अपनों का हक मार रहे 'पानी के दबंग'

Patrika news network Posted: 2017-03-16 10:33:08 IST Updated: 2017-03-16 10:38:03 IST
अपनों का हक मार रहे 'पानी के दबंग'
  • हेड क्षेत्र के कुछ 'पानी के दबंग' पम्प सेट व पाइप लाइन डालकर अपने खेतों को सींच रहे हैं, इससे इस पानी के दूसरे हकदार टेल क्षेत्र के किसान वंचित हो रहे हैं।

कोटा .

चम्बल की नहरों से पानी की लूट जारी


चम्बल की नहरों में जल प्रवाह शुरू हुए करीब छह माह हो चुके हैं, लेकिन अब तक सिंचित क्षेत्रों में टेल तक पानी नहीं पहुंचा। टेल क्षेत्र के किसान लगातार पानी नहीं मिलने व फसलें सूखने की शिकायतें कर रहे हैं। बावजूद इसके सीएडी प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है। विभाग की इसी अनदेखी से पानी की चौड़े-धाड़े चोरी-डकैती हो रही है। 


हेड क्षेत्र के कुछ 'पानी के दबंग' पम्प सेट व पाइप लाइन डालकर अपने खेतों को सींच रहे हैं, इससे इस पानी के दूसरे हकदार टेल क्षेत्र के किसान वंचित हो रहे हैं। कहीं-कहीं तो इस लूट की हद ही हो गई। ढलान वाले क्षेत्रों में सीधे पाइप लाइन डालकर चोरी जारी है। हेड क्षेत्र में पानी की चोरी के ऐसे कई उदाहरण देखने को मिले हैं। राजस्थान पत्रिका ने हेड क्षेत्र का दौरा कर ऐसे हालात देखे। पेश है उन पर एक रिपोर्ट...।


40 किमी में 10 जगह दिखी चोरी

पत्रिका टीम ने बूंदी रोड पर के.पाटन ब्रांच की बायीं मुख्य नहर से हालात देखना शुरू किया। यहां एक रिसोर्ट के पीछे ही नहर में पम्प सेट लगाकर पानी की चोरी की जा रही थी। इसके आगे बढऩे पर एक आश्रम के पास भी पाइप लाइनें डालकर अवैध रूप से  सीधे खेतों तक पानी पहुंचाया जा रहा था। टीम ने कुल 40 किमी सफर के दौरान करीब 10 जगह पानी की चोरी पकड़ी।


टैंकर सप्लायर्स भी पीछे नहीं

पानी की यह लूट सिर्फ खेत के मालिक ही नहीं कर रहे, बल्कि शहर में पानी सप्लाई करने वाले कुछ टैंकर मालिक भी कर रहे हैं। टैंकर सप्लायर्स मोटर लगाकर नहरों से पानी भर रहे हैं और इस पानी को 500 से 1000 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब से बेचकर चांदी कूट रहे हैं।

सफाई से चोरी

बूंदी रोड पर बायीं नहर के पानी को लूटने के लिए कुछ दबंगों ने अजब तरीका निकाल रखा है। उन्होंने सड़क को खोदकर अंडर ग्राउंड पाइप लाइन बिछा रखी हंै। ये पाइप लाइनें सीधे उनके खेतों को हरा-भरा कर रही हैं। उधर, दायीं नहर में कैथून क्षेत्र के अरनिया के पास भी कुछ लोगों ने सड़क को पाटकर अंडर ग्राउंड पाइप लाइन बिछा रखी है और इससे खेतों को सींच रहे हैं।

मौका दिखवाएंगे

नहरों के पानी की चोरी हो रही है तो अधिसाशी अभियंता को भेजकर मौका दिखवाएंगे। टैंकरों से पानी चोरी करने वालों को भी रोका जाएगा।

सुनील गालव, सभापति, चम्बल सिंचाई परियोजना समिति

rajasthanpatrika.com

Bollywood