Breaking News
  • जयपुर: एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने पकड़ा 90 किलो चंदन, एक ​महिला सहित 3 गिरफ्तार
  • जोधपुर: यूडी टैक्स जमा करने के विशेष अभियान में निगम को 76 लाख की आय
  • बीकानेर: एसपी मेडिकल काॅलेज में पीजी की 14 सीटें और बढ़ी
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • धौलपुर: जारोली गांव में जमीन विवाद के मामले में फायरिंग, 2 लोग घायल
  • डूंगरपुर: हाइवे पर कार गड्ढे में गिरी, 4 लोग घायल
  • करौली: मासलपुर कस ताली गांव में 11 केवी की लाइन टूटने से लगी आग, 3 खेतों में गेहूं की फसल जली
  • बांसवाड़ा: नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को दस साल कठोर कारावास की सजा
  • चूरू: सुजानगढ़ में रेलवे गेट के बीच फंसा ट्रक, ट्रक चालक गिरफ्तार और ट्रक जब्त
  • जयपुर: CCD में कॉकरोच का वीडियो बनाने वाले युवक पर स्टाफ से छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज
  • जैसलमेर: सदर पुलिस थाना ने कई साल से फरार स्थाई वारंटी को किया गिरफ्तार
  • पाली और जोधपुर जिले में केंद्रीय विद्यालय को मिली स्वीकृति
  • जयपुर: दौलतपुरा टोल प्लाजा पर 2 लाख 16 हजार रुपए के पुराने नोट पकड़े, 3 गिरफ्तार, कार जब्त
  • सवाईमाधोपुर:सिलेण्डर चोर गिरोह से 21 सिलेण्डर, 3-4 लाख का इलेक्ट्रॉनिक सामान बरामद
  • बांसवाडा: तलवार दिखाकर मोबाइल व पर्स लूटने के मामले में मुख्य आरो​पी सहित दो गिरफ्तार
  • अजमेर: स्मेक के साथ तस्कर मोहम्मद अली गिफ्तार, 600 ग्राम स्मेक की बरामद
  • सीकर: दो समुदाय के बीच पत्थरबाजी, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले
  • उदयपुर: केवड़ा की नाल के जंगल में लगी आग
  • उदयपुर: रूपसागर मेन रोड पर महिला की चेन झपटी
  • बूंदी: देर रात टनल के पास वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत
  • अजमेर: आईपीएस मोनिका सेन ने पुष्कर के एक होटल में दी दबिश, जुआ खेलते पकड़े गए करीब 10 युवक
  • बांसवाड़ा: पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा के पीए की बेटी के साथ चेन स्नेचिंग की वारदात का प्रयास
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

बारिश ने मचाई तबाही, फसलें हो गई बर्बाद

Patrika news network Posted: 2017-03-20 00:38:12 IST Updated: 2017-03-20 00:38:12 IST
बारिश ने मचाई तबाही, फसलें हो गई बर्बाद
  • मौसम ने किसानों के अरमानों पर फेर दिया पानी

चेचट. चेचट क्षेत्र में बारिश ये अफीम की फसलब को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है।  तेज हवा के साथ आई बरसात अफीम की डोडियां टूटकर खराब हो गई है। चीरे लगाने से डोडो पर उभरी अफीम को वर्षा ने धो डाला। जिससे किसानों को पूरा रकबा खराब होने की चिंता सता रही है। फसल को देखकर किसान खून के आंसू पीने को विवश है। 


इसके अलावा धनिये और चने की फसलें में काफी नुकसान हुआ है। किसानों ने बताया कि पहले जहां एक किलो अफ ीम निकलनी थी अब सौ दो ग्राम भी अफीम हाथ लगना मुश्किल हो गई है। तबाह हो गए हैं। 


पट्टों का डर सता रहा

किसानों को अब डर सता रहा है कि आगामी वर्ष में अफीम की खेती के पट्टे मिलेंगे या नहीं। क्योंकि पहले ही तीन साल बाद अफीम की खेती के पट्टे मिले है। क्षेत्र में बड़ोदिया कला, भोलू एकंवरपुरा, गुडाला, गुमानपुरा, खेडली, सांडियाखेड़ी, सालेड़ा कला आदि गावों में दो सौ ज्यादा अफीम के पट्टों से बुवाई की गई थी। किसान अब अफ ीम में नुकसान को लेकर नारकोटिक्स विभाग का दरवाजा खटखटाएंगे।


प्रकृति ने मार डाला

केबलनगर. मौसम के कहर ने किसानों को मार डाला है। किसानों की चौखट पर आने से पहले ही फसलें बर्बाद हो गई है। पंचायत डोल्या क्षेत्र के किशनपुरा ,चांदबावडी ,गिरधरपुरा केे खेतों में तैयार खडी फ सलें आडी पड गई । 


डोल्या के किसान रमेश सुथार ,चांदबावडी के नंदसिंह ,लक्ष्मीपुरा के हुकमा,किशोर भील, छोटू सिंह ,भवानीशंकर, नाथू सिंह , रामू बारवाल का कहना था कि बडी मुश्किलों से फ सल तैयार हुई थी, लेकिन बर्बाद हो गई है। सरपंच सीताराम चावडा ने खराबे का सर्वे करवाने की मांग की।


तबाही देखकर आ गए आंसू

अरण्डखेड़ा. बरसात से खेतों में कटी धनिये व लहसुन की फसल को व्यापक नुकसान हुआ है। भीगने के कारण धनिये की गुणवत्ता खराब हो गई है। काला पड़ जाएगा, इससे किसानों को उचित दाम नहीं मिलेंगे। लहसुन भी खरबा होने की आश्ंाक हे। दिनभर किसान फसलों को सूखाने में जुटे रहे।


लहसुन में भी नुकसान

पीपल्दाकलां. बारिश व तेज हवा से फ सलों को काफ ी नुकसान पहुंचा। किसान कटी फ सल में नुकसान से बचाने के लिए तिरपाल लेकर भागते नजर आए। तेज हवा के कारण कटी धनिये की फ सल मे काफी नुकसान हो गया। तेज हवाओं से खेतों में खड़ी धनिये व गैहूं की फ सल आड़ी हो गई। पीपल्दा, करवाड़, शहनावदा , डूंगरली, खेड़ली किशनपुरा, मरझाना आदि गांवों में किसानों की सरसों, गेहुं ,धनिये, चना, मेथी की फ सलों में नुकसान हुआ।


मोड़क स्टेशन. क्षेत्र में शनिवार रात हुई बरसात व तेज हवा से खेतों में खड़ी फसलें आड़ी पड़ गई। वहीं, धनियां का रंग बदल गया। जिससे ग्रामीणों को नुकसान की चिंता सताने लगी है। किसानों ने बताया कि 8 हजार के भाव से बिकने वाला घनिया अब 4 हजार का भी नहीं रहा। भीगने से धनिया का रंग बदल गया। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood