Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

राजस्थान में गर्मी-उमस ने किया परेशान, एक-दो दिन आैर बने रहेंगे मौसम के तीखे तेवर, 20 तक पहुंचेगा मानसून

Patrika news network Posted: 2017-06-12 12:37:00 IST Updated: 2017-06-12 12:37:00 IST
राजस्थान में गर्मी-उमस ने किया परेशान, एक-दो दिन आैर बने रहेंगे मौसम के तीखे तेवर, 20 तक पहुंचेगा मानसून
  • बीते दिनों मानसून पूर्व बारिश के दौर ने प्रदेशवासियों को जहां झुलसाती गर्मी से राहत दिलाई वहीं अब बारिश का दौर कमजोर पडऩे से गर्मी के साथ उमस से लोग परेशान हैं।

जयपुर।

बीते दिनों मानसून पूर्व बारिश के दौर ने प्रदेशवासियों को जहां झुलसाती गर्मी से राहत दिलाई वहीं अब बारिश का दौर कमजोर पडऩे से गर्मी के साथ उमस से लोग परेशान हैं। प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में फिर से दिन का तापमान चालीस डिग्री व उससे ज्यादा पहुंचने की संभावना मौसम वैज्ञानिकों ने जताई है। 


ऐसे में माना जा रहा है कि अगले दो तीन दिन प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में मौसम शुष्क रहेगा वहीं इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने पर फिर से बारिश का दौर शुरू होने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पूर्वी इलाकों में सक्रिय रहा चक्रवाती परिसंचार तंत्र पूरब के राज्यों की ओर खिसक गया है वहीं पूर्वी राज्यों में सक्रिय मानसून के चलते प्रदेश के पूर्वी इलाकों में बारिश का दौर अगले चौबीस घंटे में शुरू होने की संभावना है।


बीते दिनों बीते चौबीस घंटे में बीकानेर और श्रीगंगानगर में छितराई बारिश का दौर रहा। गुलाबीनगर में बीते चौबीस घंटे में पारा दो डिग्री बढ़कर 25.7 डिग्री दर्ज हुआ। रात में पारा सामान्य से कम रहने के बावजूद रात में उमस का जोर रहा। आज शहर में सूर्योदय के बाद धूप की तपिश महसूस हुई वहीं दक्षिण पूर्वी हवा बहने से उमस ने भी तेवर दिखाए। सुबह नौ बजे दिन का तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। 




रविवार को शहर का अधिकतम तापमान जहां 39​ डिग्री रहा वहीं आज शहर का अधिकतम तापमान 40 डिग्री व उससे ज्यादा रहने की संभावना है। स्थानीय मौसम केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार शहर में आज छितराए बादलों की आवाजाही बने रहने व दिन में गर्मी के तेवर तीखे रहने की संभावना है।


बीस तक मानसून की एंट्री

दक्षिण पश्चिमी मानसून आगामी बीस जून तक प्रदेश की सीमा में एंट्री करेगा। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मानसून अगले चौबीस घंटे में मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा,​ त्रिपुरा के शेष भाग, असम, मेघालय, पचिम बंगाल, सिक्किम और ओडिशा में सक्रिय हो जाएगा। मानसून मुंबई के करीब पहुंच गया है और यहां से प्रदेश की सीमा तक पहुंचने में करीब आठ से दस दिन लगने की संभावना है। मानसून आगे बढऩे की रफ्तार के पूर्वानुमान के अनुसार जयपुर स्थित स्थानीय मौसम केंद्र ने बांसवाड़ा उदयपुर के रास्ते प्रदेश में मानसून की एंट्री आगामी 20 जून तक होने के संकेत दिए हैं।

rajasthanpatrika.com

Bollywood