Breaking News
  • बूंदी: नमाना क्षेत्र में 10 साल के बच्चे की संदिग्ध अवस्था में मौत
  • हनुमानगढ:दो पेट्रोल पंप पर आयकर सर्वे, एक ने सरेंडर किए 10 लाख
  • जयपुर : गणगौर पर जयपुर शहर में आधा दिन का अवकाश, राज्य सरकार के सभी कार्यालय दोपहर डेढ़ बजे तक खुलेंगे
  • उदयपुर: फतहसागर में कूदी युवती का देर रात तक नहीं चला पता
  • राजस्थान विश्वविद्यालय की बीएससी द्वितीय वर्ष के फिजिकल केमेस्ट्री की निरस्त परीक्षा अब 30 मार्च को होगी
  • जयपुर : चित्रकूट कॉलोनी में जुआ खेलते 13 गिरफ्तार, 38970 रुपए और 8 वाहन जब्त
  • उदयपुर: फर्जी कंडक्टर को पकड़ा,अभिरक्षा में भेजा
  • जैसलमेर : पोकरण में आयकर विभाग की कार्रवाई, दस्तावेजों की जांच में जुटी है टीम
  • भरतपुर: कुबेर में मरीज को दिखाने अस्पताल आए व्यक्ति की बाइक हुई चोरी
  • भीलवाड़ा: करेड़ा कस्बे में फिर बढ़ाई धारा 144, अब 4 अप्रेल तक रहेगी लागू
  • नागौर: कांकरिया पम्प हाउस के विद्युत कनेक्शन में फॉल्ट, आधे शहर में 3 दिन से पेयजलापूर्ति बाधित
  • जोधपुर: मार्च लेखाबंदी के कारण आज से जीरा मंडी में नहीं होगा व्यापार
  • सीकर:खातीवास में पैंथर की सूचना से इलाके में दहशत
  • जयपुर-एसओजी ने गलता गेट स्थित गोदाम पर छापा, पकड़ा भारी मात्रा में विस्फोटक
  • जोधपुर- हाईकोर्ट ने किए तीस न्यायिक अधिकारियों के तबादले
  • बीकानेर- दो साल से कर रहे थे दुष्कर्म, निजी स्कूल के आठ शिक्षकों पर मामला दर्ज
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

ठंडे पकवान से आखिर क्यों खुश होते हैं भगवान

Patrika news network Posted: 2017-03-20 23:29:31 IST Updated: 2017-03-20 23:29:31 IST
ठंडे पकवान से आखिर क्यों खुश होते हैं भगवान
  • शहर में सोमवार को शीतलाष्टमी का त्यौहार शीतला माता की पूजा-अर्चना के साथ मनाया गया।

डीडवाना.

इस दौरान लोगों ने घरों में एक दिन पूर्व बना खाना खाकर परम्परा निभाई। इस मौके पर पुलिस थाना रोड स्थित शीतला माता मंदिर में भव्य मेला भरा गया। माता के दर्शन के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। शीतलाष्टमी के अवसर पर शीतला माता मंदिर में भरे मेले में माता के दर्शन के लिए सुबह से ही महिलाएं झुण्ड के रूप में घरों से निकली। इस मौके पर महिलाओं ने शीतला माता को एक दिन पूर्व बनाए गए ठण्डे खाने का भोग लगाया और सुख, शांति एवं समृद्धि की कामना की। इसी तरह पाटण डूंगरी स्थित शीतला माता मंदिर पर भी शीतला अष्टमी और बास्योड़ा का मेला भरा गया। इस मेले में आस-पास के गांवो से सैकड़ो महिला श्रद्धालु उमड़ पड़ी। महिलाओं ने पूजा-अर्चना कर माता को भोग लगाया और परिवार में सुख-समृद्धि व शीतलता की कामना की। शीतला सप्तमी का त्यौंहार ग्रामीण क्षेत्र में किसानों के लिए भी खास महत्व रखता है। इसके तहत सुबह किसान अपने-अपने खेतों में पहुंचे और खेती-किसानों अच्छी रहे, इसके लिए पारम्परिक हल का पूजन कर खेत में हल चलाने की शुरूआत की। इस दौरान किसानों ने हरियाली की पौध लगाकर खेत बुवाई का भी मुहूर्त किया। मान्यता है कि ऐसा करने से किसान के खेतों में फसलों की अच्छी पैदावार होती है।

मकराना . शीतलामाता गोशाला सेवा समिति के तत्वावधान मे सोमवार को गोशाला प्रांगण में आयोजित एक दिवसीय मेले में नागरिकों ने खाने-पीने एवं झूलों का आनंद लेने के साथ जमकर खरीदारी भी की। मेला आयोजन समिति के अध्यक्ष चन्द्रवीर सिंह चौहान के अनुसार इस बार मेले में काफी संख्या में दुकानें लगी। जिसमें अधिकांश दुकानें खाने-पीने एवं खिलौनों की थी। मेले में हजारों की संख्या में आए नागरिकों ने शीतला माता के दर्शन करने के बाद मेले का आनंद लिया। शहर में शीतलाष्टमी पर्व श्रद्घा के साथ मनाया गया। इस अवसर पर शहर के माताभर रोड स्थित शीतला माता मंदिर में श्रद्घालुओं ने माता को बासी पकवानों, राबड़ी आदि का भोग लगाया तथा घर में सुख शांति व परिजनों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की । 

नागौर डाक बंगले से सभापति को किया था फोन

नावां शहर. नावां उपखण्ड मुख्यालय सहित आस-पास के गांवों एवं कस्बों में सोमवार को शीतलाष्टमी पर श्रद्धालुओं ने आरोग्यता की देवी माता शीतला के छाछ राबड़ी व पुआ पापड़ी का भोग लगाकर पूजा अर्चना की। श्रद्धालु महिलाओं ने सोमवार की सुबह तीन बजे से ही- राजाजी ओ दरवाजो खोल थां पर महर कर ली माता शीतला व सेडल र दरबार म बाजा बाज रिया माता कुण थांरी जात सहित अनेक गीत गाते हुए महिलाओं ने शीतला माता के मंदिरों में जाकर सकरपारा, पुआ - पापड़ी व छाछ-राबड़ी सहित अन्य बासी व्यंजनों का भोग लगाकर सुख शांति व आरोग्यता की देवी से घर परिवार में खुशहाली की कामना की। कस्बे के गौरज चौक, पुरानी स्टेशन पर तथा नदी परिसर स्थित मां के मंदिरों में दिन भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। लोगों ने अपने घरों में बासी भोजन ही ग्रहण किया।  श्रद्धालु मंगलवार को बोदरी माता व शनिवार को अचपड़ा की देवी की पूजा कर घर परिवार में खुशहाली के साथ वंश वृद्धि की कामना करेंगे।

परबतसर. अलसुबह से ही शीतला माता मंदिरों पर महिलाओं की भारी भीड़ रही। छिपोलाई तालाब स्थित शीतला माता एवं बोदरी माता के मंदिरों के साथ ग्राम भकरी में पहाड़ी पर स्थित शीतला माता मंदिरों में महिलाओं ने पूजा अर्चना की तथा माता को ठंडे पकवानों का भोग लगाया। इसके बाद घरों में लोगों ने ठंडे पकवान खाए।

बोरावड़ . कस्बे सहित आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में शीतला माता मन्दिरों में सोमवार को श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। सुबह से ही शीतला माता मन्दिर में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। महिलाओं ने शीतला माता की पूजा-अर्चना की। कस्बे के नया बाजार स्थित शीतला माता मन्दिर, शिवनगर मार्ग, रेल्वे स्टेशन कॉलोनी आदि माताजी मन्दिरों में दिनभर माता के मन्दिर में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।

चौसला. कस्बे सहित आस-पास के ग्रामीण इलाकों में सोमवार को शीतलाष्टमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया। श्रद्धालुओं ने माता शीतला के ठण्डे पकवानों का भोग लगाकर पूजा अर्चना की सोमवार सुबह 5 बजे से ही भर कंडवारो लेर भवानी थारे मंदिरए पधारी...आदि गीत गाती हुई महिलाएं कुंभकार के घर व मंदिरों में पहुंच कर माता की पूजा अर्चना करके पूआ-पापड़ी व छाछ राबड़ी सहित अन्य बासी व्यंजनों का भोग लगाकर महिलाओं ने माता शीतला आरोग्यता की देवी होने के कारण चेचक, अचपड़ा, बोदरी जैसी बीमारीयों से परिवार की रक्षा कर सुख-समृद्धि के लिए मंगल कामना की।

बूड़सू. कस्बे मे शीतला अष्टमी के दौरान महिलाओ ने सुबह जल्दी ही शीतला माता मंदिर मे ठंडे पकवानो की धोक लगाई और महिलाओ ने सुख शान्ति की कामना की। इस दौरान घरो मे रविवार शाम को राबड़ी, रोटी, चावल, पुए, पापड़ी, गुलगुले, लापसी सहित विभिन्न प्रकार के पकवान बनाए।

शिम्भूपुरा. महिलाएं सुबह साज शृंगार कर मंदिर पहुंची जहां माता का पूजन कर भोग लगाया। महिलाओं ने पथवारी पूजन कर कथा सुनी व सुख समृद्धि की कामना की।

जिलिया. कस्बें में शीतलाष्टमी पारम्परिक रूप से मनाई गई। शीतला माता मन्दिरों में श्रद्धालुओं ने अपने परिवार के साथ स्वास्थ्य एवं सुख-समृद्धि की कामना को लेकर माता शीतला का पूजन किया। सुबह से शीतला मन्दिरों में श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू हो गया था। लोग पूजन में बासी भोजन का भोग माता को अर्पित करने पहुंचे।

मारोठ. महिलाएं अल सुबह ही सज संवर कर हाथों में पूजा के थालों व मंगल गीत गाते हुए मंदिरों में जाती दिखाई दी। जहां माता का पूजन कर दही राबड़ी के साथ ठण्डें पकवानों का भोग लगाया। बाद में महिलाओं ने पथवारी पूजन कर कथा सुनी व सुख समृद्धि की कामना की।

बेसरोली. शीतला अष्टमी  पर आज सोमवार को सवेरे जल्दी ही ग्रामीण महिलाएं अपने रंग बिरंगे परिधानो मे सज धज कर शीतला माता केमंदिरों में पकवानों का भोग लगाया।

चितावा. कस्बे सहित ग्रामीण अंचल में  शीतलाष्टमी का पर्व सोमवार को परम्परागत रूप से मनाया गया। महिलाएं अल सुबह मंगल गीत गाती हुई समुह में शीतला माता के मन्दिर पहुंची।

rajasthanpatrika.com

Bollywood