Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

ऊंचे ख्वाब दिखा नाबालिग को उठा ले गया दो बच्चों का पिता, फिर जो हुआ, उससे सदमें में आ गई मां

Patrika news network Posted: 2017-06-18 11:31:41 IST Updated: 2017-06-18 11:31:41 IST
ऊंचे ख्वाब दिखा नाबालिग को उठा ले गया दो बच्चों का पिता, फिर जो हुआ, उससे सदमें में आ गई मां
  • पहले मोबाइल देकर दिल जीता, फिर कॉल पर कॉल कर मीठी-चुपड़ी बातों के साथ ऐसे ऊंचे ख्वाब दिखाए कि नाबालिग किशोरी दो बच्चों के पिता के साथ जाने को रजामंद हो गई। अगवा की नामजद रिपोर्ट के बाद भी केलवा पुलिस आरोपित को नहीं पकड़ पाई।

राजसमंद

पहले मोबाइल देकर दिल जीता, फिर एक सप्ताह तक लगातार कॉल पर कॉल कर मीठी-चुपड़ी बातों के साथ ऐसे ऊंचे ख्वाब दिखाए कि नाबालिग किशोरी दो बच्चों के पिता के साथ जाने को रजामंद हो गई। नाबालिग को अगवा करने की नामजद रिपोर्ट के बाद भी केलवा पुलिस आरोपित को आठ दिन बाद भी नहीं पकड़ पाई। हालांकि पुलिस दल जोधपुर जाकर आरोपित के ठिकाने का पता लगा लिया, मगर उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई। इधर, घर पर आठ दिन मां की रो रोकर हालत बेसुध सी हो गई, तो पिता की हालत भी दुबली हो गई है। 


READ MORE : सैकड़ों सरकारी कार्मिक-अफसरों को हटाएंगी सरकार : विभागाध्यक्षों ने शुरू कर दिया स्क्रीनिंग का कार्य शुरू


पुलिस के अनुसार बोराणा, रायपुर (भीलवाड़ा) हाल जोधपुर निवासी इरफान मोहम्मद पुत्र शरीफ मोहम्मद ने मोबाइल दिया और फिर कॉल पर बातों में ऊंचे ख्वाब दिखा कर बहला फुसलाकर केलवा से 17 वर्षीय किशोरी को भगा कर जोधपुर ले गया। 


READ MORE : रात्रि गश्त में पुलिस पर उठी उंगली, थानेदार की उड़ गई नींद, रातभर जागना पड़ा


10 जून को किशोरी को भगा ले जाने का प्रकरण केलवा थाना पुलिस ने चार दिन बाद 14 जून को दर्ज किया। उसके बाद भी आज दिन तक आरोपित की तलाश कर उसे गिरफ्तार कर नाबालिग किशोरी को मुक्त करने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किए। इस बीच केलवा थाने का पुलिस दल जोधपुर गया, जहां से आरोपित को चाचा को पूछताछ के लिए केलवा थाने पर लाया गया, जिसने आरोपित के बारे में पुलिस को अहम जानकारी दी। उसके बाद पुलिस द्वारा आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किए। 


READ MORE :  पुलिस समझती गर्म खून की गंभीरता तो बचा लेती एक जान


तो पीडि़त कहां लगाए फरियाद 

नाबालिग बेटी के अपहरण के आरोपी की गिरफ्तारी न होने पर पिता फरियाद लेकर थाना प्रभारी भरत योगी के पास गया, जहां से अनुसंधान अधिकारी लक्ष्मणसिंह के पास भेज दिया। जांच प्रभारी ने तलाशने का आश्वासन दिया, मगर अन्य जवानों ने उसे बार बार थाने पर नहीं आने की बात कहते हुए टरका दिया। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood