिक पूछताछ में युवती की शादी पहले महावीर नाम युवक से हुई थी। बाद में युवती ने एक अन्य युवक से नाता विवाह कर लिया, लेकिन वहां भी वह अपना परिवार नहीं चला सकी। करीब डेढ़ साल पहलेे युवती माया का विनोद रावल निवासी बोरदा थाना मांगरोल जिला बारां से सम्पर्क हुआ। तभी से वह इसके साथ रहने लगी। 


पूछताछ में सामने आया कि युवक विनोद पहले से शादीशुदा था। उसके दो बच्चे भी थे। उसकी पत्नी व परिवार वाले इस प्रेम प्रसंग से काफी नाराज थे। इधर, युवती विनोद का साथ छोडऩे को तैयार नहीं थी। इसपर विनोद ने उससे पीछा छुड़ाने के लिए हत्या की योजना बनाई व उसे घुमाने के बहाने चौथ का बरवाड़ा ले आया। जहां उसने मीणा धर्मशाला में युवती को पेटदर्द की दवा के बहाने जहरीली दवा पानी में घोल कर पिला दी।

साक्ष्य मिटा कर फरार

पूछताछ में सामने आया कि युवक ने कोटा से युवती को मारने के लिए जहर की गोलियां खरीदी थी। बरवाडा़ में अपनी पहचान अशोक मीणा बता कमरा लिया। यहां युवती को जहरीली दवा देने के बाद उसे थोडी देर बाद ही वह उल्टी करने लगी। युवती जब अचेत हो गई, तब उसे मृत मान कर उसने कमरे की फर्श व दीवारों को साफ कर युवती के कपड़े और मोबाइल आदि लेकर फरार हो गया।

टीम में यह रहे शामिल

पुलिस अधीक्षक ने मामले में अनुसंधान का दायित्व थानाधिकारी रामवीर सिंह को सौंपा। इसके साथ ही आरोपित की तलाश के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दशरथ सिंह के निर्देशन में वृताधिकारी वृत ग्रामीण सम्पत सिंह, उपनिरीक्षक जितेंन्द्र सिंह, एएसआई मुरारीलाल, कांस्टेबल जुगल किशोर, बत्तीलाल, प्रदीप, मुकेश गुर्जर, महेंद्र व सुरेश की टीम को कोटा भेजा।

rajasthanpatrika.com

Bollywood