Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

पेशी पर जा रहे दो बंदी पुलिस को चकमा देकर हुए फरार

Patrika news network Posted: 2017-05-20 00:05:25 IST Updated: 2017-05-20 00:32:40 IST
पेशी पर जा रहे दो बंदी पुलिस को चकमा देकर हुए फरार
  • पंजाब पुलिस की लापरवाही उजागर, गुरुवार देर रात हुए फरार, नाकाबंदी के बावजूद पुलिस के हाथ खाली

डीडवाना.

 पंजाब के अमृतसर से चित्तौडग़ढ़ पर पेशी पर ले जाए जा रहे दो विचाराधीन बंदी गुरुवार को देर रात पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। आरोपितों को पंजाब के पुलिसकर्मी एक ढाबे पर खाना खिलाने के लिए रुके थे, इसी दौरान हाथ धोने के दौरान अंधेरे का फायदा उठाकर आरोपित भाग निकले। पुलिस पूरी रात आरोपितों को तलाश करती रही, लेकिन आरोपितों का कोई सुराग नहीं लगा। दोनों आरोपी हार्डकोर अपराधी बताए जा रहे है और नशे के कारोबार से जुड़े रहे है। इन आरोपितों पर हत्या का मामला भी दर्ज है।

पुलिस वृत्ताधिकारी जितेन्द्र सिंह चारण के अनुसार गुरुवार को पंजाब के अमृतसर से पंजाब पुलिस एनडीपीएस एक्ट के मामले में दो आरोपित गुरविंदर सिंह उर्फ गौरा पुत्र सुखविंदर सिंह और जसपाल सिंह पुत्र हरभजन सिंह निवासी खडूरसाब (तरनतारण) को तरनतारन से चित्तौडग़ढ़ पेशी के लिए ले जा रहे थे।

बालिका को बेचने आए थे आरोपित, अब सलाखों के पीछे काटेंगे दिन

इसी दौरान रात करीब 12.30 बजे पंजाब पुलिस के जवान खाना खाने के लिए डीडवाना के समीप पावटा गांव के एक ढाबे पर रुके। इस दौरान दोनों कैदियो को भी खाना खिलाया गया। इसके लिए जवानों ने दोनों कैदियों की हथकड़ी खोल दी। खाना खाने के बाद दोनों कैदी हाथ धोने चले गए। इसी दौरान अचानक अंधेरे का लाभ उठाकर दोनों कैदी फरार हो गए। इसके बाद पंजाब पुलिस के जवानों ने उनकी तलाश की, लेकिन अंधेरे के कारण कैदी पकड़ में नहीं आए। इसके बाद उन्होंने डीडवाना पुलिस को सूचना दी, जिस पर डीडवाना पुलिस ने भी मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का मौका मुआयना किया और नाकाबंदी करवाकर आरोपितों की तलाश की। बाद में पंजाब पुलिस ने डीडवाना थाने में आरोपितों की फरारी का मामला दर्ज करवा दिया।

इन मामलों में हैं वांछित

फरार हुए दोनों आरोपित गंभीर किस्म के आरोपित हैं। दोनों आरोपित नशे के कारोबार से जुड़े हुए हैं। उन पर चित्तौडग़ढ़ में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला विचाराधीन है। वहीं पंजाब में भी यह आरोपी हत्या के एक मामले में आरोपित है। इस मामले में पंजाब पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है।

पुलिसकर्मियों ने  पी शराब

जांच के दौरान यह बात भी सामने आई है कि आरोपितों को ले जा रहे चार पुलिसकर्मियों में से दो पुलिसकर्मियों ने ढाबे पर शराब पी थी। पुलिस द्वारा करवाई गई मेडिकल जांच में भी दो पुलिसकर्मियों के शराब पीने की पुष्टि हुई है।

rajasthanpatrika.com