Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

चौड़ी होंगी सड़कें, नीलाम होंगी दुकाने

Patrika news network Posted: 2017-06-16 16:49:10 IST Updated: 2017-06-16 16:49:10 IST
चौड़ी होंगी सड़कें, नीलाम होंगी दुकाने
  • कोटा दशहरा मैदान में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रहे विकास कार्य में जब यह पता चला की कई जगह सड़क की चौड़ाई मात्र 15 फीट है तो निगम व कंपनी के अधिकारियों ने बैठक आयोजित कर निर्णय लिया की सड़के 22 फीट से कम चौड़ी नहीं होगी और झूला मार्केट की दुकानें नीलामी के माध्यम से ही आवंटित होंगी।

कोटा.

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत दशहरा मैदान में चल रहे विकास कार्य में कई जगह सड़क की चौड़ाई मात्र 15 फीट होने की जानकारी सामने आने के बाद नगर निगम प्रशासन, मेला समिति व दशहरा मेला व्यापार संघ सभी चिंतित हो गए। 

मेला समिति अध्यक्ष राम मोहन मित्रा की आपत्ति के बाद निर्माण कंपनी के अधिकारियों व निगम के अधिकारियों से पूछताछ शुरू हो गई। गुरुवार को महापौर महेश विजय, मेला समिति अध्यक्ष मित्रा, आयुक्त डॉ.विक्रम जिंदल व कॉन्ट्रेक्टर कंपनी के अधिकारियों की बैठक हुई। नक्शे व प्रोजेक्ट रिपोर्ट देखी तो पता चला कि कई सड़कें 15 फीट चौड़ाई की ही है। मित्रा ने इस पर आपत्ति जताई और सड़कें चौड़ी करवाने की मांग की। 


Read More: अरे यह क्या, नामांतरण का प्रावधान ही भूले अधिकारी, संकट मेंं पट्टा अभियान



महापौर ने मेला समिति अध्यक्ष मित्रा को आश्वस्त किया कि कोई भी सड़क 22 फीट से कम चौड़ाई की नहीं रखी जाएगी। आयुक्त व महापौर ने कंपनी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नक्शे में बदलाव कर सड़कों की चौड़ाई कम से कम 22 फीट रखी जाएं। इस बारे में तीन दिन में नया नक्शा तैयार कर दिखाएं। महापौर ने कहा कि इस बारे में शीघ्र ही सर्वसम्मति से निर्णय लेंगे। मेले में लोगों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं आए, इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा।



Read More: छत एक सुविधाएं अनेक, बस एक बार देखो... पसंद करो और ले जाओ



झूला मार्केट में नीलामी से दुकानें

मित्रा ने बताया कि महापौर व आयुक्त के साथ दुकानों के आवंटन के मामले में भी चर्चा हुई। इसमें तय हुआ कि झूला मार्केट की दुकानें नीलामी के माध्यम से ही आवंटित की जाएगी। इसके अलावा अन्य दुकानों को उन्हें ही आवंटित किया जाएगा, जो वर्षों से दशहरा मेले में दुकानें लगाते आ रहे हैं। दुकान जिसके नाम से आवंटित होगी, उसे ही कारोबार करना होगा। एेसा नहीं पाए जाने पर आवंटन निरस्त होगा, आवंटी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। मित्रा ने कहा कि दुकानों को कवर्ड करने के लिए विदेश से शीट मंगवाई जाएगी। शीट को आने में करीब तीन महीने लगेंगे। एेसे में इस वर्ष मेले में दुकानों पर फिलहाल तिरपाल ही लगवाया जाएगा।



Read More: किसान_आंदोलन: मांगों को लेकर 'तपे' किसान, दिखाई ताकत



दशहरा मेले के दुकानदारों ने दिया धरना

कोटा दशहरा मेले में सड़कों की चौड़ाई कम रखे जाने का मामला सामने आने के बाद दशहरा मेला व्यापार संघ के बैनर तले मेले में दुकानें लगाने वाले व्यापारी सुनील वैष्णव की अगुवाई में गुरुवार को महापौर से मिलने निगम कार्यालय पहुंचे। महापौर के कक्ष में नहीं होने पर दुकानदार वहीं धरना लगाकर बैठ गए। बाद में महापौर वहां पहुंचे तथा दुकानदारों की समस्याएं सुनी। 

सुनील वैष्णव ने महापौर को बताया कि दुकानदार आगामी मेले को लेकर अपनी तैयारी नहीं कर पा रहा, वे असमंजस स्थिति में है। अब तक दुकानें कैसे मिलेगी, कहां मिलेगी, कितनी दर पर मिलेगी, नीलामी होगी या आंवटन कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। सड़क 15 फीट की हुई तो कोई भी दुकानदार मेले में कारोबार नहीं कर पाएगा। महापौर ने आश्वस्त किया कि किसी के साथ भी अन्याय नहीं होगा। इसके बाद दुकानदार मेला समिति अध्यक्ष मित्रा से मिले। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood