13 साल बाद मिली धोखाधड़ी की सजा

Patrika news network Posted: 2017-04-12 16:54:13 IST Updated: 2017-04-12 16:54:29 IST
13 साल बाद मिली धोखाधड़ी की सजा
  • गुमानपुरा थाना क्षेत्र स्थित डाकघर में एक व्यक्ति के खाते से फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी से रुपए निकालने के 13 साल पुराने मामले में अदालत ने बुधवार को महिला समेत 4 जनों को सजा से दंडित किया है।

कोटा.

गुमानपुरा थाना क्षेत्र स्थित डाकघर में एक व्यक्ति के खाते से फर्जी दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी से रुपए निकालने के 13 साल पुराने मामले में अदालत ने बुधवार को महिला समेत 4 जनों को सजा से दंडित किया है।

डाकघर के तत्कालीन वरिष्ठ अधीक्षक ने 20 अप्रेल 2004 को गुमनपुराथाने में रिपोर्ट दी थी। जिसमें कहा था कि छीतरलाल मित्तल ने नई धानमंडी स्थित डाकघर में पीपीएफ खाता खुलवाया था। जिसमें कर्मचारी जुगल किशोर ने मधु जैन, देवेन्द्र कुमार गोयल व शिवलाल वर्मा के साथ षड्यंत्र रचकर फर्जी दस्तावेज तैयार कर छीतरलाल के पीपीएफ खाते से 28 हजार रुपए निकाल लिए। 



Read More: मंदिर जा रही थी महिला, क्रेन की टक्कर से हुई मौत


इस मामले में 13 साल चली सुनवाई के बाद एसीजेएम क्रम 5 अदालत ने दोषी पाए जाने पर तिलक कॉलोनी निवासी जुगल किशोर शर्मा को 3 साल साधारण करावास व 3 हजार रुपए जुर्माने से दंडित किया है। जबकि विजयपाड़ा रामपुरा निवासी मधु जैन, सरायकायस्थान निवासी देवेन्द्र कुमार गोयल व इंद्र विहार निवासी शिवलाल वर्मा को एक-एक साल साधारण कारावास व 1-1 हजार रुपए जुर्माने से दंडित किया है। 

rajasthanpatrika.com

Bollywood