Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

CHILD'S BRAVERY : बच्चे की बहादुरी के हुनर ने मौत को दे दी मात : डेढ़ घंटे तक कुएं में लटका रहा

Patrika news network Posted: 2017-07-16 13:04:30 IST Updated: 2017-07-16 13:06:05 IST
CHILD'S BRAVERY : बच्चे की बहादुरी के हुनर ने मौत को दे दी मात : डेढ़ घंटे तक कुएं में लटका रहा
  • 50 फीट गहरे कुएं में गिरने के बाद डेढ़ घंटे तक पत्थर पकड़ लटका रहा। चीखने-चिल्लाने की आवाज सुन कर दौड़े लोगों ने रेस्क्यू कर उसे बाहर निकाल दिया।

राजसमंद. खाती खेड़ा (फियावड़ी) में रविवार सुबह साढ़े 9 बजे एक बच्चा बिना मुंडेर के कुएं में गिर गया। बाद में ग्रामीणों ने करीब डेढ़ घंटे बाद रेस्क्यू कर सुरक्षित बाहर निकाल लिया। बच्चे ने बहादुरी से तैरकर कुएं के अंदर पत्थर पकड़ कर लटका रहा और मौत को मात देकर खुद की जान बचा ली। 

READ MORE : बारिश के साथ तीन जगह आकाशीय बिजली गिरने से 1 महिला की मौत, 2 घायल



खाती खेड़ा (फियावड़ी) घनश्याम (8) पुत्र नानेराम गमेती सुबह साढ़े नौ बजे घर से खेत पर उसकी मां के लिए खाने का टिफिन लेकर जा रहा था। तभी सडक़ किनारे बिना मुंडेर के कुएं में झांकने लगा, जिससे पैर फिसलने से कुएं में गिर पड़ा। हालांकि उसे पानी में तैरने का अभ्यास था, जिससे 50 फीट गहरे कुएं में गिरने के बाद भी तैरकर बिना सीढिय़ों के कुएं के अंदर किनारे पर पत्थर पकड़ कर लटकता रहा। तभी वह बचाओ बचाओ कर खूब चिखा, जिसकी आवाज सुनकर पास ही खेत में कार्य कर रही गटु बाई सुथार दौडक़र पहुंची, तो कुएं में बच्चा लटकते मिला। देखते ही देखते बड़ी तादाद में मौके पर लोग एकत्रित हो गए। फिर रामलाल पुत्र कन्ना भील ने कुएं में उतरा और रस्सी के सहारे बच्चे को पकडक़र सुरक्षित बाहर निकाल लिया। 


READ MORE : बेटी का इलाज कराने अस्पताल गए वकील की जेब से पार हो गए 30 हजार


राजस्थान पत्रिका ने पहले ही चेताया 

सडक़ किनारे बिना मुंडेर के कुएं से हादसे के खतरे को लेकर राजस्थान पत्रिका ने गत दिनों खबर प्रकाशित की, लेकिन फियावड़ी ग्राम पंचायत से लेकर प्रशासन तक ने कोई ध्यान नहीं दिया। इसी के चलते रविवार को यह हादसा हो गया, मगर गनीमत रही कि बच्चे को तैरना आता था, जिसकी वजह से बड़ा हादसा टल गया। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood