Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

सेहत से खिलवाड़ : सावधान! सेहत पर भारी जहरीली सब्जियां और फल

Patrika news network Posted: 2017-05-12 00:14:44 IST Updated: 2017-05-12 00:51:35 IST
  • अधिक मुनाफे के लिए छिड़क रहे कैमिकल और एसिड, चमक के लिए घातक रसायनों का स्प्रे

कोटा. सावधान! अपनी सेहत को अच्छा रखने के लिए जिन सब्जियों और फलों को आप बाजार से खरीदकर खा रहे हैं, उसमें 'जहर' है। जी, हां यह फल-सब्जियां सेहत बनाने की बजाए बिगाड़ रहे हैं। 


अधिक मुनाफे के चक्कर में फल-सब्जियों को समय से पहले ही बाजार में उपलब्ध करा दिया जाता है। इसके लिए फल व सब्जियों को प्राकृतिक रूप से नहीं पकने दिया जा रहा। उन्हें पकाने के लिए किसान व विक्रेता कैमिकलों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

हानिकारक रसायन से पकाए फल व सब्जियों का दुष्प्रभाव लोगों की सेहत पर पड़ रहा है। केला, अंगूर, पपीता, तरबूज ही नहीं बल्कि गोभी, टमाटर, भिंडी सहित अन्य सब्जियों को जल्दी पैदा करने के लिए भी कैमिकल का उपयोग हो रहा है।


'सफेद पुडि़या' का सच

फलों-सब्जियों को कैमिकल व एसिड से पकाने के सम्बंध में दुकानदारों से बात कि तो उनका कहना था की आम, अंगूर, पपीता सहित अन्य फलों की पेटियों में सफेद पुडि़या निकलती है। यह सब पुडि़या पहले से ही इन पेटियों के अंदर पड़ी मिलती है। हम लोग तो सिर्फ इन्हें खरीदकर बेचते हैं।


बीज के साथ डाल रहे एसिड

सूत्रों के अनुसार किसी भी सब्जियों को जल्दी अंकुरित करने के लिए 'ह्यूमिक एसिड' का उपयोग किया जाता है। इसे बीज के साथ ही डाल दिया जाता है। 



इसकी ज्यादा मात्रा शरीर के लिए हानिकारक है। वही कैलिशयम कार्बाइट से फलों को पकाना पूरी तरह से प्रतिबन्धित है, जाबजूद इसके फलों को एेसे एेसिडों से धड़ल्ले से पकाया जा रहा है। 


इसके शरीर में जाने से कई बीमारियां पैदा होती हैं। ककड़ी, खरबूजा व तरबूज जैसे गर्मी के फलों की बढ़वार के लिए ऑक्सीटॉसीन जैसे पदार्थों को काम में ले रहे हैं।

रसायनिक खाद का जरूरत से ज्यादा उपयोग

फलों व सब्जियों में बढ़वार के लिए तथा कीट-पतंगों से बचाव व पैदावार बढ़ाने के लिए किसान खतरनाक रसायनों का प्रयोग कर रहे हैं। इसमें आर्सेनिक डायल्ड्रिन, डीडीआई, डाइऑक्सिन का आमतौर पर प्रयोग किया जाता है। 


यह स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं। एेसे में जहरीले रसायनों के प्रयोग टमाटर, गोभी, गिलकी, लोकी आदि सब्जियों में चमक लाने के लिए स्प्रे करते हैं। वही रसायनिक खाद भी जरुरत से ज्यादा देते हैं।

यह कहना है चिकित्सक का

फलों-सब्जियों को पकाने के लिए जिन रसायनों का उपयोग किया जाता है, वह सेहत के लिए हानिकारक है। इससे शरीर में कई बीमारियां हो सकती है। खास कर लीवर-किडनी में इंफेक्शन हो सकता। रासायनिक फल-सब्जियों के ज्यादा मात्रा में सेवन के कैंसर जैसी बीमारी हो सकती है। पेट से सबंधित बीमारियां तो आम बात है।

डॉ. मुकेश दाधीच, प्रभारी, राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय, दादाबाड़ी

rajasthanpatrika.com

Bollywood