Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

साथी को 'आनंदपाल' स्टाइल से छुड़वाने पहुंचे थे, लेकिन इस बार पुलिस ने नहीं खाई मात

Patrika news network Posted: 2017-03-21 07:52:49 IST Updated: 2017-03-21 07:52:49 IST
साथी को 'आनंदपाल' स्टाइल से छुड़वाने पहुंचे थे, लेकिन इस बार पुलिस ने नहीं खाई मात
  • लूट के आरोपित को छुड़ाने के लिए बदमाशों ने रोहट थाने पर किया हमला, प्रथम मंजिल पर खाना खा रहे पुलिसकर्मियों ने बरसाए पत्थर तो भागे, हाईवे पर अरटिया मोड पर एक कार को बदमाशों ने मारी टक्कर, पकड़े गए आरोपित, हादसे में आठ घायल

रोहट (पाली)। .

'आनंदपाल' स्टाइल से लूट के एक आरोपित को छुड़ाने के लिए बिना नम्बर की स्कोर्पिया लेकर आए पांच बदमाशों ने सोमवार रात करीब पौने 11 बजे रोहट थाने के बाहर बेरिकेट तोड़ा और फिर थाना परिसर में तेज गति से चार-पांच चक्कर लगाए। 


इस दौरान थाना परिसर में खड़े एक हैड कांस्टेबल व दो कांस्टेबलों ने भागकर जान बचाई। प्रथम तल पर खाना खा रहे थानाप्रभारी व अन्य पुलिसकर्मियों ने गाड़ी पर पत्थर फेंके तो बदमाशों ने डर कर थाने से बाहर गाड़ी दौड़ा दी।


पुलिस ने तत्काल हाईवे के दोनों तरफ गाडिय़ा खड़ी करवा दी तो बदमाश रोहट कस्बे की सर्विस सड़क से होते हुए तेज गति से पाली की तरफ भाग गए। इधर, रोहट पुलिस की सूचना पर ओम बन्ना पर ग्रामीण वृत्ताधिकारी नरेन्द्र शर्मा के नेतृत्व में नाकाबंदी कराई। जिसे देख बदमाशों ने वापस रोहट की तरफ गाड़ी दौड़ा दी। 


इस दौरान सामने से आ रही बीकानेर नम्बर की एक लग्जरी कार को टक्कर मार दी। हादसे में कार में सवार तीन जने तथा स्कोर्पियो में सवार पांचों बदमाश घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए बांगड़ अस्पताल भर्ती करवाया गया। बदमाशों की गाड़ी में पुलिस को हथियार भी मिले। सभी आरोपित नशे में बताए जा रहे हैं।


बबलू को छुड़ाने आए थे बदमाश

दो मार्च को रोहट थाना क्षेत्र से एक कार को लूट कर बदमाश फरार हो गए थे। मामले में पुलिस ने जोधपुर जिले के कादल (पीपाड़) निवासी बबलू उर्फ सुरेन्द्र पुत्र जयपाल जाट को गिरफ्तार कर लाई थी। पांचों बदमाश इसे छुड़ाने के लिए षड्यंत्र के तहत रोहट आए, लेकिन पुलिस की सतर्कता के चलते आरोपितों को भागने का कोई रास्ता नहीं मिला तो गलत दिशा में ही गाड़ी दौड़ा दी। इससे सामने से आ रही कार से टकरा गए। हादसे में दोनों वाहनों में सवार आठ जने घायल हो गए। एक घायल आरोपित को जोधपुर रेफर किया गया है।


बाल-बाल बचे तीन पुलिसकर्मी

बदमाश तेज गति से थाना परिसर में गाड़ी लेकर पहुंचे। इस दौरान थाना परिसर में हैड कांस्टेबल सत्यनारायण सिंह सहित दो कांस्टेबल खड़े थे। समय रहते उन्होंने भागकर जान बचाई नहीं तो बदमाश उनको टक्कर मार देते।


अस्पताल में लगा लोगों को जमावड़ा

बड़े हादसे की आशंका के चलते बांगड़ अस्पताल में कई समाजसेवी संगठनों एवं बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई। देर रात तक अस्पताल परिसर में लोगों का जमावड़ा लगा रहा। कोतवाल अमरसिंह रत्नू अस्पताल में जाप्ते के साथ तैनात रहे। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood