Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

गुजरात की तर्ज़ पर राजस्थान में भी कार-छोटे वाहन हो सकते हैं टोल फ्री, विधानसभा में सरकार ने दिए संकेत

Patrika news network Posted: 2017-03-16 15:34:26 IST Updated: 2017-03-16 15:42:40 IST
गुजरात की तर्ज़ पर राजस्थान में भी कार-छोटे वाहन हो सकते हैं टोल फ्री, विधानसभा में सरकार ने दिए संकेत
  • सार्वजनिक निर्माण मंत्री युनूस खान ने कहा कि टोल नाकों पर घंटो तक वाहनों के इंधन की बर्बादी को देखते हुए केन्द्र सरकार से इस बारे में बातचीत चल रही है।

जयपुर।

गुजरात की तर्ज़ पर राजस्थान में भी कार और छोटे वाहनों को टोल फ्री किया जाए या नहीं, ये सवाल गुरुवार को राज्य विधानसभा में उठा। सत्ता पक्ष के ही एक विधायक ने सवाल उठाते हुए राज्य के टोल नाकों पर कार और अन्य छोटे वाहनों को टोल मुक्त करने की सरकार की मंशा को जानना चाहा।  



इस सवाल के जवाब में सार्वजनिक निर्माण मंत्री युनूस खान ने कहा कि टोल नाकों पर घंटो तक वाहनों के इंधन की बर्बादी को देखते हुए केन्द्र सरकार से इस बारे में बातचीत चल रही है। 



उन्होंने सदन को बताया कि इस बारे में केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितीन गडकरी इस समस्या से वाकिफ है और जल्द ही इसका समाधान कर लिया जाएगा।


आखिरकार आमजन के लिए खुला कुलिश स्मृति वन, लोगों में अब भी पैंथर का खौफ



गौरतलब है कि गुजरात में विभिन्न संगठनों और राजनितिक दलों की मांग पर वहां कि राज्य सरकार ने 15 अगस्त 2016 से कारों और छोटे वाहनों को टोल फ्री कर दिया था।     

टोल कर्मियों के लिए लागू होगा ड्रेस कोड  

उधर, राजस्थान में टोल नाकों पर कार्यरत कर्मचारियों के लिए ड्रेस कोड लागू किया जाएगा। प्रदेश के सार्वजिनक निर्माण मंत्री युनूस खान ने ये जानकारी एक प्रश्न के जवाब में दी। 


प्रश्नकाल में विधायक मास्टर मामन सिंह यादव के प्रश्न का जवाब देते हुए खान ने कहा कि टोल नाकों पर टोलकर्मियो द्वारा जनप्रतिनिधियों के साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार करने की शिकायतों को सरकार गंभीरता से लेगी और उनके लिए शीघ्र ही ड्रेस कोड लागू किया जाएगा। 


सबसे जरूरी खबर: बीसलपुर प्रोजेक्ट के चलते 15 लाख लोगों तक अब नहीं पहुंचेगा पानी



सदस्य द्वारा टोल नाकों पर टोलकर्मियों से आए दिन होने वाले झगडों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा गया कि 20 किमी क्षेत्र में स्थित इन नाकों पर 17 बार झगडे हो चुके है और कई फौजदारी मुकदमें दर्ज हुए है। ऐसे में टोलकर्मियों पर कार्यवाही की जानी जरूरी है। 


उन्होंने कहा कि अलवर भिवाडी राजमार्ग पर तीन टोल नाके है जिसमें से दो टोल नाके भिवाडी और तिजारा क्षेत्र में आते है और नियमों के तहत इन नाकों पर 20 किलामीटर की परिधि में आने वाले कृषि उत्पाद से भरी स्थानीय ट्रेक्टर, ट्रालियां और कृषि के लिए पंजीकृत वाहनों को टोल दरों से मुक्त रखा गया है। 


भाजपा के रामहेत यादव द्वारा टोल नाके का निर्माण पूरा नही होने पर भी टोल वसूली करने के पूरक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि 80 प्रतिशत तक निर्माण कार्य पूरा होने वाले नाकों पर टोल की वसूली की जा सकती है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood