Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सोशल मीडिया की अफवाहों पर लगाम की कवायद, एक दिन बढ़ाया इंटरनेट पर प्रतिबंध

Patrika news network Posted: 2017-07-13 15:20:21 IST Updated: 2017-07-13 15:20:21 IST
  • राजस्थान के नागौर जिले के सांवराद गांव में आनंदपाल एनकाउंटर की सीबीआई जांच की परिजनों की मांग के बीच 12 जुलाई को आयोजित श्रद्धांजलि सभा के चलते नागौर जिला मजिस्ट्रेट द्वारा इंटरनेट सेवाओं पर 10 से 12 जुलाई रात्रि 12 बजे तक लगाया गया प्रतिबंध गुरुवार रात 12 बजे तक बढ़ा दिया गया है।

Nagaur

नागौर. आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सांवराद में बुधवार को सभा के बाद पुलिस पर हमले के बाद हुई फायरिंग में पुलिसकर्मियों सहित कई लोग घायल हो गए थे। गौरतलब है कि राजपूत व रावणा राजपूत समाज के 12 जुलाई को महापड़ाव के मद्देनजर  जिला मजिस्ट्रेट कुमार पाल गौतम ने सोमवार को नागौर जिले में 10 जुलाई शाम 5 बजे से 12 जुलाई रात्रि 12 बजे तक नेट सेवाएं पूरी तरह बंद रखने के आदेश जारी किए थे।  

सांवराद में व्यवस्थाएं पटरी पर लाने की कवायद शुरू, टीम पहुंची सांवराद,स्थिति तनावपूर्ण

गौरतलब है कि इससे पहले भी जिला पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख की ओर से मांग किए जाने के बाद नागौर जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने  दो दिन तक जिले के एक दर्जन से ज्यादा थाना क्षेत्रों में नेट पर प्रतिबंध लगाया था। मालासर में एनकाउंटर में मारे गए 5 लाख के इनामी गैंगस्टर आनंदपाल का 18 दिन बाद भीअन्तिम संस्कार नहीं हो पायाहै। इससे संक्रमण फैलने की आशंका है।

पुलिस अफसरों पर हमला, हथियार लूटकर भागे उपद्रवी


राज्य मानवाधिकार आयोग के निर्देश जिला प्रशासन ने आनंदपाल के परिजनों को  नोटिस भेजा है। नोटिस में कहा गया है कि परिजन गुरुवार शाम ४ बजे तक शव का अंतिम संस्कार कर दें, नहीं तो मानवाधिकार आयोग के निर्देशानुसार पुलिस खुद शव का अंतिम संस्कार करवाएगी। 

Video : सांवराद रेलवे स्टेशन पर पुलिस व आरपीएफ पर हमला, 18 जने घायल

गौरतलब है कि एसओजी व पुलिस ने गैंगस्टर आनंदपाल का चुरू जिले के मालासर गांव में २४ जून की रात एनकाउंटर कर दिया था, लेकिन परिजन १८ दिन बाद भी एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग पर अड़े हैं। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood