Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

लग्जरी कार का लालच, कीमत चुकाई 46 करोड़ : एक दो नहीं, 21 हजार लोगों को लगी लालच की लत

Patrika news network Posted: 2017-06-18 12:55:09 IST Updated: 2017-06-18 12:57:46 IST
लग्जरी कार का लालच, कीमत चुकाई 46 करोड़ : एक दो नहीं, 21 हजार लोगों को लगी लालच की लत
  • फ्रीज, कूलर, बाइक व लग्जरी कारों के लालच की कीमत में कतिपय लोगों को 46 करोड़ रुपए चुकाने पड़े। एक या दो लोग ठीक के शिकार नहीं हुए, बल्कि भीम क्षेत्र के 21 हजार लोगों ने आंखें मंूद कर लाखों रुपए निवेश कर डाले। एक बदमाश पकडऩे के बाद 8 चिटफंड कंपनियों का काला कारोबार उजागर हो गया।

भीम

आठ चिटफंड कंपनियों पर ताले 

भीम क्षेत्र में अवैध रूप से संचालित आठ अलग अलग चिटफंड कंपनियों ने भीम व आस पास के गांवों के मजदूर वर्ग के 21 हजार लोगों से 46 करोड़ रुपए का निवेश करवा लिया। भीम पुलिस द्वारा जीवन ज्योति ट्रेडकॉम प्राइवेट लिमिटेड के संचालक सलीम मोहम्मद पुत्र जमालुद्दीन को गिरफ्तार कर लोगों से ठगी के काले कारनामे का खुलासा कर दिया। इसी तरह से निवेश करने वाले सिद्दी विनायक ग्रुप, महालक्ष्मी ग्रुप सहित आठ चिटफंड कंपनियों के दफ्तरों पर ताले लग गए और उनके एजेंट, कार्मिक व परिवार भी भूमिगत हो गए। 


READ MORE : आंखों देखे चोर को भी नहीं पहचान रही पुलिस : आखिर क्या हो गया ऐसा.... जानने के लिए पढ़े 


भटक रहे लोग, जवाब देने वाला नहीं 

आठ चिटफंड कंपनियों में निवेश करने वाले लोग इधर से उधर भटक रहे हैं। चिटफंड कंपनियों पर ताले लटके हैं और उसे चलाने वाले कार्मिक व एजेंटों के मोबाइल भी स्वीच ऑफ है। इसके चलते लोग भीम के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें कोई जवाब तक देने वाला कोई नहीं। घबराए लोग अब थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराने लगे हैं। 


READ MORE : ऊंचे ख्वाब दिखा नाबालिग को उठा ले गया दो बच्चों का पिता, फिर जो हुआ, उससे सदमें में आ गई मां 


संचालकों के फरार होने की सूचना पर मिलने पर निवेशक कंपनियों के कार्यालय पर पहुंचना शुरू हो गए हैं। निवेशकों में मेहनत की कमाई पैसा डूबने की आशंका से घबराहट शुरू हो गई है। 


READ MORE : सैकड़ों सरकारी कार्मिक-अफसरों को हटाएंगी सरकार : विभागाध्यक्षों ने शुरू कर दिया स्क्रीनिंग का कार्य शुरू 


दे रहे थे प्रलोभन 

चिटफंड कंपनियों द्वारा निवेशकों के लिए अलग अलग स्कीमें चला रखी थी। तीन कंपनियां ऐसी है जो महीने में 15 सौ रुपए जमा कराने और इनाम पाने की स्कीम चला रही थी। इनमें करीब 10 हजार 5 सौ सदस्य बने हुए है। इसी प्रकार दो हजार रुपए प्रतिमाह निवेश कराने वाली तीन कंपनियां चल रही है। इनमें करीब ढाई हजार सदस्य बने हुए हैं। ढाई हजार रुपए प्रतिमाह निवेश कराने वाली दो कम्पनियां चल रही है। इनमें करीब तीन हजार सदस्य बने हुए है। निवेशकों की संख्या के अनुसार ये सभी कंपनियां सालभर मेें 21 हजार निवेशकों से कुल 46 करोड़ रुपए ले चुके हैं। 


READ MORE : रात्रि गश्त में पुलिस पर उठी उंगली, थानेदार की उड़ गई नींद, रातभर जागना पड़ा


इस तरह से फंसाया लोगों को 

चिटफंड कंपनियों में निवेशकों को चैन वाली स्कीम के तहत आगे से आगे सदस्य बनाने होते है। यह चिटफंड कम्पनियां 12 महीने की योजना चलाकर मासिक किश्त के तौर लोगों से पैसे निवेश कराते हैं। ढाई हजार सदस्य बनने पर ढाई हजार इनाम भी रखते है। संचालक आकर्षक ब्रोशर छपवा कर एजेंटों के माध्यम से निवेशकों को इनाम में लक्जरी कार, बाइक, फ्रीज, कूलर, वाशिंग मशीन, एलईडी, होम थियेटर जैसे कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का प्रलोभन देते हैं। इसके अलावा लकी ड्रॉ लकी विजेता जैसी स्कीमें भी चलाते हैं। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood