Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बाल-बाल बचे थे नागौर एसपी व प्रशिक्षु आईपीएस

Patrika news network Posted: 2017-07-14 17:32:43 IST Updated: 2017-07-14 17:32:43 IST
  • नागौर जिले के सांवराद में राजपूत समाज की श्रद्धाजंलि सभा के बाद हुए हुड़दंग में नागौर एसपी परिस देशमुख व अजमेर में सहायक पुलिस अधीक्षक (दक्षिण) मोनिका सैन बाल-बाल बच गए। इन दोनों का वाहन भी हुड़दंगियों के बीच में फंस गया। भीड़ ने सैन के वाहन को पलटने की कोशिश की।

Nagaur

नागौर. गत बुधवार को सांवराद में श्रद्धाजंलि सभा के बाद भडक़े हुड़दंग में सहायक पुलिस अधीक्षक (दक्षिण) मोनिका सैन वाहन भी हुड़दंगियों में फंस गया। भीड़ ने सैन के वाहन को पलटने की कोशिश की। वह वाहन से उतरी तो हुड़दंगियों ने उनके साथ बदसलूकी की। सुरक्षाकर्मी ने बचाव किया तो उसके साथ मारपीट करते हुए गाड़ी पलट दी। 

तस्वीरों में देखिए, आनंदपाल का अंतिम संस्कार

सांवराद से लौटीं आईपीएस मोनिका सैन ने अजमेर पत्रिका से हुई बातचीत में बताया कि वह खुशकिस्मत रही कि हुड़दंगियों की भीड़ से बचकर आई। सैन ने बताया कि वह नागौर एसपी परिस देशमुख की गाड़ी के पीछे थीं। 

आखिर हो गया आनंदपाल का अंतिम संस्कार

हुड़दंग मचा रहे युवकों ने अचानक उनकी गाड़ी को घेर लिया और पलटने की कोशिश की तो वह नीचे उतर गई। किसी तरह बचकर दौड़ते हुए उन्होंने पास ही रिटायर्ड फौजी के मकान में शरण ली। उन्होंने बताया कि मारपीट में उन्हें और सुरक्षाकर्मी शंकरसिंह के चोटें आई। पुलिस जाब्ते के पहुंचने पर वह मकान से बाहर आईं। 

वीडियो: आनंदपाल के एनकाउंटर से लेकर अंतिम संस्कार तक पढि़ए एक रिपोर्ट..

उपद्रव मचा रहे युवकों ने धक्का मुक्की के दौरान गनमैन (सुरक्षाकर्मी) शंकर सिंह से पिस्टल व वायरलैस सेट छीन लिया। वहीं एसपी देशमुख के गनमैन से एकके-47 और वायलैस सेट छीन लिया। हुड़दंगियों ने नागौर एसपी के वाहन में आग लगा दी।

rajasthanpatrika.com

Bollywood