Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

मेरी मौत के बाद किसी को परेशान न किया जाए...

Patrika news network Posted: 2017-04-16 09:45:21 IST Updated: 2017-04-16 09:45:21 IST
मेरी मौत के बाद किसी को परेशान न किया जाए...
  • गुमानपुरा थाना क्षेत्र स्थित फ्लाईओवर पर शुक्रवार को गलत दिशा से आकर मिनी बस से टकराकर मौत को गले लगाने वाले युवक के पिता की भी दो साल पहले हादसे में मौत हो चुकी है।

कोटा.

खुशी वाले परिवार में छाया मातम, मिनी बस से टकराकर खुदकुशी करने का मामला

गुमानपुरा थाना क्षेत्र स्थित फ्लाईओवर पर शुक्रवार को गलत दिशा से आकर मिनी बस से टकराकर मौत को गले लगाने वाले युवक के पिता की भी दो साल पहले हादसे में मौत हो चुकी है। 


प्रेमनगर तृतीय निवासी पवन मेहरा (19) ने प्रेम प्रसंग के चलते शुक्रवार शाम मिनी बस से टकराकर खुदकुशी कर ली थी। तीन भाई-बहनों में पवन सबसे छोटा था। उससे एक बहन व बड़ा भाई सौरभ है। सौरभ ने बताया कि उनके पिता सत्यनारायण की 2 मई 2015 को पलायथा के पास सड़क हादसे में मौत हो गई थी।


Read More:  उफ! प्रेमिका की मां ने पीटा, चुन ली खुद के लिए ऐसी दर्दनाक मौत

पवन कक्षा 12वीं का छात्र था। कोटड़ी में मौसी की लड़की की सगाई का कार्यक्रम था। सभी परिजन वहां गए हुए थे। पवन किसी काम के बहाने से वहां से गया था। वापस लौटते समय हादसे में उसकी मौत हो गई। सूचना मिलते ही परिवार में खुशी का माहौल मातम में बदल गया। सभी घटना स्थल पर पहुंचे। मां-बहन व अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया।


Read More: #TotalNoToChildMarriage बच्चों की शादी रोकने के लिए प्रशासन लगा रहा फेरे

गौरतलब है कि मृतक की जेब से पुलिस को सुसाइडल नोट मिला था। इसे उसने 14 अप्रेल को ही लिखा था। नोट में अपनी प्रेमिका को सम्बोधित करते हुए लिखा कि वह उससे बहुत प्यार करता है। प्रेमिका के परिजनों ने उससे मारपीट भी की, लेकिन इसका कोई मलाल नहीं। उसने लिखा कि मेरी मौत के बाद किसी को परेशान नहीं किया जाए।

मामला सुसाइड का ही है

अनुसंधान अधिकारी यातायात थाने के एएसआई मनमेश गोस्वामी ने बताया कि मृतक का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। उसकी जेब से मिले सुसाइडल नोट व गलत दिशा से आकर बस से टकराने से मामला सुसाइड का ही है, जांच जारी है।


Read More:  #प्यासा_अस्पताल: तड़पते मरीज, भटकते तीमारदार

अब तक खाना नहीं खाया

मिनी बस चालक वीर सावरकर नगर निवासी दिलीप कुमार ने बताया कि वह दस साल से चालक है। पहली बार एेसा हादसा हुआ है। बस सही दिशा से धीरे-धीरे लेकर जा रहा था। बस में 5 सवारी थी। अचानक बाइक सवार युवक तेजी से आया और बोनट से टकरा गया। यह देख उसके हाथ-पैर फूल गए। उसने बचाने का प्रयास किया, लेकिन एक तरफ बस के नीचे गिरने व दूसरी तरफ डिवाइडर क्रॉस करने से सवारियों की जान को खतरा था। इसलिए उसने ब्रेक लगा दिया और गाड़ी छोड़कर सीधे गुमानपुरा थाने चला गया। दिलीप ने बताया कि उसकी कोई गलती नहीं है। बावजूद उसे युवक की मौत का काफी पछतावा है। उसने हादसे के बाद से ही खाना नहीं खाया।

rajasthanpatrika.com

Bollywood