वीडियो : मर्जी से भागी महिलाएं, ‘बदनाम’ हुई पुलिस

Patrika news network Posted: 2017-03-19 11:34:21 IST Updated: 2017-03-19 11:34:21 IST
  • एसपी देशमुख ने कहा- नागौर विधानसभा क्षेत्र में अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस ने प्रयासों में नहीं रखी कमी

नागौर. नागौर की कानून व्यवस्था पर विधायक हबीबुर्रहमान द्वारा विधानसभा में सवाल खड़ा करने के बाद एसपी परिस देशमुख ने पिछले तीन महीनों का हिसाब-किताब पेश किया है, जिसमें उन्होंने बताया कि नागौर विधानसभा क्षेत्र में पिछले तीन महीनों में नकबजनी के ७ प्रकरण दर्ज किए गए, जिनमें से २ प्रकरणों में सफलता हासिल करते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर माल भी बरामद कर लिया है। इसी प्रकार गत तीन माह में चोरी के २५ प्रकरण दर्ज किए गए, जिनमें से २ प्रकरणों में कामयाबी हासिल कर माल बरामद कर आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया।  शेष प्रकरणों का खुलासा करने के लिए टीम का गठन किया गया है। 

read : वीडियो : बारिश के साथ गिरे ओले, खेतों में फसलें बर्बाद

सात मामलों में पांच मर्जी से गईंविधायक द्वारा उठाए गए महिलाओं व युवतियों को भगाने के मुद्दे पर एसपी देशमुख ने बताया कि महिलाओं के अपहरण के ५ मामले दर्ज किए गए, जिनमें से ४ महिलाओं को पुलिस ने दस्तयाब कर चुकी है। इनमें ३ महिलाओं ने अपनी मर्जी जाना बताया है। शनिवार को महिला थाना पुलिस ने दो भगवइया महिलाओं को दस्तयाब कर न्यायालय में पेश किया और दोनों ने ही न्यायालय में खुद की मर्जी से जाने की बात कही। महिला थाना पुलिस के अनुसार तेलीवाड़ा की नीलम तेली व बाहेतियों की गली निवासी दीपिका नाम की महिलाओं को न्यायालय में पेश किया, जहां उन्होंने अपनी मर्जी से दूसरे युवकों के साथ जाने की बात कही। दोनों की उनकी सहमति के बाद न्यायालय के आदेश पर परिजनों को सुपुर्द किया गया। 

महिला अपहरण के मामलों की स्थिति

पहला: २ फरवरी को आकाशवाणी के पीछे रहने वाले मोबीन पुत्र मोइनुद्दीन ने महिला के अपहरण का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने जांच शुरू कर परिजनों के बयान लिए तथा 20 फरवरी को भगवइया को दस्तयाब कर 164 के बयान करवाए। इसके बाद नामजद आरोपित प्रहलादराम से भी पूछताछ की गई, जिसमें सामने आया कि दोनों अपनी मर्जी से गए थे तथा बाद में पति-पत्नी की तरह रहने लगे। जांच के बाद पुलिस ने मामला झूठा मानते हुए 8 मार्च को एफआर लगा दी। 

दूसरा:  महिला के अपहरण का मामला १६ फरवरी को शहर के व्यापारियों का मोहल्ला निवासी गुलाम रब्बानी पुत्र शेर मोहम्मद ने दर्ज कराया। पुलिस ने मामला दर्ज कर एएसआई हनुमानसिंह को जांच सौंपी। जांच व परिजनों के बयान के बाद महिला व आरोपित की तलाश शुरू की। शनिवार को भगवइया स्वयं अपने पिता के साथ थाने में उपस्थित हुई। पुलिस द्वारा उसके बयान लिए गए तो उसने बताया कि उसकी मां की मौत के बाद पिता ने दूसरी शादी कर ली। सौतेली मां के साथ उसकी कहासुनी होने के कारण वह अपनी इच्छा से जोधपुर में बुआ के पास चली गई। उसने बताया कि उसे कोई भी नहीं भगाकर नहीं लेकर गया। पुलिस ने बताया कि भगवइया की उम्र १९ वर्ष है तथा उसने अब अपने परिजनों के साथ रहने की इच्छा जताई है।     

तीसरा : 18 फरवरी को मेजर करीम नगर निवासी अमीन खां पुत्र मुराद खां कायमखानी ने अपनी पत्नी को भगा ले जाने का मामला दर्ज कराया। अमीन ने बताया कि मजदूरी करता है, उसकी पत्नी को मालगांव निवासी मेघवाल जाति का युवक अपहरण कर ले गया। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की। परिवादी बयान लेकर आरोपित  व भगवइया के मोबाइल नम्बर की कॉल डिटेल निकाली गई। काफी मशक्कत के बाद भगवइया साहिदा को 15 मार्च को दस्तयाब कर 164 के बयान करवाए। बयानों में भगवइया ने बताया कि वह अपनी मर्जी से आरोपित के साथ गई तथा अब शादी कर ली है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

चौथा : शहर के रोडवेज डीपो के पीछे गिवारियों का मोहल्ला निवासी लिच्छाराम पुत्र चेतनराम प्रजापत ने गत वर्ष ८ दिसम्बर को अपनी पुत्री को भगाने का मामला दर्ज कराया। परिवादी ने भूराराम पुत्र धन्नाराम पर पुत्री को भगाने का आरोप लगाया। पुलिस ने जांच-पड़ताल के बाद गत १० मार्च को भगवइया व आरोपित को दस्तयाब कर लिया।  प्रकरण में अग्रिम अनुसंधान जारी है। 

पांचवा - सलेऊ हाल नागौर निवासी प्रतापसिंह पुत्र पृथ्वीसिंह ने गत २५ जनवरी को महिला थाने में रिपोर्ट देकर बताया कि उसकी पुत्री 24 जनवरी को स्कूल गई, लेकिन वापस नहीं लौटी। प्रतापसिंह ने बताया कि स्कूल में पूछताछ के बाद पता चला कि उसकी पुत्री को पृथ्वीसिंह पुत्र गोपालसिंह राजपूत शादी करने की नियत से बहला फुसलाकर भगा ले गया। पुलिस ने जांच के दौरान परिजनों के बयान लेकर दोनों की तलाश शुरू की। भगवइया व आरोपित की दस्तयाबी के लिए टीम का गठन किया गया है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood