Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

कचरा जलने से उठ रहा जहरीला धुआं

Patrika news network Posted: 2017-04-14 02:20:47 IST Updated: 2017-04-14 02:20:47 IST
कचरा जलने से उठ रहा जहरीला धुआं
  • पिछले कई दिनों से रोजाना ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में फैले कचरे में आग लग रही है। इससे लगातार जहरीला धुआं उठ रहा है।

कोटा. शहर से प्रतिदिन निकलने वाले कचरे को नगर निगम की ओर से नांता स्थित ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में डाला जाता है। शहर का एक मात्र कचरा डंपिंग स्टेशन होने के यहां हर तरफ कचरे के ढेर लगे हैं, लेकिन अब यह कचरा लोगों के स्वास्थ्य पर संकट बनता जा रहा है। 


पिछले कई दिनों से रोजाना ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में फैले कचरे में आग लग रही है। इससे लगातार जहरीला धुआं उठ रहा है। 


कचरे के धुएं व बदबू से यहां से गुजरने वालों का तो बुरा हाल है ही, पास ही स्थित रीको पर्यावरण इण्डस्ट्रियल एरिया के दर्जनों ब्रिक्स व टाइल्स उद्योगों में काम कर रहे कर्मचारियों व श्रमिकों को धुएं व बदबू के बीच ही काम करना पड़ रहा है। इससे उनके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। पेट पालने की मजबूरी के चलते श्रमिक सब कुछ सह रहे हैं। 


पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने तथा लोगों के स्वास्थ्य को देखते हुए उच्चतम न्यायालय की ओर से जारी निर्देशों के तहत नगर निगम कचरे का परिवहन तक ढक कर करने के लिए पाबंद है, लेकिन यहां तो कचरे में आग से उठ रहा धुआं पर्यावरण को नुकसान पहुंचा ही रहा है, लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी घातक बना हुआ है।


कौन लगाता है कचरे में आग

ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में कचरे में आग कौन लगाता है, यह भी एक पहेली है। यहां कार्यरत लिपिक राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में कोई भी कचरे को आग नहीं लगाता। 


यह समस्या शहर में ट्रेंचिंग प्वाइंट्स पर लोगों की ओर से आग लगाए जाने के कारण है। कचरा प्वाइंट से सुलगते हुए कचरे को भी उठाकर लाना पड़ता है। 


उसे यहां खाली करने पर उसकी आग नहीं बुझती और यहां पहले से ही पड़े कचरे में भी आग लग जाती है, कचरा गीला होने के कारण जलता नहीं है, लेकिन धुआं उठता रहता है। इस बारे में निगम के अग्निशमन विभाग को भी आग बुझाने के लिए फोन करते हैं, लेकिन दमकल भी नहीं आती।


ट्रेंचिंग ग्राउण्ड में कचरा जलने से धुआं उठने का मामला अभी तक सामने नहीं आया, यदि एेसा हो रहा है तो इसे रोका जाएगा, जो भी उपाय जरूरी है, वह करेंगे।

डॉ. विक्रम जिंदल, आयुक्त नगर निगम कोटा

rajasthanpatrika.com

Bollywood