Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

आवासीय कॉलोनियों में चल रही व्यावसायिक गतिविधियां

Patrika news network Posted: 2017-06-18 22:22:06 IST Updated: 2017-06-18 22:22:06 IST
आवासीय कॉलोनियों में चल रही व्यावसायिक गतिविधियां
  • शहर की कॉलोनियों में आवासीय भूखंडों पर भवन निर्माण कर व्यावसायिक गतिविधियां धड़ल्ले से चल रही है। इंदिरा कॉलोनी,व्यास कॉलोनी, हाउसिंग बोर्ड में खुल गया बाजार,भूमि रुपांतरण करवाए बिना बना ली दुकानें ।

Nagaur

नागौर. इंदिरा कॉलोनी, व्यास कॉलोनी,ताऊसर रोड हाउसिंग बोर्ड समेत अन्य कॉलोनियों में मास्टर प्लान को ताक पर रखते हुए बिना भू रूपांतरण कराए आवासीय भवनों में ही स्कूल, दुकान व क्लीनिक चल रहे हैं। शहर के सुनियोजित विकास के लिए नगर परिषद की ओर से कई कॉलोनियां काटकर आवासीय भूखंड उपलब्ध कराए गए। नियमानुसार इन कॉलोनियों में बने आवासीय भवनों का उपयोग केवल रहने के लिए किया जा सकता है। 

नियम विरुद्ध हो गया निर्माण 

नगर परिषद की ओर से पट्टा जारी करते समय यह शर्त रखी जाती है कि आवासीय भूखंड पर किसी भी प्रकार की वाणिज्यिक गतिविधियां संचालित नहीं करेंगे। मास्टर प्लान २०३१ की पालना तो दूर नगर परिषद अधिकारियों ने आवासीय भूखंडों पर व्यावसायिक निर्माण का सर्वे तक नहीं कराया। आवासीय भूखंडों पर दुकानें, शो रूम, अस्पताल, होटल, रेस्टोरेंट व कोचिंग संस्थान संचालित हो रहे हैं। आलम तो यह है कि कई शो रूम में तो सेटबैक तक नहीं छोड़ा गया। बड़े शौ रूम में पार्किंग की सुविधा तक नहीं है। 

ताक पर रखे सुरक्षा मापदंड 

शहर की कई कॉलोनियों में सुरक्षा मापदंडों का भी ध्यान नहीं रखा गया है। मकान मालिकों ने हींग लगे ना फिटकरी रंग आए चोखा की तर्ज पर काम करते हुए आवास के साथ-साथ मकान के आगे वाले भाग में दुकानें बनाकर किराये पर दे दी। कॉलोनियों में तो दुकानों के आगे सडक़ पर अतिक्रमण कर आगे सामान रखा गया है। नियमानुसार मकान का निर्माण करते समय ही सेटबैक छोडऩा जरुरी होता है, लेकिन कॉलोनियों में बने बड़े भवनों में आगे पीछे कहीं जगह नहीं छोड़ी गई है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood