Breaking News
  • जैसलमेर : पोकरण में विद्यालय के पास धूम्रपान की वस्तुएं बेचना पड़ा महंगा, दुकानदार गिरफ्तार
  • झुंझुनू: मंडावा में ट्रेन की चपेट में आने से व्यक्ति की मौत
  • अजमेर- केकड़ी में जेवर चमकाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह सक्रिय, ग्रामीणों की सजगता से एक आरोपी हत्थे चढ़ा
  • श्रीगंगानगर : सार्दुलशहर में महिला की घर में मौत, हत्या का संदेह, पुलिस ने शव अस्पताल पहुंचाया
  • भरतपुर : पुलिस ने एक व्यक्ति को गांजे के साथ पकड़ा, कब्जे से 440 ग्राम गांजा जब्त
  • बीकानेर : कार-बोलेरो की टक्कर में पांच घायल, सैरूणा के पास हुआ हादसा
  • बूंदी : डाबी क्षेत्र के नयागांव में विवाहिता की मौत, हाई वॉल्टेज से जला ट्रांसफार्मर
  • करौली: हिंडौन सिटी में यूनियन बैंक के शाखा प्रबंधक पर लूट के प्रयास में हमला
  • भीलवाड़ा : खेत पर जा रही छह साल की मासूम से दरिंदगी
  • बीकानेर : खुशियों संग हमसफर की शुरुआत, रात 9.25 बजे तिरुचिरापल्ली के लिए हुई रवाना
  • जयपुर : पार्टी बोलने नहीं दे रही, तो भाजपा विधायक तिवाड़ी ने निकाला नया तरीका
  • भीलवाड़ा : महिला के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में दो युवक गिरफ्तार, शाहपुरा पुलिस की कार्रवाई
  • नीमकाथाना (सीकर) : मकान की दीवार को लेकर दो परिवारों में झगड़ा, पांच घायल
  • नागौर : मनचलों को पकड़ने के लिए रात को सड़कों पर उतरी ट्रैफिक पुलिस
  • बीकानेर : सड़क हादसे में दो युवक गंभीर घायल, महाजन थाना क्षेत्र में हुआ हादसा
  • कोटा : विधायक चंद्रकांता ने पुलिस महानिरीक्षक को पत्र लिख मांगी सुरक्षा, विधानसभा सत्र में नहीं पहुंचीं
  • जयपुर : एसएमएस स्टेडियम में मारपीट, बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में घमासान
  • जैसलमेर : जैसाणे में पारा पहुंचा 35 डिग्री पार, चिलचिलाती धूप से सभी बेहाल
  • जयपुर : स्पा की आड़ में चल रहे देह व्यापार का पर्दाफाश, 5 युवतियों समेत 13 गिरफ्तार
  • जयपुर : 49 साल बाद न्याय... हाईकोर्ट ने सीकर कलेक्टर से मांगी जमीन के मुआवजे की जानकारी
  • जयपुर : सफाई को लेकर खींचतान, नगर निगम ने रामनिवास बाग की सफाई कराने से किया इनकार
  • उदयपुर : गृहमंत्री कटारिया के समधी सहित पांच होटल मालिकों को निगम ने दिए नोटिस
  • भरतपुरः शादी में जा रही कार पलटी, रूपवास बोकोली गांव के पास हुआ हादसा, कार में सवार सभी लोग सुरक्षित
  • जोधपुरः तीन साल से फरार स्थाई वारंटी श्रवण विश्नोई लोहावट में गिरफ्तार
  • जैसलमेर- मोहनगढ़ क्षेत्र में छाए बादल, बूंदाबांदी से बढ़ी किसानों की चिंता
  • जयपुरः रामगंज में दो बदमाशों ने पीएनबी के गार्ड को पीटा, बंदूक छीनने का किया प्रयास
  • जयपुर- बाइक सवार बदमाशों ने छीना छात्रा का पर्स, टोंक फाटक की घटना, बजाज नगर थाना पुलिस जुटी जांच में
  • हनुमानगढ़- केंद्रीय जल आयोग की बैठक कल दिल्ली में, जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता भी होंगे शामिल
  • श्रीगंगानगर- ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह से बादल छाए, कई जगहों पर बूंदाबांदी, फसलों को नुकसान की आशंका
  • हनुमानगढ़ः तीन माह बाद दो मार्च से फिर चलेगी अवध असम ट्रेन
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

एक दवा अंदर से, बाकी बाहर से लाओ...नि:शुल्क दवा योजना में सामान्य इंजेक्शन व एंटी बायोटिक का भी टोटा

Patrika news network Posted: 2016-12-01 12:53:11 IST Updated: 2016-12-01 12:53:11 IST
एक दवा अंदर से, बाकी बाहर से लाओ...नि:शुल्क दवा योजना में सामान्य इंजेक्शन व एंटी बायोटिक का भी टोटा
  • मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना के तहत 612 दवाएं मुहैया कराने का दावा किया जा रहा है, लेकिन कोटा मेडिकल कॉलेज के अस्पतालों में एंटीबायोटिक, बुखार, दर्द, श्वासरोग, एलर्जी से लेकर जीवनरक्षक दवाएं भी निजी या सहकारी मेडिकल स्टोर से खरीदनी पड़ रही है।

कोटा.

मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना के तहत 612 दवाएं मुहैया कराने का दावा किया जा रहा है, लेकिन कोटा मेडिकल कॉलेज के अस्पतालों में एंटीबायोटिक, बुखार, दर्द, श्वासरोग, एलर्जी से लेकर जीवनरक्षक दवाएं भी निजी या सहकारी मेडिकल स्टोर से खरीदनी पड़ रही है। अस्पतालों के सब ड्रग स्टोर में 300 ही दवाएं उपलब्ध हैं। इनमें भी सर्वाधिक उपयोग में आने वाली दवाएं की आपूर्ति करीब दो माह से नहीं हो रही है।


बच्चों का एक भी एंटीबायोटिक नहीं


नए अस्पताल में बच्चों के लिए एक भी एंटीबायोटिक उपलब्ध नहीं है। चोट या दुर्घटना में घायल होने पर टिटनेस जैसे सामान्य इंजेक्शन के लिए भी मरीज को अस्पताल के बाहर दौडऩा पड़ रहा है। यहीं हाल एमबीएस के भी है। यहां भी हर दूसरे पर्चे पर लिखी जाने वाली एंटी एलर्जिक टेबलेट सिट्राजिन, बुखार व दर्द की डायक्लोपैरा भी निजी स्टोर से खरीदनी पड़ रही है।

डेंगू मलेरिया की दवा का भी टोटा


तीनों अस्पतालों में भर्ती मरीजों के डेंगू व मलेरिया में लगने वाले आर्टी सुनेट इंजेक्शन दो माह से उपलब्ध नहीं हैं। दवाओं से होने वाली एसीडिटी को रोकने की दवा रेनेटिडिन और पेंटापेराजोल भी चार माह से मरीजों को नहीं मिल रही। साथ ही इसकी स्थानीय खरीद भी नहीं हो रही है। एंटीबायोटिक के साथ दी जाने वाली विटामिन बी कॉम्पलेक्स और अस्थि रोगियों ं को लिखी जाने वाली कैल्शियम टेबलेट की भी यही स्थिति है।


जीवनरक्षक दवाओं  की भी स्थिति खराब


अस्पतालों में एंटी रैबीज वैक्सीन पिछले दो सप्ताह से नहीं मिल रहे है। एक अन्य जीवन रक्षक व महंगी एट्रोपिन तो तीन माह से मरीजों को नहीं मिल रही है। 

एएनए हिट बंद होना सबसे बड़ी समस्या


नि:शुल्क दवा योजना का पूरा सिस्टम ऑनलाइन है, लेकिन मेडिकल कॉलेज के अस्पतालों में उपलब्ध दवाओं की ही एंट्री की जाती है, जबकि सभी दवाओं की एंट्री की जानी चाहिए, जो दवा उपलब्ध नहीं है, उनको एनए (नॉट एवेलेबल ) हिट कर दिया जाता है। ताकि शॉर्ट दवा की जानकारी उच्चाधिकारियों तक पहुंच सके, लेकिन कोटा में एेसा नहीं हो रहा है। एेसे में समय पर एनओसी नहीं मिल रही और स्थानीय स्तर पर खरीद प्रक्रिया में देरी से भी मरीजों को दवा नहीं मिल रही है।


फैक्ट फाइल

-612 सरकार की नि:शुल्क दवा सूची 

-416 मेडिकल कॉलेज के ड्रग वेयर हाउस में 

-320 दवाएं अस्पतालों के सब ड्रग स्टोर में 

-280 दवाओं की स्थिति डीडीसी काउंटरों पर

-5 हजार रोज आने वाले मरीज अस्पतालों में 

-28 डीडीसी काउंटर तीनों अस्पतालों में 

कमी है, एनओसी जारी कर दी

 दवाइयों की कमी हैं, इनके लिए अस्पतालों को एनओसी जारी कर दी है। ताकि अस्पताल स्थानीय खरीद कर ले। वहीं करीब 300 दवाओं की खरीद का अनुमोदन आरएमएससीएल को जयपुर भेजा है।-डॉ. अमित सारस्वत, प्रभारी, एमसीडीडब्ल्यू


एनए हिट शुरू करवा देंगे


दवाओं की कमी हो रही है तो दिखवाता हूं। एनए हिट को भी शुरू करवा देंगे।-ओपी कसेरा, एमडी, आरएमएससीएल, जयपुर


आगे से दवा नहीं आ रही

आगे से दवा नहीं आ रही है। एनओसी मिल गई है और स्थानीय खरीद में समस्या है तो दिखवाते हैं।-डॉ. पीके तिवारी, कार्यवाहक अधीक्षक, एमबीएस, कोटा


आर्डर किए हैं


दवाएं नहीं आ रही है। स्थानीय खरीद के ऑर्डर किए हैं। सप्लायर को एक माह का समय मिलता है। -डॉ. एसआर मीणा, अधीक्षक, नए अस्पताल 

rajasthanpatrika.com

Bollywood