#बिजली_के_झटके: बिजली चोरों ने उड़ाई उपभोक्ताओं की नींद

Patrika news network Posted: 2017-05-16 19:38:07 IST Updated: 2017-05-16 19:38:07 IST
#बिजली_के_झटके: बिजली चोरों ने उड़ाई उपभोक्ताओं की नींद
  • बिजली चोर विद्युत वितरण व्यवस्था के साथ-साथ ईमानदार उपभोक्ताओं के लिए भी मुसीबत बन गए हैं। बिजली चुराने के लिए एलटी लाइनों पर आंकड़े डालने और उतारने के दौरान अक्सर फॉल्ट हो जाता है, लेकिन पिछले सात महीने से इन्हें पकड़ने की कोशिश तक नहीं की गई है। जिसका खामियाजा ईमानदार उपभोक्ताओं को उठाना पड़ता है।

कोटा.

बिजली चोरों ने ईमानदार बिजली उपभोक्ताओं की भी नींद उड़ा रखी है। शहर में हो रहे 70 फीसदी फॉल्ट की वजह बिजली चोरी है, लेकिन इन्हें रोकने के लिए पिछले सात महीने से वितरण कंपनी सीईएससी ने कोई कार्रवाई नहीं की है। 





बिजली चोर देर शाम विद्युत लाइनों पर आंकड़े डालते है और सुबह जल्दी उतार लेते हैं। एलटी लाइन के तारों पर आंकड़े डालते समय और सुबह उतारते समय तारों के हिलने से लाइनें फाल्ट हो रही है। शहर में एेसी कई बस्तियां है जहां धड़ल्ले से बिजली चोरी हो रही है। साजीदेहड़ा बस्ती, घोड़ा बस्ती, अनंतपुरा तालाब गांव बस्ती, उडि़या बस्ती, बालिता रोड बापू बस्ती समेत करीब एक दर्जन बस्तियों में तो दिन-रात खुले आम लाइनों पर आंकड़े डालकर बिजली चोरी की जा रही है।



Read More: #बिजली_के_झटके: कभी भी गुल हो जाती है बिजली


सीईएससी ने नहीं की कार्रवाई

जयपुर डिस्कॉम की ओर से कोटा शहर की बिजली व्यवस्था करीब सात महीने पहले फ्रैंचाइजी कंपनी सीईएससी को सौंप दी गई। इसके बाद विद्युत व्यवस्था बनाए रखने के साथ-साथ बिजली चोरी की रोकथाम की जिम्मेदारी भी सीईएससी के हाथों में आ गई। डिस्कॉम को बिजली चोरी पकडऩे का कानूनी अधिकार है, लेकिन शुरुआती चार महीनों में यह अधिकार सीईएससी को हस्तांतरित नहीं हो पाया। तीन महीने पहले जब आरईआरसी ने विद्युत अधिनियम के तहत बिजली चोरी की धरपकड़, जुर्माना लगाने व संबंधित लोगों के खिलाफ एफआईआर का अधिकार भी सीईएससी को दे दिया। बावजूद इसके कंपनी बिजली चोरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू नहीं कर सकी है। 



Read More: #बिजली_के_झटके: हांफ रहा विद्युत तंत्र, ओवरलोड लाइनें


रात को लाइनों पर बढ़ रहा लोड

शहर के सभी हिस्सों में ट्रांसफार्मर की क्षमता, उस ट्रांसफार्मर की सप्लाई से जुड़े घरों के स्वीकृत लोड के आधार पर तय की जाती है। आंकड़े डालने के बाद बिजली का खर्च नहीं आने के कारण लोग घरों में जमकर बिजली का उपभोग करते हैं। इससे लाइनों पर तो लोड बढ़ ही रहा है, ट्रांसफार्मर जलने की आशंका भी बनी रहती है। रात में बिजली गुल हो जाने से लोगों को भारी परेशानी हो रही है।

rajasthanpatrika.com

Bollywood