भाविश की दुल्हनियां कैसे जाए ससुराल

Patrika news network Posted: 2017-05-19 07:16:02 IST Updated: 2017-05-19 07:16:02 IST
भाविश की दुल्हनियां कैसे जाए ससुराल
  • एनआरआई भाविश कोटा की डॉ. रूपल से शादी तो कर ली, लेकिन अब उनकी विदाई कराकर अपने घर नहीं ले जा पा रहे हैं। भाविश की राह का रोड़ा बना है कोटा का नगर निगम, जो दोनों की शादी का प्रमाण पत्र ही जारी नहीं कर रहा। भाविश अपनी दुल्हनिया को घर ले जाने के लिए अब दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं।

कोटा.

एक एनआरआई को  विवाह के बाद अपनी पत्नी को अपने घर ले जाने का सपना नगर निगम ने तोड़ रखा है। करीब एक महीने पहले आवेदन करने के बाद भी भाविश व डॉ. रूपल का मैरीज सर्टिफिकेट निगम की ओर से नहीं बना। इसके चलते भाविश, रुपल को लेकर अमरीका के बर्जिनिया स्थित अपने घर नहीं ले जा पा रहा।

बुधवार को दम्पती ने पार्षद बृजेश शर्मा से मदद का आग्रह किया। उनके प्रयास के बाद भी मैरीज सर्टिफिकेट नहीं बन सका। निगम इस मामले को विशेष विवाह पंजीयन 1954 के तहत मानकर अपने यहां से सर्टिफिकेट जारी करने से इंकार कर रहा है। निगम प्रशासन का कहना है कि एेसे मामले जिन में दूल्हा या दुल्हन में से कोई भी एक विदेशी नागरिक है, मैरीज सर्टिफिकेट जारी करने का अधिकार जिला कलक्टर को होता है। 

Read More: बंसल क्लासेज का एफबी पेज हैक


पार्षद ने बताया कि डॉ. रुपल बल्लभबाड़ी निवासी है। उनका विवाह 17 फरवरी 2017 को एनआरआई भाविश से हुआ। विवाह के कुछ समय बाद ही दोनों ने मैरीज सर्टिफिकेट के लिए निगम में आवेदन कर दिया। करीब एक महीने से तो निगम प्रशासन उन्हें टालता रहा। बुधवार को वे दोनों को लेकर निगम आयुक्त के पास पहुंचे। उन्होंने भाविश के विदेशी नागरिक होने के कारण सर्टिफिकेट जारी करने का अधिकार जिला कलक्टर को ही होने की बात कही। 



Read More: जायका: 'कोटा कचौरी' की दीवानी है दुनिया


इसके बाद दम्पती जिला कलक्टर कार्यालय पहुंचे। वहां उन्हें जानकारी दी गई कि दोनों की शादी माता-पिता की सहमति से हुई है तो एेसे मामले में भले ही एक पक्ष विदेशी हो, मैरीज सर्टिफिकेट निगम की ओर से ही जारी किया जाएगा। अब नवदम्पति परेशान है। मैरीज सर्टिफिकेट के साथ आगामी रविवार को उन्हें विदेश मंत्रालय में हाजिर होना है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood